fbpx

महाराष्ट्रः एक भाई ने माँ की मदद लेकर अपनी बहन का काटा सिर और फिर कटे हुए सिर के साथ ली सेल्फी

Must read

भारत में हर रिश्ते का अपना एक महत्व है, जैसे माँ को भगवान का दर्जा दिया जाता है, तो वहीं भाई को रक्षक माना जाता है, जो किसी भी परीस्थिती में अपनी बहन की रक्षा करने से पीछे नहीं हटता। जिससे जुड़े कई किस्से और कहानियां हम सभी ने सुनी है, जिनमें कई भाईयों ने अपनी बहन की रक्षा करने के लिए अपनी जान तक न्योछावर कर दी लेकिन आज जो घटना हम आपको बताने जा रहे है उसे सुनने के बाद आप भी यही सोचेंगे कि क्या एक भाई अपनी बहन के साथ ऐसा भी कर सकता है ?
यह घटना महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले से सामने आई है। जहां पर एक honour killing का ऐसा मामला देखने को मिला है, जिसे सुनने के बाद शायद आप भी विचलित हो जाए। रिपोर्ट्स का कहना है कि यहां एक शख्स ने अपनी माँ के साथ में मिलकर अपनी 19 साल की बहन का सिर काटकर उसकी हत्या कर दी और फिर कटा हुआ सिर पड़ोसियों को भी दिखाया। एक रिपोर्ट में तो यह भी दावा किया जा रहा है कि माँ और बेटे ने मिलकर कटे सिर के साथ सेल्फी भी ली।
बताया जा रहा है कि माँ और बेटे ने मिलकर जिस वक्त युवती का खून किया तब वह गर्भवती थी। मृतक युवती की पहचान कीर्ति थोरे के रूप में की गई है। जब कीर्ति थोरे की हत्या की गई उस वक्त उसका पति भी घर में ही मौजूद था। आरोपी भाई ने बहन की हत्या के बाद अपने बहनोई को भी मारने का प्रयास किया लेकिन मृतक युवती का पति उस दौरान भागने में कामयाब रहा।
इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी भाई ने पहले अपनी गर्भवती बहन सिर काटा। बाद में वह उसके कटे हुए सिर को बरामदे में ले गया और आत्मसमर्पण करने से पहले सभी लोगों को अपनी मृत बहन का कटा हुआ सिर दिखाया।
बता दें कि, मृतक युवती कीर्ति थोरे ने भागकर जून महिने में अपनी स्वेच्छा से शादी कर ली थी और खुशी-खुशी अपने पति के साथ अपनी जीवन यापन कर रही थी। इसके बाद अचानक उसकी माँ ने पिछले हफ्ते फोन करके बेटी से मिलने की इच्छा जाहिर की और फिर बीते रविवार को अपने बेटे के साथ उसकी माँ अपनी बेटी से मिलने उसके घर पहुंची, जहां माँ और बेटे ने मिलकर इस अपराध को अंजाम दिया।
इस मामले की जांच कर रहे पुलिस के एक अधिकारी कैलाश प्रजापति ने बताया कि, “माँ इस घटना के एक सप्ताह पहले भी अपनी बेटी से मिल कर गई थी। जिसके बाद 5 दिसंबर को वह पुनः अपने बेटे के साथ आई। मृतक युवती का घर खेत में था और वहां पर युवती अपनी सास के साथ खेत के काम में हाथ बटा रही थी। इसी दौरान अपनी बेटी की हत्या के मकसद से युवती की माँ अपने बेटे के साथ वहां पहुंची।
अपनी हत्या से अंजान कीर्ति थोरे अपनी माँ और भाई को देखकर अपना काम छोड़कर उनका स्वागत करने के लिए दौड़ी। इसके बाद कीर्ति थोरे ने दोनों को पानी पीलाया और फिर चाय बनाने के लिए रसोई में चली गई। तभी इस घटना को अंजाम देने के लिए उसका भाई पीछे से आया और उसने उसका सिर काटकर उसकी हत्या कर दी।”

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article