fbpx

गोरखपुर लोकसभा सीट से लगातार 5 बार सांसद चुने गए है CM Yogi Adityanath, आइए जानें उनके जीवन के बारे में कुछ बातें

Must read

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Uttar Pradesh के CM योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी। उनकी सरकार बने हुए लगभग 6 साल हो चुके हैं। इस बीच उन्होंने कई बड़े काम किए हैं। उनके जीवन की बात करें तो, CM Yogi Adityanath का जन्म 5 June 1972 को Pauri Garhwal में एक राजपूत परिवार में हुआ था। उनका असल नाम अजय सिंह बिष्ट है। इन्होंने 19 मार्च 2017 को प्रदेश के विधान सभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की बड़ी जीत के बाद 21वें मुख्यमन्त्री पद की शपथ ली थी।

इनके पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट और माता का नाम सावित्री देवी है। योगी जी ने सन 1977 में टिहरी गडवाल के गजा के स्कूल से अपनी शिक्षा की हासिल की। सन 1989 में इन्होने ऋषिकेश के भरत मन्दिर इन्टर कॉलेज से 12th पास और सन 1992 में हेमवती नन्दन बहुगुणा गडवाल विश्वविद्यालय से इन्होने गणित में B.Sc की और इसी कॉलेज से M.Sc भी की।

उसके बाद सन 1993 में योगी वे गोरखपुर आ गए जहां उनकी मुलाकात गोरखनाथ मन्दिर के महंत अवैधनाथ से हुई। उसके बाद इन्होंने अवैधनाथ जी से शिक्षा प्राप्त की और 1994 में सन्यासी का रूप धारन कर लिया। जिसके बाद इन्होंने अपना नाम बदलकर योगी आदित्यनाथ रख लिया। महंत अवैधनाथ की जब म्रत्यु हो गई उसके बाद Yogi Adityanath गोरखनाथ मन्दिर के महंत बन गए।

उनके राजनीतिक सफर की बात करें तो योगी जी गोरख़पूर लोकसभा सीट से लगातार 5 बार सांसद चुने गए है। सन 1998 में योगी जी ने गोरखपूर लोकसभा सीट से पहली बार भारतीय जनता पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ा और उसमें उन्हें जीत हासिल हुई थी। जब वो सांसद बने तब उनकी उम्र केवल 26 वर्ष की थी। 1999 के लोकसभा चुनावों में वो दोबारा सांसद चुने गए। उसके बाद वो सन 2004, 2009 और 2014 के लोकसभा में चुनाव जीतकर गोरखपूर से सांसद चुने गए।

Advertisement

वे यूपी की राजनीति में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने उत्तर प्रदेश में अपने पांच साल का पूरा कार्यकाल किया है। आपको बता दें कि आदित्यनाथ के अलावा किसी BJP CM ने यूपी में कार्यकाल पूरा नहीं किया था। योगी आदित्यनाथ दूसरी बार हुए चुनाव में पूर्ण बहुमत हासिल की थी। Yogi Adityanath कट्टर हिंदू नेता हैं।

उनकी सरकार को बने लगभग 6 साल हो गए हैं। इन 6 सालों में उन्होंने कई बड़े से बड़े फैसले किए हैं। इसमें उन्होंने इंफ्रास्ट्रक्चर से लेकर कानून व्यवस्था तेज करने तक UP में हर छोटे से छोटे और बड़े से बड़े काम किए हैं।

स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए उन्होंने कई बड़े काम किए जैसे होस्पिटल खुलवाना, पीएम आयुष्मान भारत में 6 करोड़ 47 लाख लोगों को बीमा कवर, 42.19 लाख लोगों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में बीमा कवर, लखनऊ में अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्विद्यालय का निर्माण शुरू करना आदि।

इसके अलावा Uttar Pradesh में सड़कों का बुरा हाल था। जिसे योगी सरकार ने आते ही बदल दिया। इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने से लेकर 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, 124 लॉन्ग ब्रिज, 54 रेल फ्लाइओवर का अप्रोच मार्ग पूरा, 355 छोटे पुलों का निर्माण करवाया।

इस कार्यकाल में उन्होंने महिलाओं के लिए भी कई बड़े काम किए। बालिकाओं को निशुल्क शिक्षा, उज्ज्वला योजना में मुफ्त गैस कनेक्शन, सीएम कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, मुस्लिम महिलाओं को बिना महरम के हज पर जाने की सुविधा, प्रदेश के सभी थानों में पहली बार महिला हेल्प डेस्क की स्थापना आदि।

इसके अलाव उन्होंने किसानों का ऋण माफ करवाया, गन्ना किसानों को 1.44 लाख करोड़ से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान। इसके अलावा उन्होंने और भी कई बड़े काम किए हैं। जिनकी सूची काफी लंबी है।

ये भी पढ़े आप ने असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा पर पत्नी व बेटे को पीपीई ठेका देने पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article