14.1 C
Delhi
बुधवार, दिसम्बर 7, 2022

जाने प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है, इसके पात्रता, किन लोगों को होगा लाभ और ऑनलाइन आवेदन का तरीका!

एक आम आदमी के लिए उसके घर परिवार से बढ़कर ‌कुछ नहीं होता है, हर एक व्यक्ति की चाह होती है वह अपने घर में रहें ना की किराए के मकानों में परिवार समेत दर दर भटके। भारत देश में आज भी ऐसे कई लोग हैं जिनकी आर्थिक स्थिति सही ना होने के चलते वे खुद का घर बनवाने में एवं पुराने घर की मरम्मत करने में सक्षम नहीं है। केंद्र सरकार ने इस समस्या से त्रस्त नागरिकों के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की शुरुआत कर दी है। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2015 में Pradhan Mantri Gramin Awas योजना को लांच किया था। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों को घर की मरम्मत करवाने एवं घर बनवाने के लिए आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जाती है। यह आर्थिक सहायता समतुल्य भूमि के लिए ₹120000 एवं पहाड़ी इलाकों के लिए ₹130000 है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से PMAY Gramin Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी देंगे, आप किस तरह से इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए जरूरी कागजात और किन किन लोगों को इसका लाभ मिलेगा। ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका भी हम इस आर्टिकल में आगे आपको बताएंगे।

Table of Contents

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana (PMAYG) 2022

PMAYG योजना के अंतर्गत लगने वाली कुल लागत 130075 करोड़ रूपये है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत लगने वाली कुल लागत का वहन केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार के बीच 60 : 40 के साझा क्षेत्रो में की जानी है तथा पहाड़ी क्षेत्रो के लिए 90 : 10 के बीच साझा की जानी है। Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana 2022 के तहत ग्रामीण क्षेत्रो में पक्का घर निर्माण का काम वर्ष 2022 तक पूरा किया जायेगा । PMAY Gramin के अंतर्गत कमज़ोर वर्ग के लोगों को पक्का घर बनाना के लिए दी जाने वाली धनराशि लाभार्थी के सीधे बैंक अकॉउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

वर्चुअल माध्यम से 5 लाख घरों में गृह प्रवेश

केंद्र सरकार द्वारा Gramin Awas Yojana का संचालन किया गया है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थियों को अपने घर का निर्माण करवाने के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 29 मार्च 2022 को 5.21 लाख मध्य प्रदेश में स्थित घरों का गृह प्रवेश वर्चुअल माध्यम से करवाया था। इसके अलावा इस अवसर पर उत्सव का आयोजन भी किया गया था। जानकारी के मुताबिक, अब तक इस योजना के माध्यम से 24.10 लाख घरों का निर्माण किया जा चुका है। वर्ष 2021- 22 में 5.41 लाख घरों का निर्माण पूर्ण किया गया है। इस योजना को 1 अप्रैल 2016 को मिनिस्ट्री ऑफ रूरल डेवलपमेंट द्वारा आरंभ किया गया था। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के माध्यम से घर का निर्माण करवाने के लिए ₹120000 से लेकर ₹130000 रुपया की राशि तीन बराबर किस्तों में प्रदान की जाती है।

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana 3 वर्षों के लिए मंजूरी

केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 8 दिसंबर 2021 को अगले 3 सालों के लिए Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana को मंजूरी दे दी गई थी। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर जी ने इस बात की जानकारी एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान दी थी।‌ उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का विस्तार मार्च 2021 से मार्च 2024 तक कर दिया गया है। अब ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले पात्र शेष नागरिको इस योजना के माध्यम से पक्का घर प्राप्त हो सकेगा। इस योजना का विस्तार करने के पश्चात शेष 155.75 लाख घरों के निर्माण किए जाएंगे। जिससे कि 2.95 करोड़ घरों के निर्माण के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता प्राप्त होगी। 155.75 लाख घरों के निर्माण में सरकार द्वारा 198581 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana का उद्देश्य

भारत देश के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए जो अपना खुद का पक्का घर बनाना चाहते हैं लेकिन आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने की वजह नहीं बना पाते। इन सब के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2022 के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो के कमज़ोर वर्गों के लोगों का पक्का घर बनाने के लिए भारत सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करना तथा गरीब लोगों के स्वयं का पक्का बनाने का सपना साकार करना है। साथ ही पक्का शौचालय बनाने के लिए 12000 रूपये की सहायता भी दी जाएगी।

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana के लाभार्थी

  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
  • महिलाएं किसी भी जाति या धर्म की
  • मध्यम वर्ग 1
  • मध्यमवर्ग 2
  • अनुसूचित जाति
  • अनुसूचित जनजाति
  • कम आय वाले लोग

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana की पात्रता

  • आवेदक मूल रूप से भारतीय निवासी होना चाहिए।
  • ऐसे परिवार जिनमें 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।
  • महिला मुखिया वाले परिवारों जिनमे 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।
  • ऐसे परिवार जिसमें 25 वर्ष से अधिक आयु का कोई साक्षर वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए।

ज़रूरी दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का बैंक खाता (बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए)
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

ग्रामीण आवास योजना पीएम 2022 की विशेषताएं

  • योजना के अंतर्गत 1 करोड़ आवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • ग्रामीण आवास योजना 2022 के अंतर्गत आवास निर्माण के लिए जगह को 20 वर्ग मीटर से बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर किया गया जायेगा जिसमें रसोई हेतु क्षेत्र भी शामिल है।
  • योजना के तहत मैदानी क्षेत्रो में इकाई सहायता 1.20 लाख रूपये है और पर्वतीय क्षेत्रों में इकाई सहायता 1.30 लाख रूपये है।
  • योजना की कुल लागत 1 ,30075 करोड़ रूपये है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा 60 :40 के अनुपात में वहन की जाएगी।
  • ग्रामीण क्षेत्रों के परिवार का निर्धारण SECC 2011 के आकड़ो के आधार पर किया जायेगा।
  • किसी राज्य में दुर्गम क्षेत्र का वर्गीकरण राज्य सरकारों को करना होगा। इस तरह का वर्गीकरण किसी अन्य प्रावधान के अंतर्गत राज्य में मौजूदा वर्गीकरण के आधार पर और मापदंड पर आधारित कार्यप्रणाली का प्रयोग करते हुए किया जायेगा।
  • हिमाचल राज्य – जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड को भी इस श्रेणी में शामिल किया जायेगा।

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana के लिए ऑनलाइन पंजीकरण

प्रधानमंत्री ग्रामीण योजना के तहत वहीं ग्रामीण निवासी आवेदन कर सकते हैं जिनका नाम 2011 सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना सूचि में होगा।अगर आपका नाम इस सूचि में है तो आप क्षेत्रीय पंचायत से आपको ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन के लिए यूज़रनाम तथा पासवर्ड दिया जायेगा। PMAY Gramin 2022 के तहत आप इस यूज़र नाम तथा पासवर्ड से आवेदन फॉर्म भर सकते है और आवेदन करके ग्रामीण क्षेत्र के कमज़ोर वर्ग के लोग इस योजना का लाभ उठा सकते है और अपना पक्का घर बनाने का सपना पूरा कर सकते है। Gramin Awas Yojana 2022 के अंतर्गत आवेदन 3 स्टेप्स में पूरा किया जायेगा।

First स्टेप

आपको PM Gramin Awas Yojana की ओफिसिअल वेबसाइट पर जाना है इसके बाद आपके सामने ओफिसिअल वेबसाइट के Home Page खलेगा होम पेज पर आपको DATA ENTRY का विकल्प दिखाई देगा। DATA ENTRY पर क्लिक कर दीजिये क्लिक करने के बाद PMAY Rural ऑनलाइन आवेदन लॉगिन लिंक खुलेगा। इसके बाद पंचायत तथा ब्लॉक स्तर से मिला हुआ Username, Paasword की मदद से पंजीकरण लॉगइन कर दें। Login होने के बाद अपनी सुविधा अनुसार यूज़र नाम पासवर्ड को बदल दें। इसके बाद आपको PMAY Online Login पोर्टल पर 4 विकल्प दिखाई देंगे

  • first PMAY G ऑनलाइन आवेदन
  • second आवास आप द्वारा खींची गयी फोटो का सत्यापन,
  • third स्वीकृति पत्र Download करना
  • Fourth FTO के लिये ऑर्डर शीट तैयार करना।

इन चारो विकल्प में से पहले वाले PMAY G ऑनलाइन पंजीकरण पर Click करके पंजीकरण फॉर्म को ओपन करं

Second स्टेप

PMAY G के पंजीकरण फॉर्म को Open करने के बाद पंजीकरण फॉर्म में चार प्रकार डिटेल्स First Personal Details, Second Bank A/C Details, Third Convergence Details ,Fourth Details From Concern Office भरनी होंगी।
पंजीकरण के पहले भाग में लाभार्थी पंजीकरण की सभी सूचनाएं भर दीजिये तथा मुखिया का चयन करके मुखिया की सभी जानकारी उपलब्ध कराये।

Third स्टेप

Third स्टेप में Gramin Awas Yojana के आवेदन फॉर्म को संशोधित करने के लिए के पोर्टल को यूज़र पासवर्ड की मदद से लॉगिन करें तथा पंजीकरण फॉर्म को संशोधित करने के लिए Registration Form पर क्लिक करे।

इस तरह आप प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में आवेदन फॉर्म भर कर आवेदन कर सकते है और इस योजना का लाभ उठा सकते है।

Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana की महत्वपूर्ण जानकारी

आर्थिक रूप से कमजोर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों खुद का घर बनवाने में एवं पुराने घर की मरम्मत करने में सक्षम नहीं है उनके लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना शुरू कर दी गई और इससे संबंधित कुछ शौचालय को Gramin Awas Yojana का एक अभिन्न अंग बना दिया गया है। शौचालय के निर्माण के पश्चात ही घर को पूर्ण माना जाएगा। सरकार द्वारा शौचालय निर्माण के लिए ₹12000 की राशि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा मनरेगा के अंतर्गत मकान निर्माण हेतु 90/95 व्यक्ति दिवस अकुशल श्रमिक मजदूरी का प्रावधान भी निर्धारित किया गया है।

  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत निर्माणित घरों में बिजली मंत्रालय की दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना/ सौभाग्य योजना के माध्यम से विद्युतीकरण किया जाएगा।
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के माध्यम से मुफ्त एलपीजी कनेक्शन भी प्रदान किए जाएंगे।
  • इसके अलावा जल जीवन मिशन के अंतर्गत पाइप से जल पूर्ति उपलब्ध कराने का भी प्रयास किया जाएगा।
  • विधवा, अविवाहित और अलग व्यक्ति को छोड़कर मकान का आवंटन पति पत्नी के नाम में संयुक्त रूप से किया जाएगा।
  • 31 मार्च 2021 तक ग्रामीण महिलाओं के नाम पर 68 प्रतिशत आवास या तो अकेले या संयुक्त रूप से स्वीकृत किए गए हैं।
  • मकान निर्माण की अच्छी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से स्थानीय स्तर पर उपलब्ध सामग्री का उपयोग करके ग्रामीण राजमिस्ट्रियो को प्रशिक्षित करने के लिए प्रशिक्षण और प्रमाणन कार्यक्रम पूरे भारत में शुरू किया गया है।
  • 8 अप्रैल 2021 तक 1.18 लाख ग्रामीण राजमिस्त्रीयो को प्रशिक्षित किया जा चुका है।
  • कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान इस योजना के अंतर्गत मकान निर्माण का कार्य 45 से 60 दिन में पूर्ण कर लिया गया है जो कि पहले 125 दिनों में पूर्ण किया जाता था।

ये भी पढ़े – प्रधान मंत्री आवास योजना-ग्रामीण क्या है, पीएमएवाई-जी न्यू लिस्ट 2022 कैसे देखें

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles