fbpx

Sidhu Moose Wala की जान को लंबे समय से था खतरा, कांग्रेस ने Aam Admi Party पर उठाए सवाल, जानें क्या है पूर मामला

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

पंजाबी सिंगर सिद्धू सिंह मूसेवाला की यूं अचानक हुई मौत से पूरी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में शोक का माहौल है। Shehnaaz Gill, Rannvijay Singha से लेकर बॉलीवुड के सभी बड़े से बड़े सेलेब्स, टीवी सेलेब्स ने Sidhu Moose Wala के यूं आचानक चले जाने पर शोक जताया है। कॉमेडियन कपिल शर्मा, एक्टर जिम्मी शेरगिल, सिंगर विशाल डडलानी, अशोक पंडित जैसे और भी कई सेलेब्स ने ट्वीट कर सिद्धू की मौत पर शोक जताया है। केवल एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री ही नहीं, बल्कि राजनीतिक गलियारों में भी Sidhu Moose Wala की मौत से शोक का माहौल है। आपको बता दें कि सिद्धू मूसेवाला सिर्फ फेमस सिंगर ही नहीं बल्कि नेता भी थे। साल 2021 में सिद्धू मूसेवाला ने कांग्रेस पार्टी के तरफ से मानसा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में वे आम आदमी पार्टी के कैंडिडेट डॉक्टर विजय सिंगला से चुनाव हार गए थे। सिंगला भगवंत सिंह मान सरकार में मंत्री भी बने, लेकिन हाल ही में भ्रष्टचार के आरोपों में बर्खास्त कर दिए गए हैं।

अपने गानों से सबके दिलों पर राज करने वाले Sidhu Moose Wala की 29 मई को सिद्धू पंजाब के मनसा में गोली मार कर हत्या कर दी गई। ख़बरों के  मुताबिक हमलवार काली गाड़ी में उन्हें मारने आए थे। गोली लगने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया। लेकिन इतनी गोली लगने के बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। बता दें कि हमलावरों ने उनकी थार जीप पर 12 राउंड फायरिंग की. घटना में मूसेवाला की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि दो साथी जख्मी हो गए हैं.

पंजाबी गायक के मर्डर केस में कनाडा बेस्ड गैंगस्टर गोल्डी बराड़ का हाथ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक गैंगस्टर लीडर लॉरेंस बिश्नोई के करीबी सहयोगी कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली है। उनकी मौत की वजह के बारे में कहा जा रहा है कि 8 अगस्त 2021 को मोहाली में  पंजाब के गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के करीबी विक्की मिद्दुखेड़ा की दिन दहाड़े हत्या की गई थी। इस हत्याकांड में सिद्धू मूसेवाला के मैनेजर शगन प्रीत सिंह का नाम सामने आया था। इस हत्याकांड के बाद मैनेजर भारत से फरार होकर ऑस्ट्रेलिया पहुंच गया। पंजाब पुलिस ने सिद्धू के मैनेजर के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया हुआ है।

अगस्त 2021 में हुई इस हत्या का बदला लेने के लिए लॉरेंस बिश्नोई की गैंग ने सिद्धू को मारने की ठान ली थी। बता दें कि लॉरेंस बिश्नोई फिलहाल जेल में बंद है और वहीं से गैंग को चला रहे हैं। उसकी गैंग में करीब 700 शूटर हैं जो कनाडा समेत विदेशों में भी मौजूद हैं। लॉरेंस बिश्नोई के करीबी गोल्डी बरार ने दावा ये भी किया है विक्की मिद्दुखेड़ा के अलावा उसके खुद के भाई गुरुलाल बरार की हत्या के पीछे भी सिद्धू मूसेवाला था लेकिन अपने रसूख के दम पर वो बच गया था।

Advertisement

उनकी जान को लंबे समय से खतरा था जिसके कारण उन्हें कड़ी सुरक्षा दी गई थी। एक दिन पहले शनिवार को पंजाब की मान सरकार ने मूसेवाला से वीआईपी सुरक्षा को वापस ले लिया था। आम आदमी पार्टी की सरकार ने कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए एक दिन पहले ही मूसेवाला समेत 424 VIP की सुरक्षा वापस ली थी। उनकी मौत के बाद से Aam Admi Party कांग्रेस के निशाने पर है।

पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने कहा कि, ‘यह सरकार की विफलता और पुलिस की अक्षमता के कारण हुआ है। इसकी जांच एनआईए या सिटिंग जज से करवाना चाहिए। यह राजनीतिक हत्या है। सरकार को इस्तीफा देना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि ‘पंजाब के डीजीपी को कानून और व्यवस्था को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी के रूप में शर्म आनी चाहिए लेकिन वह इसे एक गिरोह में प्रतिस्पर्धा कहकर अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। हम हाईकोर्ट जाएंगे और राज्यपाल से मिलेंगे। इंसाफ नहीं मिला तो केंद्रीय गृह मंत्री से भी मिलेंगे। उधर, पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू के घर के बाहर पुलिस की तैनाती कर दी गई है।’

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि, ‘सिद्धू मूसेवाला की दिनदहाड़े हत्या ने हर पंजाबी को झकझोर कर रख दिया है। नशा बेचा जा रहा है, सरकारी भवनों पर हमले हो रहे हैं और अब मनसा में एक युवक की मौत हो गई। यह पंजाब की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाता है।’

पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आए हैं जहां गैंग्सटर धोखाधड़ी करके देश छोड़कर चले जाते हैं लेकिन उनपर कोई कार्रवाई नहीं होती है। इससे साफ पता चलता है कि हमारा प्रशासन कितना ढीला पड़ा हुआ है। जिस देश में गुंडो से सेलेब्स नहीं बच सके उस जगह आम आदमी कैसे ही सुरक्षित रहेगा।

सिद्धू मूसेवाला का नाम पंजाब के बेहतरीन सिंगर्स में शुमार था और उनके गानों को न सिर्फ पंजाब में बल्कि देश और विदेश तक भी फैन्स ने काफी पसंद किया था। 17 जून, 1993 को जन्मे मूसेवाला ने पंजाब से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की और उसके बाद 2016 में स्टडी वीजा पर कनाडा चले गए। एक साल बाद उन्होंने अपना पहला ट्रैक ‘सो हाई’ रिलीज किया था, उसके बाद वो लोगों के दिलों पर राज करने लगे।

सिद्धू मूसेवाला कई बार विवादों में रह चुके थे। उनपर आरोप था की वो अपने गानों के जरिए बंदूक की संस्कृति और हिंसा को बढ़ावा देते हैं। उनके खिलाफ साल 2020 में कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने एक गाने में बंदूक की संस्कृति को बढ़ावा देने के आरोपों में आर्म्स ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया था। कोरोना महामारी के दौरान भी सिद्धू मूसेवाल अपने एक वायरल वीडियो की वजह से विवादों में आ गए थे। उस वीडियो में वह AK-47 राइफल से फायरिंग करते नजर आ रहे थे।

ये भी पढ़े https://www.duniyakamood.com/lawrence-bishnoi/

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article