fbpx

बैटमैन रिव्यु : जानिए कैसी है रॉबर्ट पैटिनसन की बैटमैन और किसका कैसा है काम

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

कास्ट: रॉबर्ट पैटिनसन, जो क्रावित्ज़, जेफरी राइट, कॉलिन फैरेल, पॉल डानो, जॉन टर्टुरो, एंडी सर्किस, पीटर सरसागार्ड

निर्देशक: मैट रीव्स

रेटिंग: 3 स्टार

क्रिस्टोफर नोलन की द डार्क नाइट ट्रायोलॉजी के लगभग एक दशक बाद भी लोग क्रिश्चियन बेल द्वारा निभाये गए बैटमैन कैरेक्टर को अभी तक भुल नही पाए है। बेल के बैटमैन कैरेक्टर हर हिस्से में फिट था, लेकिन वह विवादकारी नहीं था। वहीं रॉबर्ट पैटिनसन की बैटमैन का कैरेक्टर एक खूनी, क्रूर, बिना किसी रोक-टोक के विवाद करने वाला है, जो हिंसा भड़काने में सक्षम है।

Advertisement

क्रिस्टोफ़र नोलन ने द डार्क नाइट और द डार्क नाइट राइज़ेज़ के ज़रिये बैटमैन को जिस मुकाम पर पहुंचाया था, डायरेक्टर मैट रीव्स ने बढ़िया फिल्म बनायी है। इस बार रीव्स ने निराश नहीं किया है। इसमें कोई शक नहीं है कि रॉबर्ट पैटिनसन ने डीसी कॉमिक्स सुपरहीरो फ्रैंचाइज़ी की बैटमैन रीबूट के लिए बहुत मेहनत की है। जो उनके प्रयासों से पता चलता है लेकिन स्क्रीनप्ले (पीटर क्रेग के सहयोग से रीव्स द्वारा लिखित) से प्राप्त अंतिम परिणाम कुछ कम नहीं हुआ है।

कहानी की अगर बात करें तो फिल्म की थीम पुरानी ही है, बस किरदार को नये सिरे से गढा गया हैं। इस बार गॉथम शहर में नया विलेन आया है जो पहले की तरह ही लोगों को मार रहा है और पहेलियां भी छोड़ रहा है। जिनमें उसकी पहचान छिपी है। साथ ही और लोगों की ज़िन्दगी भी खतरे में है। इस बार विलेन का नाम है रिड्लर। रिड्लर का दावा है कि वो गॉथम को भ्रष्ट लोगों से मुक्त कर रहा है।

इसके बाद उसका सामना होता है फ़िल्म के हीरो यानि बैटमैन से। गॉथम पुलिस और बैटमैन के बीच संबंध अच्छे नहीं है। हालांकि जेम्स गॉर्डन उसकी मदद करता है। रिड्लर गॉथम शहर के भ्रष्ट अफ़सरों को निशाना बना रहा वहीं इस पूरे मामले की जांच के दौरान बैटमैन और गॉथम की पुलिस के सामने राज़ खुलने लगते हैं। रिड्लर जिन भ्रष्ट लोगों को खुले में लाने ही द बैटमैन फ़िल्म की कहानी है। निदेशक रीव्स, बैटमैन के लिए अपने शैली के फिल्म निर्माण के अनुभव के साथ-साथ वह उन्होनें कॉमिक-बुक पर ये फिल्म बनायी है।

टिम बर्टन, जोएल शूमाकर, क्रिस्टोफर नोलन और जैक स्नाइडर द्वारा अभिनीत पहले की बैटमैन फिल्मों से अलग हटकर रीव्स फिल्म में नवीनता लाए है।

बैटमैन के किरदार में रॉबर्ट पैटिनसन खूब जचे हैं। रॉबर्ट ने इससे पहले अपनी फ़िल्म ‘द डेविल ऑल द टाइम’ में प्रेस्टन टीगार्डिन के किरदार से भी लोगो को चौंकाया था। लेकिन बैटमैन बनकर उन्होंने कमाल कर दिया हैं। मैट रीव्स ने फ़िल्म को बेहद डार्क बनाया है।

बैटमैन के साथ सबसे ज्याद सिन जेम्स गॉर्डन के है और जेफ़्री राइट की मौजूदगी का अहसास ही नहीं होता है। सेलीना काइल बिल्लियों की तरह ही घरों में घुसती और निकलती है। इसे ज़ोई क्रेवित्ज़ ने निभाया हैं। ब्रूस वेन और सेलिना के लिए अतीत में क्या है, इसका विशिष्ट विवरण प्रस्तुत करते हुए, कहानी एक ऐसे शहर को दिखाती है जो अंडरवर्ल्ड के नियंत्रण में रहा है।

बेन एफ़्लेक ने बैटमैन का ग्राफ़ जहां निचे गिराया था वहीं रॉबर्ट पैटिनसन ने इसे ऊपर उठाया है। फ़िल्म द बैटमैन 176 मिनट लम्बी है। अब जनता इतनी लम्बी फिल्म देखने के आदि नहीं रहें है। सुपरहीरो मूवीज़ के लिहाज़ से ये कुछ ज़्यादा ही बडी फिल्म हो जाती है।

अंत में द बैटमैन अच्छी कहानी पर पकड़ बनाये रखने वाली फ़िल्म है। इसबार बैटमैन, नोलन वाले बैटमैन को टक्कर देता नजर आ रहा है। आप भी अगर फिल्म देखने की सोच रहें है तो फ़िल्म बड़ी स्क्रीन पर देखी। आईमैक्स, सोने पर सुहागा हो जाएगा।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article