26.1 C
Delhi
रविवार, अप्रैल 14, 2024
Recommended By- BEdigitech

Shubman Gill: शुभमन गिल को वेस्टइंडीज़ के खिलाफ टेस्ट में क्यों नंबर 3 पर खेलना एक गलती है?

टीम इंडिया के बैट्समैन शुभमन गिल वेस्टइंडीज़ के खिलाफ आगामी दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला में नंबर 3 पर करेंगे बैटिंग

यह कदम दर्शाता है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) के तीसरे चक्र में टीम इंडिया नई दिशा में बढ़ रही है, जहां टीम चयन के मामले में साहसिक निर्णय लिए गए हैं।

ध्यान देने वाली बात यह है कि वरिष्ठ खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा को स्क्वाड में जगह नहीं मिली, जबकि नए खिलाड़ी जैसे कि रुतुराज गायकवाड़, मुकेश कुमार, और यशस्वी जायसवाल को शामिल किया गया है। जायसवाल, जो श्रृंखला के पहले मैच में अपनी डेब्यू कर चुके हैं, कप्तान रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग में काफी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे है, जिससे गिल की बैटिंग की पोजीशन में बदलाव हो गया है।

पूर्व-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, रोहित शर्मा ने निर्णय पर चर्चा की। गिल ने कोच राहुल द्रविड़ को अपनी पसंद जताई, कहते हुए कि उन्होंने अपना अधिकांश क्रिकेट नंबर 3 और नंबर 4 पर खेला है और वे यकीन रखते हैं कि वे उस स्थिति में टीम को बेहतर योगदान दे सकते हैं।

Advertisement

शर्मा ने मान्यता दी कि यह परिवर्तन एक बाएं-दाएं खुलने वाले संयोजन का निर्माण करेगा, जिसके लिए टीम उत्साहित रही है, कहते हुए कि वे आशा करते हैं कि यह एक दीर्घकालिक व्यवस्था बन जाएगी।

टीम इंडिया के लिए अपनी डेब्यू के बाद, गिल ने मुख्य रूप से एक ओपनर के रूप में खेला है, जबकि अन्य ओपनर्स जैसे कि केएल राहुल और मयंक अग्रवाल फॉर्म में संघर्ष कर रहे थे।

हालांकि, वेस्टइंडीज़ के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में नंबर 3 पर बैट करने के गिल के फैसले में संभावित कमियाँ हैं। आइए हम तीन कारणों की जांच करें कि यह कदम सही चुनाव क्यों नहीं हो सकता है।

पहली बात, एक स्थापित ओपनर को नंबर 3 पर ले जाने का संदेह है, यद्यपि टीम की इच्छा है कि एक बाएं हाथ के बैट्समैन को ओपनर के रूप में स्थान देने की।

Shubman Gill

हालांकि गिल ने स्वयं स्विच का सुझाव दिया, यह टीम की जिम्मेदारी है कि इस निर्णय के फायदे और नुकसान पर विचार करें, खासकर जब यह एक साबित खिलाडी का पोजीशन करने का मामला हो।

दूसरी बात, स्थान में अचानक परिवर्तन गिल के प्रभावशाली फॉर्म को बाधित कर सकता है। 2022 में कैरेबियन दौरे के दौरान गिल की किस्मत बदल गई थी, जहां उन्हें श्रृंखला का खिलाड़ी घोषित किया गया था। तब से वे भारतीय टीम में नियमित रूप से मौजूद रहे हैं।

हालांकि, कुछ खराब स्कोर उनके लिए कठिनाई को बढ़ा सकते हैं। भारतीय क्रिकेट में शीर्ष क्रम के लिए अत्यधिक प्रतिस्पर्धात्मक है, जहां कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी अपने अवसर की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

2023 में गिल का असाधारण वर्ष रहा है, उन्होंने ODI में शीर्ष क्रम पर अपनी जगह मजबूत की, आईपीएल में ओरेंज कैप जीती, और लाल-गेंद क्रिकेट में कई शतक बनाए। उनका फॉर्म भारत के लिए महत्वपूर्ण है जब वे एशिया कप और 2023 ODI world cup के लिए तैयारी कर रहे हैं।

यदि नंबर 3 पर स्विच असफल रहता है, तो गिल को ओपनर स्थिति में पुन: एकीकरण करना कठिन साबित हो सकता है, खासकर अगर यशस्वी जायसवाल एक ओपनर के रूप में अच्छा प्रदर्शन करते हैं।

अंत में, गिल का नंबर 3 पर जाने का फैसला एक दीर्घकालिक समाधान नहीं हो सकता है। हालांकि चेतेश्वर पुजारा और हनुमा विहारी वर्तमान में स्क्वॉड में नहीं हैं, लेकिन यह मानना अपरिपक्व होगा कि उनका अंतरराष्ट्रीय करियर समाप्त हो गया है।

पुजारा ने पहले भी अपनी जगह वापस पाई है जब उन्हें ड्रॉप कर दिया गया था, जबकि विहारी, 29 वर्षीय, एक मजबूत घरेलू सीजन के साथ वापसी कर सकते हैं।

हाल ही में अजिंक्य रहाणे ने सफलतापूर्वक वापसी की, और श्रेयस अय्यर चोट से ठीक होने के बाद वापस लौटने के लिए सेट हैं। भारत के पास बहुत सारे विकल्प हैं, और गिल का नंबर 3 पर जाने का योजना केवल अस्थायी हो सकता है, जो भविष्य की परिस्थितियों पर निर्भर है।

निष्कर्ष में, जबकि वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में शुभमन गिल को नंबर 3 पर ले जाने का निर्णय टीम इंडिया के साहसिक एप्रोच को दर्शाती है, एक स्थापित ओपनर की पोजीशन चेंज, गिल के फॉर्म कैसी रहती है नंबर 3 पर, और अन्य प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की उपलब्धता । यह देखना बाकी है कि यह कदम सफल साबित होगा या भविष्य में बैटिंग आर्डर में दुबारा से चेंज किये जायेंगे।

Read More – Yamuna water level : दिल्ली में बढ़ा बाढ़ आने का संकट, यमुना में जल स्तर डेंजर मोड पर

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles