13.1 C
Delhi
सोमवार, जनवरी 30, 2023

बस ये एक पौधा लगाने से भगवान शिव और शनिदेव होते हैं प्रसन्न, जानें इसे लगाने का सही समय व स्थान!

नई दिल्ली: वास्तु शास्त्र हमारे जीवन में बेहद महत्व रखता है। घर में मौजूद हर एक वस्तु का सीधा सीधा कनेक्शन घर के वास्तु से होता है। यदि कोई वस्तु वास्तु के अनुसार नहीं होती तो उस घर में नकारात्मक उर्जा का संचार होने लगता है और बनते हुए काम बिगड़ने लगते हैं साथ ही घर परिवार में स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याएं घेर लेती है। वहीं इसके अलावा यदि घर में हर एक वस्तु अपनी सही दिशा और सही स्थान पर हो तो घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और सभी अड़चनें दूर हो जाती है। साथी धन की देवी मां लक्ष्मी का भी उस घर में वास होता है।

इन्हीं कुछ वस्तुओं में से एक शमी का पौधा भी वास्तु शास्त्र में बेहद महत्वपूर्ण माना गया है। यदि हम इस पौधे को घर में लगाते हैं तो इससे घर में मौजूद वास्तु दोष खत्म हो जाता है। साथ ही मान्यता यह भी है कि इस पौधे को घर में लगाने से भगवान शिव और शनिदेव प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा बनाए रखते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से शमी का पौधा लगाने की सही दिशा, सही स्थान और सही विधि की जानकारी देंगे जिससे कि यह आपके लिए लाभदायक रहें।

इस विधि से लगाए शमी का पौधा

वास्तु शास्त्र के अनुसार शम्मी के पौधे को लगाने के लिए सबसे शुभ स्थान मुख्य द्वार को माना जाता है। इस पौधे को लगाने की सही दिशा क्या होती है कि जब आप घर के दरवाजे से बाहर निकले तो यह पौधा आपके दाई तरफ हो। वही इसके अलावा यदि आप किसी कारण वश शमी के पौधे को इसी स्थान पर नहीं रख पाते तो आप इसे घर की छत या फिर बालकनी में भी इसे लगा सकते हैं। परंतु ज्ञात रहे इस पौधे को भूलकर भी घर के भीतर ना लगाएं। वही इस पौधे को लगाने की सही दिशा की बात करें तो इसके लिए सबसे फायदेमंद दिशा दक्षिण दिशा, पूर्व दिशा और ईशान कोण को माना जाता है। क्योंकि इस दिशा में शमी का पौधा लगाने से आपको बहुत से लाभ प्राप्त होते हैं।

भगवान शिव और शनिदेव का मिलता है अपार आशीर्वाद

वास्तु शास्त्र के अनुसार, शमी के पौधे का संबंध शनिदेव से माना जाता है, परंतु जिस किसी घर में इस पौधे को लगाया जाता है वहां समस्त देवी देवताओं की आपार कृपा बनी रहती है। इसके साथ साथ आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचालन भी होने लगता है। वहीं इसके साथ साथ इस पौधे में उगने वाले फूल भगवान शिव के लिए अत्यंत प्रिय होते हैं। ऐसा माना जाता है कि यदि महादेव की पूजा में इन फलों का इस्तेमाल किया जाता है तो शिव जी प्रसन्न होकर वहां अपनी कृपा बनाएं रखते हैं। वास्तु शास्त्र के मुताबिक, शमी के पौधा का सीधा सीधा संबंध शनिदेव भगवान से माना जाता है इसलिए ही इस पौधे को शनिवार के दिन लगना सबसे शुभ माना जाता है।

ये भी पढ़े-जानें सपने में सांप दिखना शुभ होता है या अशुभ, क्या कहता है स्वप्न शास्त्र?

ये भी पढ़े- अगर पाना चाहते है शनि की महादशा और साढ़े साती से छुटकारा, तो इस शनिवार ही करें ये खास उपाय ?

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles