मशहूर गजल गायक भूपिंदर सिंह का हुआ निधन, आइए जानें उनके बारे में कैसे उन्हें संगीत से थी नफरत फिर भी बने सबसे बड़े गायक

मशहूर गजल गायक भूपिंदर सिंह का हुआ निधन, आइए जानें उनके बारे में कैसे उन्हें संगीत से थी नफरत फिर भी बने सबसे बड़े गायक

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

मशहूर गजल गायक भूपिंदर सिंह का सोमवार देर शाम को निधन हो गया। भूपिंदर सिंह पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे जिसके कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सोमवार देर शाम उन्होंने आखिरी सांस ली। उनके निधन के बारे में उनकी पत्नी और गायिका मिताली सिंह ने जानकारी दी। उनके निधन के बारे में जानकारी देते हुए उनकी पत्नी मिताली ने कहा कि “वह कुछ समय से कई स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे थे।”

भूपिंदर सिंह ने बॉलीवुड के लिए एक से बढ़कर एक गाने गाए हैं। होके मजबूर मुझे उसने बुलाया होगा, नाम गुम जाएगा, दिल ढूंढ़ता है फिर वही, जैसी एक से बढ़कर एख गजलों को अपनी आवाज दी है।

उनका जन्म 6 फरवरी, 1940 को अमृतसर में हुआ था। उन्होंने अपने जीवन में कई तरह के उतार-चढ़ाव देखे थे। उनके बारे में कई किस्से कई बाते कही गई हैं। सबसे जरूरी यह बात है कि भूपिंदर सिंह को शुरुआती दिनों में संगीत से नफरत हुआ करती थी, लेकिन बाद में उन्होंने इसी के जरिए अपना नाम बना लिय। अपने करियर की शुरुआत उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो में परफॉर्म करके किया।

भूपिंदर सिंह को संगीत की शिक्षा उनके पिता प्रोफेसर नत्था सिंह से मिली थी। उनके पिता स्वयं एक बेहतरीन संगीतकार थे, हालांकि वह इस बात को लेकर बड़े सख्त थे कि मौसिकी सीखने वाला शिष्य गंभीर हो। उनकी इसी सख्ती की वजह से भूपेंद्र को संगीत से ही चिढ़ होने लगी थी, हालांकि जैसे-जैसे समय बीतता गया, उनके भीतर संगीत के प्रति प्रेम जगा और वह देश के सबसे बड़े गज़ल गायक बन गए।

उन्होंने सबसे पहला गाना म्यूजिक डायरेक्टर मदन मोहन के लिए गाया था। मदन मोहन ने एक कार्यक्रम के दौरान भूपिंदर सिंह को गाते हुए सुना और वो उनके फैन हो गए। इसके बाद उन्हें मदन मोहन की तरफ से गाने के लिए बुलावा भेजा गया।

उनकी किस्मत इतनी खूबसूरत थी कि उन्हें पहले ही मौके में भूपिंदर सिंह को मोहम्मद रफी, तलत महमूद और मन्ना डे के साथ गाने का अवसर मिला। फिल्म हकीकत के गाने ‘होके मजबूर उसने मुझे बुलाया होगा’ को भूपिंदर सिंह ने आवाज दी। इस गाने को लोगों ने खूब पसंद किया और यहीं से उनका संगीत की दुनिया में परचम लहराना शुरू हआ।

ये भी पढ़े अमेज़न प्राइम डे सेल 2022: बिग सेल और भारी छूट के बारे में ये सब कुछ आपको जानना चाहिए..

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article