fbpx

कम मात्रा में नमक का सेवन आपको देता है जबरदस्त फायदे, वहीं ज्यादा मात्रा में इसके ये है नुक्सान!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

नई दिल्ली: अधिकतर लोग खाने में तेज नमक खाना पसंद करते हैं। ये बात तो हम सभी जानते हैं कि नमक के बीना खाना स्वादहीन लगता है इसलिए जितना हो सके नमक का सेवन कम मात्रा में ही करना चाहिए। आपको बता दें ज्यादा मात्रा में नमक का सेवन करने से दिल से जुड़ी बीमारी का खतरा बढ़ जाता है वहीं ये सेहत के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। इसलिए इसका सेवन जितना हो सके उतना कम होने की सलाह दी जाती है।

कम मात्रा में नमक के सेवन से होने वाले शारीरिक फायदे-

दिल की बीमारी होती है दूर

नमक का सेवन यदि कम मात्रा में करते हैं तो दिल की बीमारी का खतरा कम रहता है। नमक का सेवन कम मात्रा में करने से लगभग 20 से 30 प्रतिशत तक दिल की बीमारी का खतरा नहीं होता है। इसलिए जरूरत के मुताबिक ही नमक का सेवन करें।

Advertisement

ब्लड प्रेशर रहता है नियंत्रण में

नमक में सोडियम की मात्रा भरपूर होती है। सोडियम के सेवन ज्यादा मात्रा में करते हैं तो ब्लड प्रेशर का स्तर बढ़ सकता है वहीं ये दिल और रक्त वाहिकाओं को नुकसान भी पहुंचाता है। इसलिए कोशिश करें कि डाइट में नमक का सेवन कम ही करें। वहीं जो व्यक्ति नमक का सेवन कम मात्रा में करते हैं उन्हें किडनी से जुड़ी कई समस्याएं भी दूर हो जाती हैं।

ब्लोटिंग की समस्या रहती है दूर

खाने में नमक का ज्यादा मात्रा में सेवन ब्लोटिंग की समस्या को बढ़ाता है, इसलिए कोशिश करें कि जितना हो सके उतना कम ही सेवन करें ताकि ब्लोटिंग के जैसी अन्य समस्याएं दूर रहे। अधिक मात्रा में नमक के सेवन से न केवल पेट फूलता है बल्कि त्वचा में इचिंग भी हो सकती है। इसलिए ज्यादा मात्रा में इसके सेवन करने से बचें।

दिमाग की सेहत को मिलता है बढ़ावा

नमक का सेवन यदि आप ज्यादा मात्रा में करते हैं तो दिमाग की सेहत को बढ़ावा मिलता है, नमक का ज्यादा मात्रा में सेवन सेहत के लिए हानिकारक होता है। इससे खून की कमी की आपूर्ति में कमी भी आती है और ये ब्लड प्रेशर को भी बढ़ाता है।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article