डिस्कस थ्रो नवजीत ढिल्लों पर लगा तीन साल का बैन - Duniyakamood

डिस्कस थ्रो नवजीत ढिल्लों पर लगा तीन साल का बैन

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

भारत की टॉप डिस्कस थ्रो खिलाड़ी नवजीत कौर ढिल्लों पर तीन साल का बैन लगा दिया गया है। दरअसल, नवजीत कौर ढिल्लों कजाकिस्तान में एथलेटिक्स इंट्रीग्रिटी यूनिट द्वारा आयोजित डोप टेस्ट में फेल हो गई। नियमों के अनुसार डोप टेस्ट में अगर कोई पहली बार पकड़ा जाता है तो उस पर चार साल का बैन लगाया जाता है। लेकिन उन्होंने डोपिंग रोधी नियम के उल्लंघन को स्वीकार किया इसलिए उनपर तीन साल का बैन लगाया गया है।

उनके खेल की बात करें तो, नवजीत ढिल्लों भारत की टॉप डिस्कस थ्रोअर हैं। इन्होंने 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीता था। लेकिन बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में ये आठवें स्थान पर रहीं थी।

डिस्कस थ्रो में ये कई पदक अपने नाम कर चुकी हैं। नवजीत कौर ढिल्लों का डोप टेस्ट बीते 24 जून को कजाकिस्तान में हुआ था। कजाकिस्तान के अल्माटी में डोप टेस्ट के लिए सैंपल लिए गए थे। इस टेस्ट के एक दिन पहले ही नवजीत कौर कौर ने 56.24 मीटर के थ्रो के साथ कोसानोव मेमोरियल मीट में गोल्ड मेडल जीता था। सैंपल की जांच के बाद यह पाया गया है कि वह ड्रग्स ली थीं। ढिल्लों की रिपोर्ट के अनुसार उनके सैंपल में DHCMT स्टेयरॉयड मिले हैं। नवजीत ने जून में चेन्नई में राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैम्पियनशिप में 55.67 मीटर दूर डिस्कस थ्रो करके स्वर्ण पदक जीता था।

ये भी पढ़े Asia Cup 2022 : दुबई में इंडिया को सपोर्ट करने पहुंचे विजय देवरकोंडा, भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article