fbpx

किम जोंग-उन शैतान हैं या भगवान

Must read

उत्तर कोरिया के बाहर की दुनिया में किम जोंग-उन को एक राक्षस के रूप में पेश किया जाता है या एक मसखरे के रूप में जो लंदन के एक नार्ई के पास अपने भाड़े के गुंडे भेजता है जो उसके बालों की कटाई का मज़ाक उड़ाता है। या एक मोटे प्लेबॉय के रूप में जिसे स्विस चीज़, तेज कारें और तेज़तर्रार महिलाएं पसंद हैं।

लेकिन उत्तर कोरिया में वह एक सम्राट हैं, सर्वोच्च नेता जिसको वहां की जनता भगवान समझती है। उनकी प्रजा उनके लिए तब तक ताली बजाती है जब तक उनके हाथ छिल ना जाएं।

किम जोंग उन, ये दुनियाभर के सबसे क्रूर शासकों में से एक हैं। ये उत्तर कोरिया की सत्ता पर वर्ष 2011 से ही काबिज हैं। इन्होंने सबसे ज्यादा सुर्खियां वर्ष 2019 में बटोरी, जब इनकी भिड़ंत अमेरिका के तत्तकालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से हुई। ट्रंप ने तब इन्हें रॉकेट मैन कहकर संबोधित किया था।

दादा जैसा दिखने के लिए करवाई प्लास्टिक सर्जरी!

Advertisement

ज्यादातर लोग अपने चेहरे को सुंदर दिखाने के लिए और कुछ चेहरे की खामियों को ठीक करने के लिए प्लास्टिक सर्जरी कराते हैं, लेकिन उत्तर कोरिया के 27 वर्षीय उत्तराधिकारी किम जोंग-उन अपने दादा की तरह दिखने के लिए प्लास्टिक सर्जरी कराने चले गए।

तीन साल की उम्र में चलाते थे गाड़ी!
क्या हुआ यकीन नहीं हुआ ना? हमें भी नहीं होता। लेकिन नॉर्थ कोरिया में लोग यही मानते हैं कि उनके नेता ने सिर्फ तीन साल की उम्र में कार चलाना सीख लिया था। इतना ही नहीं बच्चों को भी स्कूलों में यह पढ़ाया जाता है। यह भी कहा जाता है कि 9 साल की उम्र में उन्होंने नाव की रेस में एक नाव कंपनी के मालिक को ही रहा दिया था।

अगला नंबर मेरा’ का अहसास
इससे पता चलता है कि उस व्यक्ति को समझना कितना मुश्किल है। दुनिया भर में जिस व्यक्ति की छवि से नफ़रत की जाती है। दोनों तरफ़ के प्रचार करने वाले या तो उनकी छवि को चमकाते हैं या दाग़दार करते हैं। अचानक और अप्रत्याशित मौत के डर की वजह ताक़तवर लोग पहले हरकत में आ सकते हैं।

लीड्स विश्वविद्यालय में मानद सीनियर रिसर्च फेलो, एडान फ़ोस्टर-कार्टर कहते हैं-

“अगर राजभक्तों को लगता है कि, किसी भी समय और बिना वजह के, अगला नंबर उनका हो सकता है तो उनकी राजभक्ति कमज़ोर पड़ने लगती है और इससे वह उनका साथ छोड़ने की ओर भी बढ़ सकते हैं।”

या इससे भी बुरा हो सकता है, “अगर संपन्न लोग सुरक्षित महसूस नहीं करते, तो आप सोचिए कि किन परिस्थितियों में वे आपके ख़िलाफ़ जा सकते हैं।”

लोगों पर नेट चलाने की पाबंदी, बाहरी दुनिया से काटकर रखा
किम को हमेशा से क्रूर शासक के तौर पर देखा जाता है। नॉर्थ कोरिया की उतनी ही खबरें लोगों तक पहुंचती हैं जितना किम चाहते हैं। अपने लोगों पर भी उन्होंने तरह-तरह की पाबंदी लगा रखी हैं। जैसे वहां वह इंटरनेट नहीं चलता जो आप-हम चलाते हैं। बाकी दुनिया के लोगों के नॉर्थ कोरिया के लोगों का नाममात्र को संपर्क है। उत्तर कोरिया में लोगों के इंटरनेट पर नजर रखी जाती है कि वो क्या देख रहे हैं और क्या सुन रहे हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि वहां पर लोगों के खाने-पीने से लेकर हर वो काम जो व्यक्ति इंटरनेट की दुनिया में करता है उसपर किम की नजर रहती है।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article