fbpx
Home पॉलिटिक्स पीयूष गोयल की टिप्पणी पर हमलावर हुआ विपक्ष, सरकार को लिया आड़े...

पीयूष गोयल की टिप्पणी पर हमलावर हुआ विपक्ष, सरकार को लिया आड़े हाथ

25
846
piyush goyal
pc-Livehindustan

मोदी सरकार पर निशाना साधने में अब विपक्ष एक मौका भी नहीं छोड़ रहा। अपनी एक टिप्पणी को लेकर अब केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल अब विपक्ष का शिकार हो गए है।


दरअसल विपक्षी नेताओं ने केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल द्वारा भारतीय उद्योग जगत की कार्य प्रणाली की आलोचना किए जाने के दावे वाली एक खबर का हवाला देते हुए सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है।


खबर की माने तो ऐसा कहा जा रहा है कि भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक कार्यक्रम में पीयूष गोयल ने भारतीय उद्योग जगत की कार्य प्रणाली पर सवाल करते हुए यह कह दिया कि भारतीय उद्योग जगत की कार्य प्रणाली राष्ट्रीय हितों के खिलाफ चली गई है।


दरअसल इस खबर की पुष्टि अंग्रेजी के मशहूर अखबार ‘द हिंदू’ में की गई है। ‘द हिंदू’ में प्रकाशित एक खबर में यह कहा गया है कि गोयल ने अपनी टिप्पणी में टाटा समूह को निशाना बनाते हुए कहा कि, ‘क्या आप जैसी कंपनी, एक दो, आपने शायद कोई विदेशी कंपनी खरीद ली, उसका महत्व ज्यादा हो गया, देश हित कम हो गया?’ बता दें कि मंत्री से जुड़े सूत्रों का इस टिप्पणी पर यह कहना है कि गोयल की टिप्पणी को संदर्भ से हटकर पेश किया गया है।

Advertisement


पीयूष गोयल के करीबी एक सूत्र का यह कहना है कि, ‘इस संवाद का सार राष्ट्रीय हित से संबंधित था। मंत्री की दिल से की गई अपील को व्यापक रूप से देखने की जरूरत है, इसे सिर्फ झूठी निंदा के लिए सीमित दायरे में देखने की जरूरत नहीं है।’


आपको बता दें कि पीयूष गोयल की इस टिप्पणी के बाद से कई विपक्षी दलों ने गोयल पर निशाना साधते हुए सरकार को आड़े-हाथों लेना शुरू कर दिया है।


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘सबसे पहले गोयल ने सुनिश्चित किया कि राज्यसभा नहीं चले और अब इस तरह की अजीबो-गरीब टिप्पणी। वह आधिकारिक स्वीकृति के बिना यह नहीं बोल सकते थे। क्या वह बोल सकते हैं?’


कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस टिप्पणी पर ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘आज़ादी से आज तक के “मेक इन इंडिया” वाले देश के उद्योगपतियों व निर्माताओं को लताड़ो व बेइज्जत करो। सिर्फ़ हम दो, हमारे दो का परिवार, बाक़ी सब हैं निकम्मे और बेकार, यही कहती है मोदी सरकार।’


आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा ने अपने ट्वीट के माध्यम से तंज कसते हुए कहा कि, ‘प्रिय कारपोरेट इंडिया, व्यक्ति जो बोता है, वही काटता है। शुभकमानाएं।’

वहीं शिवसेना की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने ट्वीट में दावा किया कि पीयूष गोयल की ओर से जिन शब्दों का इस्तेमाल किया गया है वो शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि सीआईआई को वीडियो हटाकर मंत्री की मदद करने के बजाय उनसे माफी मांगने के लिए कहना चाहिए।


पीयूष गोयल की टिप्पणी पर हमलावर होते हुए एआईएमआईम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी उद्योगपतियों को भरोसे में लेना चाहते हैं, लेकिन उनके मंत्री उन लोगों को जवाबदेह ठहराना चाहते हैं।

25 COMMENTS

  1. Have you ever considered about including a little bit more than just your articles?
    I mean, what you say is important and all. Nevertheless think of if you added some great pictures
    or video clips to give your posts more, “pop”! Your content is excellent but with pics and clips, this website
    could undeniably be one of the best in its field. Wonderful blog!

    my web-site :: https://entertainment.contently.com/

  2. In our well-liked handicapping competitions are back for
    Tokyo with 60 gamers representing their respective residence countries.
    They take residence web page to get back to the 1970s and that you simply enjoy.
    That values the enterprise worth of bets web page loading instances and ease
    of. Feb2009 Vol 4 choose a particular match that’s played
    and the place bets are. Feb2009 Vol four billion to
    14 though it was at the time the guess. Extracting all the
    time so ensure they’re trustworthy can have access to.
    Issues occur things that the majority of these being authorized within the offing to have a
    semi-lifelike situation. Live esports betting generally referred to go overboard when issues aren’t going your means.
    Some esports. Here’s the esports market with the Mybookie cell site you select could make.

    Navigation of the sportsbook also boasts fractionally better 275 280 on Mybookie Bovada.
    Sportsbook corporations from the stands out because you’ll find alternatives here to make your personal bets.

    The credit score for getting these numbers may be better with our platform not.
    Arbitrage is commonly large games could have higher odds than the purpose unfold also known as the road.
    As detailed in three specific video games Colts-titans.

  3. Thank you for your whole work on this website.
    My daughter delights in going through researfh and it’s
    really easy to see why. My spouse and i know all concerning the dynamic method you provide good techniques by means of this blog and therefore inspire contribution from
    others on the point so my simple princess is
    understanding so much. Take advantage of the remaining portion of the new year.

    You are performing a really good job.

  4. Hello! I understand this is sort of off-topic but I had to ask.
    Does managing a well-established website such as yours take a lot of work?
    I am completely new to running a blog but I do write in my journal daily.
    I’d like to start a blog so I will be able to share my experience and
    thoughts online. Please let me know if you have any kind of suggestions or tips for brand new aspiring bloggers.

    Appreciate it!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here