fbpx

अफगान विदेश मंत्री- अंतरराष्ट्रीय समुदाय को हमारे साथ सहयोग शुरू करने की है जरूरत

Must read

अफगानिस्तान के विदेश मंत्री (आमिर खान मुत्ताकी ) ने सोमवार को दुनिया से अच्छे संबंधों की बनाने की अपील की है। लेकिन सभी अफगान बच्चों को स्कूल जाने की अनुमति देने की अंतरराष्ट्रीय मांगों के बावजूद लड़कियों की शिक्षा पर नियम बनाने से परहेज किया है।
काबुल में तालिबान के कब्जे के लगभग दो महीने बाद, नए तालिबान प्रशासन ने अन्य देशों के साथ संबंध बनाने में मदद करने के लिए आने वाले आर्थिक संकट को दूर करने में मदद करने के लिए कहा है।
तालिबानी नेता आमिर खान मुत्ताकी ने एक कार्यक्रम में कहा, “अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को हमारे साथ अब सहयोग करना, शुरू करना चाहिए। “जिससे हम असुरक्षा को रोक सकेंगे और दुनिया के साथ सकारात्मक रूप से जुड़ सकेंगे।”
एक तरफ तालिबान ने अब तक लड़कियों को स्कूल में वापस जाने की अनुमति नहीं दी है, पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय समुदाय की प्रमुख मांगों थी कि केवल लड़कों के लिए छठी कक्षा से ऊपर के स्कूल फिर से खुलेंगे।
मुत्ताकी का कहना है कि तालिबान की इस्लामिक अमीरात सरकार सावधानी से आगे बढ़ रही है, जो कुछ हफ्तों से ही सत्ता में आयी है। उनकी सरकार उन सुधारों को पूरा नही कर सकती जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय समुदाय 20 वर्षों में भी नही कर पाया।
मुत्ताकी ने आगे कहा “उनके पास बहुत सारे वित्तीय संसाधन थे और उनके पास एक मजबूत अंतरराष्ट्रीय समर्थन भी था, लेकिन आप हमसे दो महीने में सभी सुधार करने के लिए कह रहे हैं? लड़कियों की शिक्षा के प्रति अपने नजरिये को लेकर नये प्रशासन को लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि तालिबान ने महिलाओं व लड़कियों के अधिकारों की गारंटी के वादे पूरे करने से मना कर दिया है। साथ ही महिलाओं को काम करने से रोक दिया है।
मुत्ताकी ने संयुक्त राज्य अमेरिका से देश के बाहर आयोजित अफगान केंद्रीय बैंक के 9 बिलियन डॉलर से अधिक के भंडार पर रोक लगाने की गुजारिश की है। उन्होनें आगे कहा है कि अगर धन जमा करना है तो सरकार के पास करों, सीमा शुल्क और कृषि से स्वयं का राजस्व बढता है।
वो आगे कहते है कि तालिबान बलों का देश पर पूरा नियंत्रण है जो इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों से खतरे को नियंत्रित नही कर सकते है। जिन्होंने हाल के हफ्तों में उत्तरी शहर में एक शिया मस्जिद पर बमबारी सहित कई घातक हमलों किये है।
उन्होंने आगे कहा कि, “दाएश मुद्दे को अब तक इस्लामिक अमीरात द्वारा बहुत अच्छी तरह से नियंत्रित किया गया है,” सरकार पर जो अंतरराष्ट्रीय दबाव बनाया जा रहा है वो इस्लामिक स्टेट के मनोबल बढाने में मदद कर रहा है। “दबाव के बजाय, दुनिया को हमारे साथ सहयोग करना चाहिए।”

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article