fbpx

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की मुलाकात, कोविंद ने मोदी की सुरक्षा घटना को बताया ‘गंभीर चूक’

Must read

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को अपने पंजाब दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध लगने पर गुरुवार को गंभीर चिंता व्यक्त की।मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। कोविंद ने मोदी की सुरक्षा घटना को बताया गम्भीर चूक ।

आज सुबह पंजाब सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य के दौरे के दौरान हुई चूक की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया। इस समिति में न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) मेहताब सिंह गिल, प्रमुख सचिव (गृह मामलों) और न्यायमूर्ति अनुराग वर्मा शामिल होंगे और तीन दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे।

हालांकि, भाजपा ने पंजाब सरकार द्वारा कल राज्य के दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंधमारी की जांच के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति को सिरे से खारिज कर दिया।

आपको बता दें कि प्रधान मंत्री का काफिला बुधवार को फिरोजपुर में प्रदर्शनकारियों द्वारा नाकेबंदी के कारण एक फ्लाईओवर पर फंस गया था, जिसके बाद वह कार्यक्रम में बिना शामिल हुए पंजाब से लौट आए।

Advertisement

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को तत्काल रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया, जबकि गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा चूक पर जवाबदेही तय है।

इसके अलावा पंजाब सरकार को सड़क मार्ग से किसी भी आंदोलन को सुरक्षित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा तैनात करनी होगी, जो स्पष्ट रूप से तैनात नहीं थे। इस सुरक्षा चूक के बाद, बठिंडा हवाई अड्डे पर वापस जाने का निर्णय लिया गया। केवल पंजाब पुलिस को ही पीएम का सटीक मार्ग पता है। और इस चूक का कारण पंजाब पुलिस को माना जा रहा है।

इस घटना के बाद भाजपा ने आरोप लगाया कि पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने प्रधान मंत्री को “शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाने की कोशिश की”, जिस पर अन्य दलो ने राज्य सरकार पर हमला किया है।

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने इस बात से इनकार किया है कि इसके पीछे कोई सुरक्षा चूक या राजनीतिक मकसद था और कहा कि उनकी सरकार जांच के लिए तैयार है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में गंभीर उल्लंघन को लेकर चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल भी गुरुवार को राज्य के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मिलने वाला है।

जानकारी के अनुसार, भाजपा नेतृत्व इस संबंध में राज्य सरकार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग करेगा और भगवा पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध को पंजाब में ”कानून-व्यवस्था का पूर्ण पतन” करार दिया है.

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article