fbpx

रसोईघर में कभी भूले से भी ना करें ये गलतियां, अन्यथा मां अन्नपूर्णा होती है नाराज, जानें किचन के वास्तु के नियम

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

लगभग हर घर में रसोई तो होती ही है, वास्तु शास्त्र में रसोईघर को लेकर बहुत महत्व दिया गया है। माना जाता है कि यदि रसोईघर में वास्तु दोष होता है तो इससे पूरे परिवार के साथ कई तरह की परेशानियां खड़ी होने लगती हैं, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आने लगती है। इसके अलावा सुख शांति जाने लगती है और रसोईघर में बनाएं जाने वाले खाने का स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए कहा जाता है कि रसोईघर को साफ सुथरा और सही तरह से रखना चाहिए। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वास्तु के कुछ ऐसे नियम बताने जा रहे हैं जिनका पालन करने से आप अपने घर में सुख शांति ला सकते हैं और आर्थिक स्थिति को भी मजबूत कर सकते हैं। चलिए जानते हैं वास्तु के कौन से हैं वो वास्तु टिप्स!

Table of Contents

• रसोईघर में रखें इन बातों का खास ध्यान

  • घर में रसोईघर को हमेशा अग्नि कोण (दक्षिण और पूर्व के मध्य), दक्षिण या पूर्व में होना चाहिए। यदि रसोईघर गलत‌ दिशा में होता है तो इसका हमारे जीवन पर बूरा प्रभाव पड़ता है।
  • वहीं अगर रसोई घर की ईशान कोण (उत्तर और पूर्व दिशा) में होता है तो घर में आर्थिक तंगी आने लगती है और करीबी रिश्ते खराब होने लगते हैं। कभी कभी इस वजह से संतान को भी कष्ट हो सकता है।
  • यदि आपके घर में रसोईघर की दिशा वायव्य कोण (उत्तर -पश्चिम दिशा) में है तो इससे आपके घर में वास्तु दोष तो नहीं होता है बल्कि इसके अलावा सास और बहू में अनबन रहने लग जाती है।
  • घर में रसोईघर की दिशा दक्षिण-पश्चिम होती है तो इससे घर के मुखिया को किसी प्रकार की परेशानियां आ सकती है और स्वास्थ्य व मान सम्मान उप बुरा असर भी पड़ सकता है।

• रसोईघर के लिए वास्तु नियम

  • रसोई घर में फलों का या फिर फूलों की तस्वीर लगाएं इससे पॉजिटिव एनर्जी हमेशा ही बनी रहती है और घर वालों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।
  • मां अन्नपूर्णा की एक तस्वीर रसोई घर में पूर्व दिशा पर लगानी चाहिए, और हो सके तो तस्वीर पर चंदन की माला भी लगाएं ऐसा करने से आपके घर में कभी भी धन-धान्य की कमी नहीं हो सकती।
  • खाना खाते समय प्लास्टिक के बर्तनों का उपयोग ना करें और बर्तनों के स्टैंड में कभी भी प्लास्टिक के बर्तनों को नहीं रखें इससे बीमारी तो बढ़ती है और साथ ही शनि ग्रह भी दूषित होता है।
  • रसोई घर में यदि आपके पास सिंक है तो इसे उत्तर-पूर्व दिशा में ही होना चाहिए, और अगर किचन का पानी सीधा ढलान के जरिए सिंक में जाता है तो यह और भी शुभ होगा।
  • रसोई घर में काले कलर या फिर कार्य पत्रों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए इससे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
  • किचन हमेशा साफ रहना चाहिए और इसमें किसी भी प्रकार के कीड़े पकोड़े या फिर कैसी भी गंदगी नहीं होनी चाहिए।
  • विशेष कर ध्यान दें रसोई घर में कॉकरोच बताए बिना हो क्योंकि इससे आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है और बिजनेस में भी काफी ज्यादा लॉस हो सकता है।
  • रसोई घर में कभी भी झूठे बर्तन नहीं छोड़ना चाहिए इससे घर के सदस्यों में लड़ाई झगड़ा बढ़ता है और आपसी एकता भी कम होती है।
  • गैस चूल्हे को रसोईघर के अग्नि दिशा (दक्षिण-पूर्व दिशा) में रखना चाहिए, ऐसा करने से घर में रहने वाले लोगों का मान सम्मान बढ़ जाता है।
  • किचन में कभी भी नमक को खुला ना छोड़े हमेशा उसका इस्तेमाल होने के बाद ढक्कन बंद करके रखे वरना आपके ऊपर बहुत ज्यादा कर्जा बढ़ सकता है।
  • खाना बनाते वक्त खासकर महिलाओं को दक्षिण दिशा की ओर अपना चेहरा नहीं करना चाहिए ऐसा करने से उनकी सुंदरता जल्दी कम हो जाती है और चेहरे की रौनक चली जाती है और उनका स्वभाव भी बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा हो जाता है।
  • रसोई घर में बैठकर खाना खाना बहुत शुभ माना जाता है यदि आप ऐसा करते हैं तो बिगड़े हुए रिश्ते भी बहुत जल्द बनने लगते हैं।

ये भी पढ़े घर की इस में दिशा हाथी की मूर्ति या तस्वीर रखने से आती है सुख- समृद्धि, पढ़ें पूरी जानकारी!

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article