39.1 C
Delhi
गुरूवार, जून 20, 2024
Recommended By- BEdigitech

कुछ महान क्रिकेटर जिन्होंने बदल दिया भारतीय क्रिकेट का माहौल

सुनील गावस्कर

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने अपने करियर की शुरूआत 1966 में रणजी के मैचों में की थी। क्रिकेटर के रूप में उन्होंने कई कीर्तिमान रचे हैं। गावस्कर ने 125 मैचों में 10,122 रन बनाए हैं। इसके अलावा ये 1 साल में 1000 रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे। साथ ही इनके करियर में 34 शतक शामिल हैं। सुनील गावस्कर वर्तमान युग में क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। सुनील गावस्कर को टीम इंडिया का सबसे पहला स्टार खिलाड़ी बोला जाता है। उन्हें 1975 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और 1980 में विस्डन क्रिकेट अवार्ड से सम्मानित किया गया।

कपिल देव

1983 के उस विश्व कप को कौन भूल पाया है। भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल ऑलराउंडर खिलाड़ी कपिल देव की कप्तानी में टीम इंडिया ने 1983 में विश्व कप अपने नाम किया था। 1983 के विश्व कप के लीग मैच में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ खेली गई इनकी 175 रन की पारी हमेशा याद रखी गई है। कपिल देव भारत के एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिनकी बदौलत क्रिकेट को भारत में तेजी मिल पाई है। 1983 विश्व कप जीतने के बाद ही क्रिकेट भारत में अधिक लोकप्रिय होना शुरू हुआ था।

Advertisement

मोहम्मद अजहरुद्दीन

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रहे मोहम्मद अजरुदीन का टीम में बहुत बड़ा योगदान रहा है। मोहम्मद अजहरुद्दीन अपने क्रिकेट करियर में वनडे क्रिकेट में 7 शतक और 58 अर्धशतक लगाए हैं। अजहर ने 334 एकदिवसीय मैचों की 308 पारियों में 54 बार नाबाद रहते हुए 36.92 की औसत से 9378 रन बनाए। 99 टेस्ट मैचों में मोहम्मद अजहरुद्दीन के 6215 रन रहे हैं।

अनिल कुंबले

सबसे अच्छे खिलाड़ियों की लिस्ट में एक आते हैं अनिल कुंबले। दिल्ली के अरूण जेटली क्रिकेट मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ लिए गए एक ही पारी में 10 विकेट का रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले अनिल कुंबले ने अपने करियर में कई कीर्तिमान हासिल किए हैं। अपने दौर के टीम इंडिया के सबसे सफल स्पिनर अनिल कुंबले ने मैच के दौरान कई मुश्किलों का भी सामना किया है। वेस्टइंडीज के एक दौरे पर अनिल कुंबले का जबड़ा टूट गया था लेकिन इसके बावजूद भी यह मैदान पर गेंदबाजी करने उतरे थे। भारत की ओर से 500 विकेट लेने वाले यह पहले गेंदबाज बने थे।

रवि शास्त्री

भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री अपने दौर में एक बेहतरीन ऑलराउंडर रहे हैं। शास्त्री ने 150 वनडे और 80 टेस्ट क्रिकेट मैच खेले हैं। जिसमें इनके नाम टेस्ट में 3830 और वनडे में 3108 रन रहे। रवि शास्त्री ऑस्ट्रेलिया में दोहरा शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज थे।

सचिन तेंदुलकर

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर तो मानो क्रिकेट खेलने के लिए ही जनमे हैं। सचिन तेंदुलकर अभी तक टीम इंडिया के और भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे बड़े बल्लेबाज बोले जाते हैं। इनको भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था और सचिन यह सम्मान प्राप्त करने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पहले खिलाड़ी रहे। इसके अलावा इन्हें सन् 2008 में इनको पदम विभूषण भी दिया गया। टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो अब तक 14000 से अधिक रन बनाने वाले यह विश्व के एकमात्र खिलाड़ी रहे हैं, इनके नाम क्रिकेट में 100 शतक है।

सौरव गांगुली

सौरव गांगुली को अपने समय का नंबर वन कप्तान बताया गया। सौरव गांगुली ने विदेश में जाकर टीम को जीतना सिखाया और इनके नाम क्रिकेट में 10000 रन रहे हैं। क्रिकेट की दुनिया में 10000 रन बनाने वाले यह दुनिया के पांचवें खिलाड़ी और सचिन तेंदुलकर के बाद भारत के दूसरे खिलाड़ी रहे।

युवराज सिंह

छह गेंदों पर छह छक्के लगाने वाला वो दिन किस क्रिकेट प्रेमी को याद न हो। छह गेंदों पर छह छक्के लगाने का ये रिकॉर्ड युवराज सिंह ने अपने नाम किया है। बाएं हाथ का यह आलराउंडर खिलाड़ी टीम इंडिया का एक सफल ऑलराउंडर में से एक हैं। विश्व कप 2011 में भी इनकी की मेहनत से टीम इंडिया फाइनल में जगह बनाती हुई नजर आई थी। इन्हें 2011 विश्व कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया था।

महेंद्र सिंह धोनी

भारतीय क्रिकेट टीम के अब तक के सबसे सफल कप्तान में से एक महेंद्र सिंह धोनी पहले ऐसे कप्तान हैं जिनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने आईसीसी के सभी टूर्नामेंट के ऊपर कब्जा किया। साल 2007 में t20 विश्व कप, 2011 में विश्व कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी टीम इंडिया इन्हीं की कप्तानी में जीती। महेंद्र सिंह धोनी के नाम कई खिताब रहे हैं।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles