fbpx

शरीर में दिखने वाले ये छोटे-छोटे बदलाव देते हैं लिवर की बीमारी का संकेत, जानें इसे दूर करने के आसान उपायों के बारे में

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

कई बार हम ऊपर से एकदम फिट दिख रहे होते हैं, लेकिन अंदर ही अंदर कई दिक्कतें होती हैं, जिन्हें हम नज़रअंदाज कर देते हैं और बाद में यह बहुत बढ़ जाती हैं, जिनका इलाज कर पाना भी मुश्किल हो जाता है। ऐसे में अगर समय रहते समस्या का समाधना लिकाल लिया जाए तो हम रोगमुक्त हो सकते हैं। बात अगर लिवर की करें तो, आपने कई बार देखा होगी की लोग लिवर खराब होने की बीमारी से परेशान हैं। यह कभी-कभी हमारे खराब खान-पान की वजह से भी होता है।

लीवर की खराबी के कई लक्षण हो सकते हैं। जैसे, मुंह से बदबू आना, आंखों के नीचे काले धब्बे पड़ना, पेट में हमेशा दर्द रहना, भोजन का सही ढंग से नहीं पचना, त्वचा पर सफ़ेद धब्बे पड़ना, पेशाब या मल गहरे रंग का होना, शरीर में कमज़ोरी का अहसास होना इत्यादि लीवर की खराबी के सामान्य लक्षण हैं। लिवर की समस्या होने के कई कारण होते हैं जैसे वायरस, शराब का उपयोग और मोटापा।

लिवर खराब होने का एक कारण मोटापा, शुगर और किसी दवा के साइड इफेक्ट भी हो सकता है। इससे fatty liver की समस्या आ सकती है। इसके अलावा कुछ लोग शराब का सेवन करते हैं। ऐसे में हेपेटाइटिस, कैंसर व शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों की वजह से लिवर में इन्फेक्शन, सूजन और गर्मी के लक्षण दिखते है। इसके अलावा कई लोग सर दर्द या शरीर के किसी भी अंग में दर्द होता है, तो उसके लिए पेन किलर खाते हैं, जो कि उस वक्त के लिए आपका दर्द दूर कर देता है, लेकिन बाद के लिए वह खतरा हो जाता है। दर्द दूर करने वाली मेडिसिन के अधिक सेवन से लिवर को नुकसान होता है। लिवर की खराबी का एक बड़ा कारण धूम्रपान करना और शराब पीना भी है। कई लोग शौख-शौख में पीते ज़रूर हैं, लेकिन इसका अधिर सेवन अधिक करने से लीवर कैंसर तक हो सकता है। इसके अलावा हेपेटाइटिस सी और बी भी liver cancer होने का एक बड़ा कारण है। अक्सर लोग अपने काम में इतना व्यस्थ रहते हैं, कि उन्हें खाने तक की फुरसत नहीं मिलती। खाने और पीने में लापरवाही और फास्ट फूड ज्यादा खाने से भी लिवर के रोग होते हैं।

लिवर का काम शरीर की पाचन क्रिया से जुड़ा होता है। इसका ठीक से काम करना हमारे लिए सबसे जरूरी होता है। लिवर में इन्फेक्शन होने पर भूख ना लगना, सीने में जलन, पेट में गैस और भारीपन जैसे symptoms दिखाई देते है। अगर लिवर ठीक से काम नहीं करता तो मुंह से बदबू भी आने लगती है और मुंह का स्वाद खराब हो जाता है। इसके एक लक्षण में पेट में सूजन, एसिडिटी और खाना ठीक से न पचना भी हो सकता है। अगर आपको गहरे रंग का पेशाब आ रहा है, तो यह लिवर की गर्मी और सूजन के सिम्पटम्स है पर अगर ऐसा एक ही बार होता है तो ये पानी की कमी से हो सकता है। इसके अलावा अगर आपको काम करते समय ज्यादा थकान होती है, त्वचा पर रूखापन और आँखों के निचे काले घेरे पड़ना भी इसी के संकेत हो सकते हैं। लिवर की कमजोरी से स्किन को काफी नुकसान पहुंचता है। इस दौरान नाखुन पीले दिखने लगते हैं। वहीं, पेशाब पीला आना और आँखों में भी पीलापन आना पीलिया की पहचान है जो एक प्रकार से liver infection है। इस समस्या की वजह से कई लोगों का तेजी से वजन भी घटने लगता है। शरीर में कमजोरी महसूस होने लगती है, जल्दी थक आना, बार बार उल्टी आना, लिवर बढ़ना, खुजली और पेट में दर्द होना लिवर कैंसर के शुरूआती लक्षण है।

Advertisement

इस समस्या का उपचार करना बेहद जरूरी होता है। लिवर की गर्मी और सूजन के उपचार के लिए पालक और गाजर का जूस मिलाकर रोज़ कम से कम 2 बार पीना चाहिए। इस घरेलू नुस्खे से लिवर के सभी प्रकार के रोग से जल्दी छुटकारा मिलता है। अगर आपको फैटी लिवर की समस्या है, तो इसके लिए आंवला आयुर्वेदिक दवा का काम करता है। कम से कम 20 से 25 ग्राम आंवले का रस या सूखे आंवले का चूर्ण 4 ग्राम की मात्रा में पानी के साथ हर रोज 3 बार पिए। 15 से 20 दिन ऐसा करने से लिवर के सभी रोग दूर होने लगते हैं।

इसके अलावा हल्दी इसका एक सबसे अच्छा उपचार है। रात को सोने से पहले 1 गिलास दूध में 1 चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से कमजोर लिवर मजबूत करने में मदद मिलती है। इसके अलावा लिवर सिरोसिस ट्रीटमेंट में रोजाना 2 बार 100-100 ग्राम प्याज खाना काफी फायदेमंद है। वहीं, कई लोग वजन कम करने के लिए ग्रीन टी पीते हैं, यह केवल मोटापा कम करने के लिए ही नहीं, बल्कि fatty liver की समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी असरदार है। इसके अलावा अपनी डाइट में फैट वाली चीजें शामिल न करे।

लिवर में मौजूद विषैले पदार्थ को खत्म करने के लिए सेब का सिरका बेहद फायदेमंद होता है। कम से कम 1 चम्मच सेब का सिरका 1 गिलास पानी में मिलाकर सेवन करें। फल चाहे कोई भी हो हर परेशानी का हल उससे मिल ही जाता है। इनमें से एक फल है पपीता, जो दिखने में तो नॉर्मल तगता है, लेकिन उसमें कई परेशानीयों को ठीक करने की हिम्मत होती है। लिवर प्रॉब्लम दूर करने में पपीता असरदार होता है खासकर liver cirrhosis के इलाज में आधा चम्मच नींबू का रस और 2 चम्मच पपीते का रस मिला कर हर रोज पीना चाहिए।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article