32.1 C
Delhi
मंगलवार, मई 21, 2024
Recommended By- BEdigitech

जानें, High Cholesterol kam karne ke gharelu upay, कारगर एक्सरसाइज और जरूरी योगासन!

Cholesterol kam karne ke gharelu upay: कोलेस्ट्रॉल बढ़ना एक बड़ी समस्या हो सकता है, देश में इसके काफी अधिक मात्रा में मामले आने लगे है। इसके अधिकतर कारण गंदा पदार्थों का खून की नसों में जमना होता है। कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से नसों के रोग, दिल के रोग, स्ट्रोक और हार्ट अटैक जैसी गंभीर जानलेवा बीमारियां भी हो सकती हैं। चलिए जानें, कोलेस्ट्रॉल क्या होता है, इसके बढ़ने के लक्षण, कम करने के लिए क्या खाना चाहिए, एक्सरसाइज और योग।

Table of Contents

कोलेस्ट्रॉल क्या है? (Cholesterol kya hai?)

कोलेस्ट्रॉल एक मोम जैसा या वसा जैसा पदार्थ होता है, जो हमारे शरीर में कोशिका झिल्ली, कुछ – कुछ हार्मोन और विटामिन D को बनाने के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें, कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार के होते है। एक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और दूसरा एचडीएल कोलेस्ट्रॉल। बता दें एलडीएल कोलेस्ट्रॉल गंदा होता है क्योंकि इससे शरीर में असली परेशानी जुड़ी होती है। वहीं इसके अलावा एचडीएल कोलेस्ट्रॉल शरीर में अच्छा होता है और हमारे कामकाज के लिए बेहद सहायक होता है।

हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण (Cholesterol ke Lakshan)

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाने पर आपको इस प्रकार के लक्षण देखने को मिल सकते है –

– जी मिचलाना

Advertisement

– शरीर सुन्न होना

– अधिक थकान

– सीने में दर्द

– एनजाइना

– सांस लेने में परेशानी

– हाथ-पांव में ठंडक

– हाई ब्लड प्रेशर

कोलेस्टेरॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke gharelu upay)

Cholesterol kam karne ke gharelu upay

ये भी पढ़े  ये काली चीजें होती है सेहत के खजाने के समान, अपनी डाइट में करें शामिल और पाइए अच्छी सेहत का वरदान ?

लहसुन (Lehsun)

शरीर में कोलेस्टेरॉल के बढ़ने पर आप लहसुन (Lehsun) का भी सेवन कर सकते है, जो आपके लिए बेहद फायदेमंद होता है। हाई कोलेस्टेरॉल को ठीक करने के लिए आप रोजाना सुबह शाम लहसुन का सेवन कर सकते है, ऐसा करने से आपको बहुत जल्द इससे छुटकारा मिल सकता है।

सेब का सिरका (seb ka sirka)

कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा होने पर आप सेब के सिरके (seb ka sirka) का भी सेवन कर सकते है, इससे काफी हद तक इसे कम किया जा सकता है। इसका सेवन करने के लिए आपको पहले एक गिलास पानी ले लेना है और इसमें दो चम्मच सेब का सिरका मिलकार उसका सेवन करना चाहिए। ऐसे करने से हाई कोलेस्ट्रॉल में आपको काफी ज्यादा फायदा देखने को मिल जाता है।

मेथी का पानी (methi ka pani)

कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने पर आप मेथी के पानी (methi ka pani) का भी सेवन कर सकते है। आपको बता दें, इसका सेवन करने से आपको हाई कोलेस्ट्रॉल में बेहद फायदा देखने को मिलता है। मेथी में बहुत से ऐसे तत्व होते है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार होते है।

मछली का तेल (machli ka tel)

मछली के तेल का सेवन करने से आप हाई कोलेस्टेरॉल को कम कर सकते है। आपको बता दें, मछली के तेल (machli ka tel) में Omega 3 फैटी एसिड होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में बेहद फायदेंमद होता है।

नींबू (neembu)

आपकी जानकारी के लिए बता दें, नींबू (neembu) में बहुत से गुण पाए जाते है जो हाई कोलेस्टेरॉल को कम करने में बहेद फायदेमंद होते हैं। यदि आपका हाई कोलेस्टेरॉल है तो ऐसे में आपको अपनी डेली डाइट में नींबू को शामिल कर सकते है। ऐसा करने से आप बहुत जल्द कोलेस्टेरॉल के स्तर को कम कर सकते है।

अर्जुन की छाल (arjun ki chal)

हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर अर्जुन की छाल (arjun ki chal) से बनने वाला काढ़ा आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है, इसका सेवन करने से आपका कोलेस्टेरॉल कम होने लगता है।

सेंधा नमक (sendha namak)

शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर के बढ़ने पर आपको साधारण नमक (sendha namak) का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए इससे आपका कोलेस्ट्रॉल स्तर अधिक होने लगता है। हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर आपको सेंधा नमक का सेवन करना चाहिए जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

आंवला और एलोवेरा (amla aloevera)

हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर आप डेली सुबह आंवला और एलोवेरा (amla aloevera) के जूस का सेवन कर सकते है। ऐसा करने से आप बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल कर सकते है।

खट्टे फलों को खाएं (khatte fruits khaye)

शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर का बढ़ने पर आप खट्टे फल (khatte fruits) का सेवन कर सकते है, इसमें आप संतरा और अंगूर आदि फलों को खा सकते है। इसके अलावा यदि आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है तो आपको रोजाना कुछ देर पैदल चलना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज (cholesterol kam karne ki Exercise)

cholesterol kam karne ki Exercise

जॉगिंग और रनिंग (Jogging and Running)

रनिंग और जॉगिंग करने से कोलेस्ट्रॉल कम करने में बेहद मदद मिलती है। जॉगिंग और रनिंग से अधिक कैलोरी बर्न होती है। 30 मिनट में आपके शरीर में 250 से 300 कैलोरी बर्न की जा सकती है।

एरोबिक डांस (Aerobic Dance)

कोलेस्ट्रॉल अधिक होने पर आप एरोबिक डांस एक्स रसाइज को भी कर सकते है। इससे कोलेस्ट्रॉलल के साथ साथ मोटापे को भी कंट्रोल किया जा सकता है। इसे आपको 30 से 45 मिनट तक करना होता है।

रस्सा् कूदना (Rassa Kudhna)

रस्सा् कूदना एक हाई इंटेंसिटी एक्सीरसाइज है जो हमारी बॉडी को मजबूत बनाएं रखने के साथ साथ कोलेस्ट्रॉरल कंट्रोल करने में मददगार साबित होता है।

साइकलिंग (cycling)

साइकल चलाना भी हाई इंटेंसिटी एक्सलरसाइज मानी जाती है, जो कोलेस्ट्रॉ ल, मोटापा, डायबिटीज और हार्ट डिजीज को स्तर में बनाएं रखता है। हाई कोलेस्ट्रॉनल कम करने के लिए आपको 30 मिनट तक साइकलिंग करनी चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग (cholesterol kam karne ke liye Yog)

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar)

हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर आप सूर्य नमस्कार योगासन को भी सकते है, ऐसा करने से आपकी पेट की मांसपेशियों में खिंचाव होता है। सूर्य नमस्कार कभी भी आपको जल्दबाजी में नहीं करना चाहिए।

कपालभाति प्राणायाम (Kapalbhati Pranayam)

आपको बता दें कपालभाती योगसन को शरीर से अन्य अपशिष्ट और विषाक्त पदार्थों को बहार निकालने के लिए किया जाता है। हाई कोलेस्ट्रॉल में कपालभाती आपके के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। कपालभाति प्राणायाम को माइग्रेन, प्रेग्नेंसी, ब्लड प्रेशर और पीरियड्स में नहीं करना चाहिए।

सर्वांगासन (Sarwagasan)

सर्वांगासन का अर्थ संपूर्ण शरीर के सभी अंगो के लिए महत्वपूर्ण योग मुद्रा होती है। बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में सर्वांगासन योग आपके लिए बेहद फायदेमंद होती है। इस आसन को कभी भी भूलकर हर्निया की समस्या, चोट लगने, थायराइड की समस्या और दिल की बिमारी में ना करें।

चक्रासन (chakrasana)

चक्रासन को करने से आपके पेट के सभी अंगों की मसाज होने लगती है और कब्ज से निजात मिलती है। इस आसान को करने से लिवर में सुधार होता है और एक्स्ट्रा फैट और कोलेस्ट्रॉल से छुटकारा मिलता है।

ये भी पढ़े  इन सब्जियों को कभी भी न खाएं कच्चा, सेहत को हो सकते हैं कई नुकसान ?

Disclaimer: दुनिया का मुड के इस आर्टिकल में उल्लिखित सभी सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के आधार पर ही है। इन्हें अपने जीवन में शामिल करने से पहले किसी पेशेवर डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles