Bihar Political Crisis: राज्यपाल से नीतीश कुमार ने मांगा मिलने का समय, JDU और BJP की बैठक जारी...

Bihar Political Crisis: राज्यपाल से नीतीश कुमार ने मांगा मिलने का समय, JDU और BJP की बैठक जारी…

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

बिहार में बीजेपी वेट एंड वॉच की सिचुएशन चल रही है। बीजेपी नेताओं को एक्शन के बाद रिएक्शन का इंतजार है। फिलहाल बीजेपी नेताओं को सीएम नीतीश के फैसले का इंतजार हैं। BJP की पटना में डिप्टी CM तारकेश्वर प्रसाद के आवास पर बैठक चल रही है। इस बैठक में डिप्टी CM रेणु देवी, नंद किशोर यादव, अध्यक्ष संजय जयसवाल सहित अन्य नेता मौजूद हैं। सभी को नीतीश के निर्णय का इंतजार है।

वहीं JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने नीतीश कुमार और विधायकों की इस बैठक के बारे में कहा है कि सीएम ने सिर्फ राय जानने के लिए ये बैठक बुलाई है। इस बैठक में आज कोई निर्णय नहीं लिया जाना है।

पटना में उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के आवास पर भाजपा के राज्य महासचिव भीखुभाई दलसानिया और राज्य भाजपा प्रमुख संजय जायसवाल पहुंचे है। आपको बता दें कि लालू यादव के आवास पर महागठबंधन के विधायकों की बैठक चल रह है। इसके साथ ही पटना में सीएम आवास पर जद (यू) नेताओं की बैठक भी चल रही है। वहीं महागठबंधन की सरकार बनाने का फैसला लिया जा चुका है, ऐसा कांग्रेस विधायक शकील अहमद खान का कहना है।

इससे पहले कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा ने बताया था कि कांग्रेस के सभी विधायक, वाम दल के सभी विधायक राबड़ी आवास जा रहे हैं। वहीं महागठबंधन की बैठक होनी है। अगर नीतीश NDA से अलग होते है तो सभी लोग उनका समर्थन करेंगे महागठबंधन के बाद नीतीश को ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। लेकिन उनको समर्थन तब करेंगे जब वो NDA से अलग होंगे। वहीं जदयू से हम लोगों की कोई बातचीत नहीं हुई है और ना कांग्रेस ने जदयू से संपर्क किया है। नीतीश BJP के साथ सरकार ठीक से नहीं चला पा रहे हैं। महंगाई, बेरोजगारी और स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। इसके साथ-साथ कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। नीतीश को BJP काम नहीं करने देती है।

ये भी पढ़े स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में झंडा फहराने में क्या अंतर है ?

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article