OTT क्या है और इसकी शुरुआत कब हुई थी ? भारत में OTT की शुरुआत कब और किसने की थी?

OTT क्या है और इसकी शुरुआत कब हुई थी ? भारत में OTT की शुरुआत कब और किसने की थी?

Must read

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

आपने अपने जीवन में कभी ना कभी ओटीटी शब्द जरूर सुना होगा। पिछले कुछ सालों में ‘ओटीटी’ प्लेटफॉर्म्स ने लोगों के बीच एक खास जगह बनाई है। OTT ने कोरोना काल में लोगों तक एक से एक फिल्म और सीरीज को पहुंचाया है। OTT के आने के बाद लोग अब फिल्म देखने के लिए सिनेमाघरों में जाना ही नहीं चाहते है, लोगो इंतज़ार करते हैं कि ये फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कब आएगी। फिल्म के OTT पर आने पर ही देख लेंगे। जिसका असर फिल्म के बिजनेस पर भी देखने को मिल रहा है।

OTT क्या है ?

OTT का मतलब होता है- ओवर-द-टॉप (ओटीटी)। ये एक प्रकार की मीडिया सेवा होती है। ये इंटरनेट के माध्यम से दर्शकों को सीधे दी जाने वाली मीडिया सेवा है। ओटीटी ने केबल, प्रसारण और सैटेलाइट टेलीविजन प्लेटफॉर्म को बायपास कर दिया है।

ओवर-द-टॉप सेवाओं को आम तौर पर व्यक्तिगत कंप्यूटर पर वेबसाइटों के माध्यम से, साथ ही मोबाइल उपकरणों (जैसे स्मार्टफोन और टैबलेट), डिजिटल मीडिया प्लेयर (वीडियो गेम कंसोल सहित), या एकीकृत स्मार्ट टीवी प्लेटफॉर्म वाले टीवी के माध्यम से एक्सेस किया जाता है।

OTT एक प्लेटफॉर्म होता है जो आपके फोन पर तमाम तरह की फिल्में, सीरीज़ और शोज़ प्रोवाइड करता है। इसके द्वारा विभिन्न प्रकार के कंटेंट रोमांटिक, थ्रिलर, एक्शन सभी आपको विभिन्न ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर मिल जाते है। वहीं कुछ ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर कंटेंट देखने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है। या दूसरे शब्दों में कहा जाए तो ये OTT प्लेटफॉर्म सब्सक्रिप्शन बेस्ड होते है। वहीं कुछ OTT प्लेटफॉर्म पर आपको फ्री में कंटेंट मिल जाता है। लेकिन दोनो केस में आपके फोन में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कुछ भी देखने के लिए इंटरनेट सुविधा होना आवश्यक है।

भारत में OTT की शुरुआत कब और किसने की थी?

सबसे पहले ओटीटी प्लेटफॉर्म की शुरुआत अमेरिका में हुई थी। हमारे देश में ओटीटी प्लेटफॉर्म की शुरुआत साल 2008 में रिलायंस एंटरटेनमेंट ने की थी। रिलायंस एंटरटेनमेंट ने भारत में सबसे पहला ओटीटी प्लेटफॉर्म Bigflix लॉन्च किया था।

जिसके बाद साल 2010 में Digivive ने NEXG TV नाम से ओटीटी प्लेटफॉर्म लॉन्च किया था। जोकि वीडियो ऑन डिमांड के साथ टीवी भी देखा जा सकता था।

फिलहाल भारत में कई तरह के ओटीटी प्लेटफॉर्म्स उपलब्ध है, इनमें नेटफ्लिक्स, डिज़्नी प्लस हॉटस्टार, वूट, जी5, अमेज़न प्राइम वीडियो, ऑल्ट बालाजी आदि शामिल है।

ये भी पढ़े फिर ट्रोलर्स के निशाने पर आई अनन्या पांडे, फिल्म Liger में खराब एक्टिंग पर हुई ट्रोल ?

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article