fbpx

ओलम्पिक 2020: पी.वी. सिंधु के भरोसे बैडमिंटन में भारत की उम्मीद की उड़ान जारी

Must read

जापान में चल रहे ओलम्पिक 2020 में भारत की तरफ से बैडमिंटन में पी.वी.सिंधु ने महिला एकल क्वार्टरफ़ाइनल में जापान की ए० यामागुची को सीधे सेटो में (21-13 एवं 22-20) हरा कर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली है।

पहला सेट सिंधु ने बड़ी आसानी से  21- 13 से अपने नाम कर लिया। वहीं दूसरे सेट में सिंधु को जापान की यामागुची से कड़ी टक्कर मिली । ये सेट अपने नाम करने मे सिंधु को अपनी प्रतिद्वन्दी यामागुची से कड़ी टक्कर मिली। एक पल ऐसा भी आया जब यामागुची ने लगातार पॉइंट्स लेकर रियो ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट को दबाव में डाल दिया था। सिंधु पिछड़ने लगी थीं। ऐसा लग रहा था कि मुकाबला तीसरे गेम तक चलेगा, लेकिन भारतीय स्टार ने अपनी नब्ज पर काबू रखते हुए पहले बराबरी की फिर ताकतवर स्मैश से मुकाबला अपने नाम किया। वर्तमान में वर्ल्ड बैडमिंटन रैंकिंग में यामागुची चौथे स्थान पर है जबकि सिंधु छठे स्थान पे है।

दोनों के बीच पुराना इतिहास

यामागुची दुनिया की नबंर वन खिलाड़ी रही हैं और फिलहाल चौथे स्थान पर हैं। भारतीय खिलाड़ी के लिए यामागुची हमेशा से ही कड़ी चुनौती रही हैं। सिंधु ने पहले दोनों मैच आसानी से जीते थे लेकिन आज के मैच का दूसरा गेम काफी नजदीकी रहा। हालाँकि इन दोनों की आपसी भिड़ंत में अभी तक सिंधु का ही पलड़ा भरी रहा है। ये इनका एक दूसरे के खिलाफ  २० वा मुकाबला था जिसमे १२ बार सिंधु को जीत मिली है।

Advertisement

कई यादगार मुकाबले हुए हैं

यामागुची और सिंधु के बीच कई यादगार मुकाबले हुए हैं। इसमें इस साल ऑल इंग्लैंड का मैच भी शामिल है जिसमें सिंधु ने तीन गेम में जीत हासिल की थी। यामागुची रियो ओलिंपिक में भी अंतिम आठ तक पहुंचीं थी। वहीं सिंधु ने रियो में रजत जीता था। उन्होंने पिछले ओलम्पिक का अपना जलवा इस ओलम्पिक में जारी रखते हुए भारत के लिये एक और मैडल जीतने की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं। अब वह पदक जीतने से मात्र एक जीत दूर हैं।

भारत के लिए सुखद रहा है आज का दिन

इससे पहले आज सुबह भारतीय मुक्केबाज लोवलिना बोर्गोहैन ने इतिहास रच दिया। लोवलिना बोर्गोहैन ने महिला वेल्टरवेट(64-69 kg) बॉक्सिंग के सेमीफाइनल में पहुंच भारत के लिए टोक्यो ओलिंपिक्स में कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है। लोवलिना टोक्यो ओलिंपिक्स में भारत के लिए पदक पक्का करने वाली पहली बॉक्सर बन गईं हैं। अपने पहले ओलिंपिक में ही लोवलिना ने विक्ट्री पंच लगा देश का गौरव बढ़ाया है। तो वहीं दीपिका कुमारी अंतिम आठ में पहुंचने वाली पहली भारतीय तीरंदाज बन गयीं हालाँकि उनका ओलम्पिक का सफर अंतिम आठ में ही ख़तम हो गया।

हॉकी टीम का शानदार सफर जारी

भारतीय महिला और पुरुष दोनों ही टीमों ने आज अपने मुक़ाबले जीत कर जीत का सिलसिला जारी रखा है, पुरुष टीम ने जापान को 5 – 3 से हराकर अपने ग्रुप से नॉकआउट में जगह बना ली है तो महिला टीम के लिए भी उम्मीदें अभी भी जिन्दा हैं।  भारतीय महिलाओं ने ने नवनीत कौर के गोल की मदद से आयरलैंड को 1 – 0 से हराकर अपना पहला मैच जीता।

More articles

7 टिप्पणी

  1. Đó là hoàn hảođể lập một số
    kế hοạch cho dài һạn ѵà đó là lúϲ để һạnh phúⅽ.

    Tôi có đọc này xuất bản và nếu tôi có
    thể, tôi mong mᥙốn giới thiệu bạn một số thu hút ѕự chú ý đіều hοặc mẹo.
    Có lẽ bạn có tһể viết tiếр theo Ƅài viết liên quan đến bài
    viết này. Tôі mong mսốn tìm hiểu nhiều һơn nữa vấn đề xấp xỉ nó!

    Feell free to visit mү web ρage; tour hòn sơn 2 ngày 1 đêm

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article