fbpx
Home घरेलू नुस्खे खांसी की टेबलेट नाम और घरेलू उपाय अगर खांसी की समस्या से...

खांसी की टेबलेट नाम और घरेलू उपाय अगर खांसी की समस्या से हो गए हैं परेशान

0
117
troubled by the problem of cough

खांसी की टेबलेट नाम मौसम में होने वाले बलदलाव कारण अक्सर खांसी , ज़ुखाम या बुखार जैसी समस्या होती है। बुखार तो अक्सर तीन दिन में खत्म हो जाता है, लेकिन खांसी लंबे वक्त तक चलती है। इसके लिए लोग कई घरेलू नुस्खे आजमाते हैं। उन घरेलू नुस्खों से खांसी खत्म होने में ज़रा सा वक्त लगता है। इसके लिए हम आपको यहां कुछ ऐसी दवाओं के बारे में बताएंगे जिनसे खांसी जल्द ठीक हो जाती है। साथ ही हम आपको कुछ घरेलू उपायों के बारे में भी बताएंगे।

Table of Contents

खांसी की दवाएं

खांसी की कई तरह की होती है अलग-अलग तरह की खांसी की अलग-अलग दवा होती है। इसकी दवाओं का जरूरी काम या तो सूखी खांसी को दबाना या कफ़ वाली खांसी के दौरान निकलने वाले कफ़ को खांसी के माध्यम से बाहर निकालने में मदद करना है। खांसी की दवाएं जो सूखी खांसी को दबाने में सहायता करती हैं, उन्हें कभी-कभी एंटीटूसविसेज कहा जाता है। खांसी की दवाएं जो बलगम को बाहर निकलने में मदद करती हैं, उन्हें एक्स्पेक्टोरंट्स कहते हैं।

खांसी की टेबलेट नाम | Khansi ki tablet name

  • एंटीटूसविसेज (खांसी सप्रेसेंट) एंटीटूसविसेज दवाएँ खांसी की इच्छा को कम करते हुए प्रभाव दिखाती हैं।
  • एक्स्पेक्टोरंट- एक्स्पेक्टोरंटस के बारे में कहा जाता है कि यह फेफड़ों द्वारा कफ की मात्रा में वृद्धि करते हुए कार्य करता है। यह खांसी करते हुए स्राव को आसानी से बाहर निकालने के कार्य को आसान बनाती है।
  • एंटीहिस्टामाइन -एंटीहिस्टामाइन हिस्टामाइन के मुक्त होने के दर को कम करता हैं। इससे जमाव को कम कर है और फेफड़ों द्वारा निर्मित स्राव की मात्रा को कम करता है।
  • डिकोंजेस्टेंट्स- डिकोंजेस्टेंट्स फेफड़े और नाक में रक्त वाहिकाओं को संकरा (संकुचित) होने में मदद करता हैं, और इससे जमाव कम हो जाता है।

खांसी से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

बदलते मौसम के साथ गले में खराश या खांसी की समस्या हो रही है, तो इससे राहत पाने के लिए कई घरेलू नुस्खें भी हैं। अगर आप भी इस बदलते मौसम में खांसी से परेशान हैं तो दवाओं की जगह प्राकृतिक घरेलू उपचार कर सकते हैं। आइए यहां जानें इसके बारे में।

नमक वाले गुनगुने पानी से गरारा

गले में अगर खराश हो तो एक चम्मच नमक को गुनगुने पानी में डालकर उससे सुबह-सुबह गरारा करें। इससे गले में पूरे दिन दर्द नहीं रहता और खांसी की समस्या भी हल्की हो जाती है। इसे कम से कम दिन में 3 से 4 बार किया जा सकता है।

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध कई बीमारियों का इलाज करता है। गले की खराश को दूर करने के लिए दूध में हल्दी मिलाकर पीना काफी लाभकारी होता है। यह गले में दर्द को भी ठीक करता है।

हर्बल चाय

आप एक गिलास पानी में एक टुकड़ा अदरक, दालचीनी, लीकोरिस को 10 मिनट तक उबालें और पानी को दिन में 3 से 4 बार पिएं। इससे खांसी को बहुत आराम मिलेगा।

शहद का प्रयोग

एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद और नींबू का रस मिलाकर दिन में तीन बार पीने से भी सूखी खांसी से आराम पाया जा सकता है।

शहद और अदरक

सूखी खांसी ठीक करने के लिए सबसे पहले एक चम्मच शहद में जरा सा अदरक का रस मिलाकर पी जाएं। इसके बाद अपने मुंह में मुलैठी की छोटी सी डंडी रख सकते हैं। ऐसा करने से आपका गला नहीं सूखेगा। मुलैठी सूखे गले और खराश से राहत द‍िलाने का काम करती है।

ये भी पढ़े खांसी से राहत पाने के लिए करें यह घरेलू उपाय, चुटकियों में दूर होगी खांसी ?

ये भी पढ़े बुखार-खांसी या फिर गले में हो खराश, तो यह घरेलु इलाज आपको चुटकियों में पहुंचाएंगे लाभ, जानिए कैसे ?

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here