fbpx

प्रियंका गांधी ने Delhi सरकार के 800 आंगनबाड़ी सेविकाओं को बर्खास्त करने के मामले पर किया विरोध, जाने क्या कहा.

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

हाल ही में दिल्ली सरकार ने आंगनबाड़ी की सेविकाओं को अचानक नौकरी से बर्खास्त कर दिया था. यह मामला अब तेज़ी से विरोधी सरकार के निशाने पर आ गया है. इस मामले में अब प्रियंका गांधी वाड्रा ने केजरीवाल सरकार पर हमला किया है और सेविकाओं की बहाली की मांग की है.

आपको बता दें कि दिल्ली की 884 आंगनबाड़ी सेविकाएं मानदेय बढ़ाने और काम के सम्मानजनक घंटों की मांग करते हुए एक महीने से अधिक समय से हड़ताल कर रही थीं. विरोध कर रहीं आंगनबाड़ी की सेविकाओं को दिल्ली सरकार ने अचानक नौकरी से बर्खास्त कर दिया. इससे इन सभी का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.

विरोध कर रहीं सेविकाओं का कहना था कि महमारी के दौरान उन लोगों ने जनता की सेवा में अपना सारा वक़्त निकाल दिया, लेकिन इसके बावजूद जनवरी से उन्हें वेतन नहीं मिला है. वो उधार के सहारे अपना घर खर्च चला रही हैं. अब प्रियंका गांधी वाड्रा इनके समर्थन में सामने आई हैं और केजरीवाल सरकार पर सवाल उठाया है.

प्रियंका गांधी ने इस कदम को “अन्यायपूर्ण” करार दिया और कार्यकर्ताओं की बहाली की मांग की है.

Advertisement

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर लिखा, “दिल्ली सरकार ने कुछ दिनों पहले ही विधायकों के मानदेय में बढ़ोत्तरी की थी, लेकिन, एक अन्यायपूर्ण कदम उठाते हुए सरकार ने सम्मानजनक मानदेय की मांग करने वाली 800 से अधिक आंगनबाड़ी सेविकाओं को बर्खास्त कर दिया. मेहनत के बदले अच्छा मानदेय मांगना अपराध नहीं है.”

ये भी पढ़े गुजरात में नकली शराब पीने से सात की मौत, वहीं 10 की हालत गंभीर…

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article