23.1 C
Delhi
शुक्रवार, दिसम्बर 8, 2023
Recommended By- BEdigitech

क्या शनिवार को सूर्य भगवान को जल देना चाहिए या नहीं और क्या होते है सूर्य के गुप्त उपाय यहां जाने?

सूर्य नारायण को सभी ग्रहों का देवता माना जाता है और सूर्य नारायण को लेकर ऐसा कहा जाता है कि जिस पर भी सूर्य नारायण की कृपा हो जाए उसका जीवन सफलता से चमकने लगता है। इसीलिए ज्योतिष शास्त्र में भी सूर्य को रोजाना जल अर्पित करने की विधि बताई गई है।

इसके अलावा सूर्य नारायण एक मात्र ऐसे देव है जो कि हमें रोजाना अपने दर्शन देते हैं और पूरे संसार में ऊर्जा और प्रकाश प्रदान करते हैं। लेकिन एक शंका है जो अधिकतर लोगों के मन में बसी है और वह शंका ये है कि क्या शनिवार के दिन सूर्य देव को जल अर्पित किया जा सकता है।

अगर आपके भी मन में ये सवाल है तो चिंता ना करें क्योंकि आज हम आपको इससे जुड़ी सभी जानकारी देने वाले हैं। साथ ही हम आपको ये भी बताएंगे कि आखिर वह कौनसा दिन होता है जब आपको सूर्य देव को जल अर्पित नहीं करना चाहिए। तो आइए अब आपको जानकारी देना शुरू करते हैं।

Table of Contents

सबसे बड़ा सवाल कि क्या शनिवार को सूर्य भगवान को जल देना चाहिए या नहीं?

ये भी पढ़े जानें, गुरुवार का व्रत करने से क्या होता है, इसका उद्यापन कब होता है और इस व्रत में क्या खाना चाहिए ?

आइए सबसे पहले तो आपको उस सवाल का जवाब दे देते हैं जिसे जानने के लिए आप यहां आए हैं कि क्या शनिवार के दिन भगवान सूर्य को आप जल अर्पित कर सकते हैं या फिर नहीं। अगर आपका भी यही सवाल है तो पहले आप हमारे एक सवाल का जवाब दीजिए कि क्या सूर्य देव आपको कभी अपने प्रकाश से वंचित रखते हैं ?

नहीं ना तो आपने ये कैसे सोच लिया कि सूर्य देव को शनिवार के दिन जल नहीं अर्पित करना चाहिए। जिस प्रकार से सूर्य धरती पर अपना प्रकाश फैलाने से नहीं रूकते उसी प्रकार आपको भी उन्हें जल अर्पित करना नहीं रोकना चाहिए। आप किसी भी दिन सूर्य देव को जल अर्पित कर सकते हैं।

जानिए सूर्य के गुप्त उपाय क्या होते हैं ?

आंखों की कमजोरी दूर होती है

अगर किसी व्यक्ति की आंखों में परेशानी हो तो उसे रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि जब हम सूर्य को जल अर्पित करते हैं तो उस जल में देखने से आंखों में हो रही सभी प्रकार की परेशानी दूर हो जाती है।

नौकरी में मिलती है उन्नति

अगर आप रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करते हैं तो इससे जल चढ़ाने वाले व्यक्ति को उसकी नौकरी में उन्नति प्राप्त होती है और नौकरी में मान-सम्मान भी मिलता है।

राजनीतिक जीवन प्रकाशमय होता है

अगर कोई ऐसा व्यक्ति हो जो कि एक लंबे समय से राजनीति में हो और उसे राजनीति के क्षेत्र में उन्नति नहीं मिल रही हो। तो ऐसे व्यक्ति को सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से उस व्यक्ति की प्रतिभा बढ़ती है और कई प्रकार के राजनीतिक लाभ भी मिलते हैं।

पिता का मिलता है सहयोग

जिस परिवार में बेटे और पिता की आपस में ना बन रही हो उस बेटे को रोजाना भगवान सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से पिता और बेटे की आपस में बनने लगती है।

हृदय रोग से मिलता है छुटकारा

अगर किसी व्यक्ति को हृदय रोग की समस्या हो तो ऐसे व्यक्ति को तो खास सूर्यदेव को जल अर्पित करना ही चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से उस व्यक्ति को हृदय से जुड़ी हो रही सभी प्रकार की समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है।

मान-सम्मान में होती है वृद्धि

अगर आप रोजाना सूर्यदेव को जल अर्पित करते हैं तो ऐसा करने से मान-सम्मान में वृद्धि होती है और सभी कार्य भी बनने लगते हैं।

त्वचा रोगों में मिलता है फायदा

अगर आपको त्वचा से जुड़ी परेशानी हो तो आपको रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए क्योंकि रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करने से त्वचा से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती है।

आप सूर्य भगवान को जल चढ़ाने के नियम का जरूर रखें ध्यान ?

अब हम आपको कुछ नियम बताने जा रहे हैं जिन्हें आपको सूर्य देव को जल अर्पित करते हुए ध्यान में रखना चाहिए। अगर आप इन नियमों का ध्यान रखेंगे तो आपको सूर्य देव की कृपा जरूर मिलेगी।

सूर्य देव को सूर्योदय के वक्त अर्पित करें जल

सूर्योदय से पहले छोड़ दे अपना बिस्तर

सूर्य देव को स्नान के बाद ही अर्पित करें जल

सूर्य देव को सदैव तांबे के लौटे से ही जल अर्पित करें

जब आप सूर्यदेव को जल अर्पित करें तो लौटे को दोनों हाथों से पकड़े और तभी जल अर्पित करें

सूर्यदेव को अर्पित किए जाने वाले जल में कुमकुम, अक्षत तथा लाल पुष्प डालकर ही जल अर्पित करें

जब भी आप सूर्य देव को जल अर्पित करें तो बहती हुई धारा को जरूर देखें

सूर्य देव को हमेशा पूर्व दिशा की तरफ देखते हुए ही जल चढ़ाएं

सूर्य देव को जल अर्पित करते हुए ऊँ सूर्याय नमः का जाप जरूर करें

जब आप जल अर्पित कर दें तो एक बार सूर्य देव की परिक्रमा अवश्य करें

सूर्य देव को हमेशा नंगे पांव ही जल अर्पित करें

जब भी आप जल अर्पित करें तो ध्यान रहे कि आपका जल ना तो आपके पैरों को स्पर्श करे और ना ही दूसरे के पैरों में आए।

ये भी पढ़े शनि की टेढ़ी नजर पर है ये 5 राशियां, अगर करना चाहते हैं अपना बचाव, तो शनिचरी अमावस्या पर करें ये खास उपाय ?

Recommended By- BEdigitech
शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles