21.1 C
Delhi
बुधवार, नवम्बर 30, 2022

पालनहार योजना 2022 के तहत इन लोगों को मिलता है फायदा, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर ?

पालनहार योजना 2022 (Palanhar yojana 2022) – आज हम आपको पालनहार योजना की जानकारी देने वाले है जहां आप इस योजना से जुड़े हर एक पहलु को आसानी से जान पाएंगे और यह जानकारी आम व्यक्ति से लेकर किसी सरकारी पेपर की तैयारी कर रहे व्यक्ति तक सभी के काम आएगी। तो चलिए शुरू करते है।
पालनहार योजना को राजस्थान सरकार के द्वारा 8 फरवरी 2005 में शुरू किया गया था और यह योजना केवल राजस्थान के निवासियों के लिए ही है। इस योजना का लाभ उन बच्चों को मिलता है जो कि अनाथ होते है।

इस योजना के अंतर्गत 5 वर्ष तक की आयु के बच्चों को 500 रूपए प्रति माह एवं स्कूल में प्रवेश लेने के बाद 18 वर्ष की आयु तक के बच्चों को प्रतिमाह 1000 रूपए की अनुदान राशि दी जाती है।

Table of Contents

पालनहार योजना 2022 के उद्देश्‍य क्या है ?

अगर योजना के उद्देश्य की बात करें तो इस योजना में अनाथ बच्‍चों के पालन-पोषण, शिक्षा आदि की व्‍यवस्‍था संस्‍थागत नहीं की जाती बल्कि उनके करीबी रिश्‍तेदार या फिर परिचित व्‍यक्ति को उन बच्चों का पालनहार बनाकर।

उन्हें इस योजना की राशि दी जाती है ताकि कोई बच्चा इस राशि का गलत इस्तेमाल ना कर सके और उसे इस राशि से अच्छी शिक्षा, भोजन, वस्‍त्र एवं अन्‍य आवश्‍यक सुविधाएं प्राप्त हो पाए और यही कारण है कि इस योजना को सम्‍पूर्ण भारत में सबसे अनूठी योजना की श्रेणी में माना जाता है।

2022 के अनुसार पालनहार योजना के लिए देय पात्रता और लाभ क्या है ?

इस योजना को राजस्थान सरकार के द्वारा सबसे पहले 8 फरवरी 2005 को अनुसूचित जाति के बच्चों के लिए लागू किया गया था लेकिन फिर इस योजना में कई बदलाव किए गए और अन्य बच्चों को भी इस योजना के साथ जोड़ा गया, जो कि इस प्रकार से है।

  • हर एक जाति के अनाथ बच्‍चों को।
  • जिन बच्चों के माता-पिता को न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड या फिर आजीवन कारावास प्राप्‍त हो उन्हें।
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की तीन संतानों को।
  • जिनकी माता की मृत्यु हो गई हो उसकी तीन संतानों को।
  • पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान को।
  • एड्स पीडित माता/पिता की संतान को।
  • कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान को।
  • विकलांग माता/पिता की संतान को।
  • तलाकशुदा/परित्‍यक्‍ता महिला की संतान को।

पालनहार योजना को लेकर अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल ?

पालनहार योजना किस राज्य की योजना है ?

यह योजना राजस्थान सरकार के अंतर्गत आती है जिसे साल 2005 में अनाथ बच्चों की मदद के लिए लागू किया गया था।

पालनहार योजना में पैसा कब और कितना मिलता है ?

पालनहार योजना में अगर आप जिस बच्चे का पालन कर रहे है उसकी उम्र 5 वर्ष हो तो आपको हर महीने बच्चे के पालन के लिए 500 रूपए दिए जाते है जबकि अगर उस बच्चे का स्कूल में प्रवेश हो जाए तो बच्चे की उम्र 18 साल की होने तक उसे हर महीने 1000 रूपए राजस्थान सरकार के द्वारा दिए जाते है, जिसे अब बढ़ाकर 2500 रूपए कर दिया गया है।

पालनहार योजना के पैसे कैसे देखें ?

अगर आप किसी ऐसे बच्चे के रिश्तेदार या फिर करीबी परिचित है जो कि अनाथ है तो आप उसके पालन पोषण के लिए सरकार की पालनहार योजना की मदद ले सकते है और इस लिस्ट में आपका नाम है या फिर नहीं और आपको इसमें कितने पैसे मिले है। यह जानने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को अपना सकते है।

सबसे पहले jansoochna.rajasthan.gov.in पर जाए और फिर इस पोर्टल पर मौजूद Palanhar Beneficiary List में अपना नाम चेक करे। यहीं पर आपको अपने नाम के साथ सरकार के द्वारा दिए जाने वाले पैसों की भी जानकारी मिल जाएगी।

पालनहार जन सूचना पोर्टल क्या है और इसे कैसे चेक करें ?

अगर आप पालनहार जन सूचना पोर्टल को चैक करना चाहते है तो आप गूगल पर jansoochna.rajasthan.gov.in डाले और फिर इसे सर्च करें। इस स्टेप को फॉलो करने से आप सीधा पालनहार जन सूचना पोर्टल पर पहुंच जाएंगे।

पालनहार पोर्टल क्या है और इसे कैसे चेक करें ?

अगर आप पालनहार पोर्टल को देखना चाहते है तो आप गूगल पर sjmsnew.rajasthan.gov.in डाले और फिर इसे सर्च करें। इस स्टेप को फॉलो करने सेआप सीधा पालनहार पोर्टल पर पहुंच जाएंगे।

पालनहार के लिए कौन-कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए होते है ?

अगर आप पालनहार योजना में श्रेणीवार होना चाहते है तो दस्तावेज के रूप में आपको इसमें पालनहार का भामाशाह कार्ड, आय प्रमाण पत्र, मूल निवास/राशन कार्ड/मतदाता पहचान पत्र की कॉपी, बच्चों के अध्ययन का प्रमाण पत्र एवं आधार नंबर दिखाना होता है।

पालनहार योजना कब शुरू हुई ?

पालनहार योजना को अनाथ बच्चों की मदद किए जाने के लिए 8 फरवरी 2005 को शुरू किया गया था।

पालनहार योजना में 2022 का बजट क्या है ?

अगर पालनहार योजना के लिए 2022 के बजट की बात करें तो पहले 5 वर्ष के बच्चों को 500 और स्कूल में प्रवेश कर चुके बच्चों को 1000 रूपए दिए जाते थे लेकिन कुछ बदलाव लाते हुए स्कूल में पढ़ाई करने वाले बच्चों को 2500 रूपए हर महीने दिए जाने का एलान किया गया है।

पालनहार योजना के पैसे कैसे आते है ?

पालनहार योजना में आने वाले बच्चों के अभिभावकों के खाते में पालनहार योजना के पैसे भेजे जाते है।

सिलिकोसिस पालनहार योजना क्या है ?

सिलिकोसिस पालनहार योजना का लाभ यह होता है कि आवेदक के बच्चों को स्वत: ही पालनहार योजना का लाभ मिल जाता है। जिसके अंतर्गत प्रति बच्चा एक हजार रुपए मासिक देय और दो बच्चे होने पर आवेदक को दो हजार रुपए पालनहार तथा 1500 रुपए सिलिकोसिस पेंशन योजना के मिलाकर एक महीने के साढ़े तीन हजार रुपए मिल जाते हैं।

पालनहार योजना के हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

वैसे तो हमने अपनी इस पोस्ट में पालनहार योजना से जुड़ी सभी चीजों की जानकारी देने का प्रयास किया है लेकिन फिर भी आप विस्तार से जानकारी चाहते हो तो आप पालनहार योजना के हेल्पलाइन नंबर 01412226604 पर संपर्क कर सभी सूचना प्राप्त कर सकते है।

ये भी पढ़े – UP Free Laptop Yojana जाने क्या है यूपी फ्री लैपटॉप योजना, कौन कर सकता है आवेदन और जरूरी दस्तावेज!

ये भी पढ़े – e shram card benefits in hindi | e-shram कार्डधारियों को मिल रहा है इन योजनाओं का लाभ, जाने इसके आवेदन का तरीका! | eshram gov.in apply

ये भी पढ़े – पीएम किसान सम्मान निधि योजना क्या है व पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 11वीं किस्त की स्थिति की जांच कैसे करें

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles