23.1 C
Delhi
बुधवार, दिसम्बर 7, 2022

आखिर कौन हैं Siddhu Moose Wala के हत्यारे Lawrence Bishnoi और Goldy Brar और क्या थी हत्या की वजह?

बीते रविवार को एक ऐसी घटना सामने आई जिसने सबको हिला कर रख दिया, खबर थी कि मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला अब नहीं रहे। बता दें कि उनकी सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस घटना को AK-47 गन से अंजाम दिया गया और सिद्धू मूसेवाला पर करीब 30 से 40 गोली चलाई गई।

अभी फैंस सिद्धू मूसेवाला की हत्या से उभरे भी नहीं थे कि उनकी मौत के 3 घंटे बाद एक ऐसी फेसबुक पोस्ट सामने आई जिसे देखने के बाद हर कोई चकित रह गया। दरअसल यह पोस्ट लॉरेंस बिश्नोई का खास गुर्गा बताए जाने वाले गोल्डी बराड़ ने की जिसमें उसने इस हत्या की पूरी जिम्मेदारी ले ली।

गोल्डी बराड़ को लेकर ऐसा कहा जा रहा है कि वह अभी कनाडा में है और गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई जेल में बंद है। इस पोस्ट के सामने आने के बाद अब हर कोई लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ के बारे में जानना चाहता है कि आखिर यह दोनों कौन है और कैसे इन्होंने जुर्म की दुनिया में कदम रखा। तो आइए आज आपको दोनों की पूरी जानकारी देते है।

आखिर कौन है गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई ?

गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद से अब फिर एक बार सुर्खियों में है। अगर बात करें गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई की तो पिछले साल ही दिल्‍ली पुलिस की एक स्‍पेशल सेल ने गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई के ऊपर महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून यानी कि MCOCA लगाया था।

यह गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई पर इंटरस्‍टेट सिंडिकेट चलाने को लेकर चलाया गया था। गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई को लेकर ऐसा कहा जाता है कि वह कभी छात्र नेता हुआ करता था और उसने अपनी पहली गैंग कॉलेज में ही बना ली थी।

अब तक गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई पर 25 संगीन मुकदमे दर्ज किए जा चुके है और इसकी गैंग में 600 से ज्यादा लोग शामिल है जो कि छह राज्‍यों में फैले हुए है। गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई पंजाब के फाजिल्का में ही पला-बढ़ा है और उसने चंडीगढ़ के डीएवी कॉलेज से जुर्म की दुनिया में कदम रखा।

गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई का सपना था कि वह डॉन बने इसके लिए उसने अपने कॉलेज में खिलाड़‍ियों से लेकर पुलिसवालों के बच्‍चे और स्‍थानीय छात्रों के साथ एक गैंग बनाई। इसके बाद गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई ने पहले अपना नेटवर्क पंजाब-हरियाणा और इसके बाद अन्य राज्यों तक फैलाया।

इसके बाद उस पर साल 2016 में एक कांग्रेस नेता की हत्या का भी आरोप लगा। जिसे उसने बाद में फेसबुक पर एक पोस्ट डालकर कबूल लिया। लेकिन इस घटना में उसे ज्यादा पहचान नहीं मिली। इसके बाद जब साल 2018 में दिल्‍ली पुलिस ने गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई और सम्पत नेहरा के खिलाफ चार्जशीट दायर की तब गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई को पहचान मिली।

बता दें कि सम्पत नेहरा वहीं व्यक्ति है जिसपर गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई के कहने पर बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को जान से मारने का आरोप था। लेकिन बाद में पुलिस ने सम्पत नेहरा को साल 2018 में बेंगुलुरु में पकड़ लिया था।

इसके बाद पूछताछ में सम्पत नेहरा ने खुलासा किया कि अगर वह पकड़ा नहीं जाता तो गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई के कहने पर वह सलमान खान को जान से मारने वाला था। उसने कहा कि गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई सलमान खान की हत्या काला हिरण के शिकार के मामले को लेकर करना चाहता था।

क्योंकि लॉरेंस, बिश्नोई समाज से आता है और विश्नोई समाज काले हिरण की पूजा करते है और सलमान खान पर आरोप था कि उन्होंने काले हिरण का शिकार किया है और वह सलमान खान की हत्या कर काले हिरण की हत्‍या का बदला लेना चाहता था।

इसके बाद साल 2020 में लॉरेंस बिश्नोई ने एक बड़ी छलांग लगाने की सोची और राष्‍ट्रीय स्‍तर पर अपनी पहचान बनाने के लिए सभी राज्‍यों के लोकल गैंगस्‍टर्स के साथ हाथ मिलाने का बड़ा प्‍लान बनाया।

इस दौरान उसका मकसद था कि वह पूरे उत्‍तर भारत में अंडरवर्ल्‍ड पर कंट्रोल कर लें। इसके लिए गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई ने गैंगस्‍टर काला जठेड़ी और नरेश सेठी से भी हाथ मिलाया। यह दोनों वहीं गैंगस्टर है जो कि मेक्सिको, इटली और थाईलैंड में बैठे अपने साथियों के साथ मिलकर रंगदारी, ड्रग्‍स तस्‍करी, जमीन कब्‍जा और हत्‍याओं को अंजाम देते है और यह बॉलिवुड सेलिब्रिटीज, पंजाबी सिंगर्स और ऐक्‍टर्स को अपना निशाना बनाते है।

गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई के लिए ऐसा भी कहा जाता है कि उसके संबंध कथित रूप से अंतरराष्‍ट्रीय ड्रग ट्रैफिकर अमनदीप मुल्‍तानी के साथ भी है। जो कि मेक्सिकन ड्रग कार्टेल्‍स से जुड़ा हुआ है। लेकिन अमनदीप मुल्‍तानी को साल 2022 के अप्रैल महिने में अमेरिकी एजेंसी के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है।

इसके अलावा गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई का दूसरा इंटरनैशनल कनेक्शन यूके में रहने वाले मॉन्‍टी के साथ भी है जो कि इटैलियन माफिया के साथ काम करता है।

आखिर कौन है गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई का खास गुर्गा गोल्डी बराड़ ?

आइए अब आपको गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्नोई के खास गुर्गे गोल्डी बराड़ की जानकारी देते है। गोल्डी बराड़ को सतिंदर सिंह के नाम से भी जाना जाता है और गोल्डी बराड़ गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का बहुत ही खास आदमी माना जाता है। सिद्धू मूसेवाला की हत्या के अलावा गोल्डी बराड़ के कई अन्य केसों में भी नाम शामिल बताए गए है।

सबसे पहले गोल्डी बराड़ पर एक अदालत ने युवा कांग्रेस नेता गुरलाल सिंह पहलवान की हत्‍या के मामले को लेकर ओपन-एंडेड गैर जमानती वारंट जारी कर दिया था। बता दें कि गुरलाल सिंह पहलवान पर 2 अज्ञात बदमाशों ने गोलियां चलाई थी जिसमें गुरलाल सिंह पहलवान की मौत हो गई थी।

इसके बाद गोल्‍डी बराड़ सुर्खियों में आया गुरुग्राम के रहने वाले परमजीत और सुरजीत नाम के दो भाइयों के एक डबल मर्डर केस के बाद। इस हत्या के बाद पुलिस ने इसी साल मार्च में काला जठेड़ी, लॉरेंस बिश्नोई और नरेश सेठी गैंग के दो शार्पशूटर्स को भी पकड़ा था।

बताया जाता है कि परमजीत और सुरजीत दोनों भाईयों के जेल में बंद गैंगस्‍टर कौशल के साथ संबंध हुआ करते थे और उनकी अजय जेलदार के साथ किसी चीज को लेकर रंजिश चल रही थी। जिसके बाद अजय जेलदार ने काला जठेड़ी, लॉरेंस बिश्नोई, नरेश सेठी और गोल्‍डी बराड़ की मदद लेकर उन दोनों भाईयों की हत्या करा दी।

ये भी पढ़े – Sidhu Moose Wala की जान को लंबे समय से था खतरा, कांग्रेस ने Aam Admi Party पर उठाए सवाल, जानें क्या है पूर मामला

ये भी पढ़े – जानिए आखिर लॉरेंस बिश्नोई ग्रुप में फेसबुक पर ऐसा क्या पोस्ट डाला जिसने सभी के रोंगटे खड़े कर दिए ?

ये भी पढ़े – पंजाब के मशहूर सिंगर सिद्धू मूसेवाला अब नहीं रहे, अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर की उनकी हत्या ?

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles