24.1 C
Delhi
मंगलवार, फ़रवरी 7, 2023

अगर पैर में आ गई है मोच तो कर लें ये घरेलु उपाय, चुटकियों में दूर होगा दर्द मिलेगा आराम ?

कई बार चलते वक्त अचानक हमारा पैर मुड़ जाता है या फिर कभी अगर हम गिर जाए तब भी हमारे पैर में काफी दर्द होता है और इसी की वजह से आती है मोच। वैसे तो मोच कोई खतरनाक समस्या नहीं है लेकिन अगर समय से इसका इलाज ना कराया जाए।

तो यह आपको आगे चलकर परेशानी दे सकती है। लेकिन यह मोच आती क्यों है अगर आपका भी जवाब यही है तो चलिए हम आपको बताते है। दरअसल हमारे शरीर में 206 हड्डियां होती है यह तो हम सभी जानते है लेकिन इन हड्डियों को जोड़े रखने का काम होता है टिश्यूज़ का।

जब हमारे शरीर में मौजूद टिश्यूज़ किसी वजह से डैमेज हो जाते है तो यह एक ऐसा असहनीय दर्द पैदा करते है। जिसका अनुभव हम सभी ने कभी ना कभी तो किया होगा। इसीलिए जरूरी होता है कि वक्त रहते इन टिश्यूज़ को ठीक किया जाए।

वर्ना यह आगे चलकर गंभीर परेशानी को भी खड़ा कर सकते है। इसी को देखते हुए आज हम आपके लिए यह खास खबर लेकर आए है। जिसमें आप मोच के बारे में तो अच्छे से जानेंगे ही साथ ही हम आपको इसे घर पर ही ठीक करने के उपाय भी बताएंगे। तो आइए शुरू करते है।

Table of Contents

किस वजह से आती है पैर में मोच ?

तो आइए अब आपको बताते है कि आखिर मोच आने का कारण क्या होता है। तो मोच आपको तेज चलते वक्त पैर मुड़ने, खेल-कूद के वक्त पैर मुड़ने, उबड़-खाबड़ जगह पर चलते वक्त पैर मुड़ने, तेज दौड़ने व ऊंची जगह से कूदते वक्त पैर मुड़ने या फिर कई बार हाई हील वाले जूते पहनने के वक्त पैर मुड़ने की वजह से आ सकती है।

मोच के लक्षण क्या होते है ?

जब मोच आती है तो आपको सूजन, चलते हुए पैर में दर्द, मांसपेशियों में ऐंठन, जोड़ों में अकड़न या फिर त्वचा की रंगत में बदलाव जैसे लक्षण देखने को मिलते है। अगर आपको ऐसी समस्या हो तो इसका मतलब है कि आपके मोच आई है।

पैर की मोच ठीक करने के घरेलु नुस्खे ?

बर्फ से करें सिकाई

अगर आपको मोच आई हो तो आप घबराएं नहीं आप इसके इलाज के लिए अपने फ्रिज से बर्फ लाएं और उसे एक कपड़े में डाल लें। इसके बाद मोच वाली जगह पर एक से 2 घंटे के बीच हल्के हाथ से सिकाई करें। लेकिन ध्यान रहे कि मोच वाली जगह पर आपको सीधे ही बर्फ नहीं लगानी है वर्ना आपको परेशानी हो सकती है।

मोच पर लगाएं लौंग का तेल

अगर आपके मोच आ गई है तो आपको मोच के स्थान पर लौंग का तेल लगाना चाहिए। ऐसा करने से आराम मिलता है क्योंकि लौंग के तेल में एनेस्थेटिक गुण पाए जाते है जो कि सूजन और दर्द दोनों को कम करने में काफी मददगार होता है। इसके लिए आपको हर 3 से 4 घंटे के बीच मोच के स्थान पर लौंग का तेल लगाना है। ध्यान रहें कि मोच के स्थान पर कभी भी मालिस ना करें वर्ना ऐसा करना आपकी समस्या को बढ़ा सकता है।

हल्दी के दूध का करें सेवन

चाहे मोच का दर्द हो या फिर अन्य कोई दर्द हल्दी का दूध हर प्रकार के दर्द को ठीक करने में कारगर होता है। क्योंकि दूध में हल्दी डलने से यह एक प्रकार से पेन किलर का काम करता है जो कि बाजार में मिलने वाले पेन किलर से कई लाख गुना बेहतर है और इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

मोच पर लगाएं हल्दी का पेस्ट

हल्दी काफी हेल्दी मानी जाती है इसलिए केवल इसके सेवन से ही नहीं बल्कि इसे लगाने से भी काफी राहत मिलती है। क्योंकि हल्दी पेन किलर के साथ-साथ एंटीसेप्टिक का भी काम करती है। इसीलिए अगर आपको मोच आई हो तो थोड़ी सी हल्दी लेकर उसका पानी के साथ एक पेस्ट बना लें इसके बाद उस पेस्ट को अपनी मोच के स्थान पर लगाएं। ऐसा करने से आपको मोच ठीक करने में काफी मदद मिलेगी।

दूध में फिटकरी मिलाकर करें सेवन

अगर आपकी मोच का दर्द बहुत ज्यादा असहनीय हो तो आपको एक गिलास गर्म दूध में आधे चम्मच के बराबर फिटकरी मिलाकर उसका सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से मोच के दर्द में काफी राहत मिलती है।

शहद और चूने का पेस्ट लगाएं

अगर आपको मोच में राहत पानी हो तो आपको बराबर मात्रा में शहद और चूना लेकर उसका पेस्ट बना लेना चाहिए और मोच के स्थान पर लगाना चाहिए। ऐसा करने से मोच के दर्द में आराम मिलता है।

मोच के स्थान पर बांधे चने

अगर आपको मोच आई हो तो आपको अपनी मोच के स्थान पर एक कपड़े में चने डालकर उसे मोच के स्थान पर बांध लेना चाहिए और फिर उस पर पानी से छिड़काव करना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि जैसे-जैसे चने फूलते है वो मोच का दर्द खिंच लेते है।

मोच के दौरान किसी भी पहलवान से पट्टी या मसाज ना करवाएं अगर घरेलु नुस्खों के बाद भी आपका दर्द बरकरार रहता है। तो तुरंत आप डॉक्टर के पास जाएं और अपना इलाज कराएं।

ये भी पढ़े – स्ट्रीट फूड खाने के हैं शौकीन तो इन हेल्दी स्नैक्स को कर सकते हैं ट्राई

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles