fbpx

Paracetamol tablet uses in hindi | पेरासिटामोल लेने से पहले जाने ये जरूरी बातें, इन दवाओं के साथ भूले से ना करें इसका सेवन!

Must read

Paracetamol tablet uses in hindi (पैरासिटामोल टेबलेट का उपयोग हिंदी में) आज इस आर्टिकल के माध्यम हम जानेंगे की पैरासिटामोल टेबलेट का उपयोग कैसे करते हैं, पैरासिटामोल टेबलेट क्या हैं , पेरासिटामोल खाने के फायदे और नुकसान, पेरासिटामोल टैबलेट price , पेरासिटामोल टैबलेट Dosage और इस दवा को लेने के तरीके।

हमारे भारत देश में अधिकतर लोग पैरासिटामोल का इस्तेमाल करते हैं। हल्का बुखार आने पर या बदन दर्द से राहत के लिए हर चीज में लोग काल्पोल (Calpol), क्रोसिन (Crocin), डोलो (Dolo), सूमो एल (Sumo L), कांबीमोल (Kabimol), पेसीमोल (Pacimol) जैसी पैरासिटामोल की दवा ले लेते हैं। लेकिन अधिकांश लोग इसकी सही मात्रा के बारे में नहीं जानते हैं। आपके फर्स्ट एड बॉक्स में भी पेरासिटामोल एक जरूरी दवा के रूप में रहती है।
बता दें पैरासिटामोल में स्टेरॉयड होता है, इसलिए इसकी अनुचित खुराक आपको भारी नुकसान पहुंचा सकती है। पैरासिटामोल का इस्तेमाल आमतौर पर बुखार, माइग्रेन, पीरियड पेन, सिर दर्द, दांत दर्द, बदन दर्द जैसा दिक्कतों में किया जाता है।

कभी तो हम इसका इतना इस्तेमाल कर लेते हैं कि अपने बच्चों के लिए भी हम इसकी आधी गोली दे देते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि कुछ स्थितियों में ये सबसे सुरक्षित दवा भी जोखिमकारक हो सकती है। कोई भी दवा जब वह बिना डॉक्टरी सलाह के या अत्यधिक मात्रा में लें ली जाती है, तो वह स्वास्थ्य के लिए परेशानियां खड़ी कर सकती है। पेरासिटामोल जिसे अभी तक सबसे सुरक्षित दवा माना जाता है, आज हम अपने आर्टिकल में इस दवा के ऊपर ही बात करेंगे। हम जानेंगे कि पैरासिटामोल क्या है और इसकी कितनी डोज कब और कैसे लेनी चाहिए। साथ ही हम जानेंगे कि हमें इसका इस्तेमाल किस समय करना चाहिए और सबसे बड़ा सवाल क्या पैरासिटामोल हमारे शरीर को नुक्सान पहुंचा सकतीं हैं इस पर बात करें करेंगे तो आइए-

Table of Contents

Advertisement

पेरासिटामोल क्या होता है? What is Paracetamol

पेरासिटामोल दर्द और दर्द के इलाज के लिए आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली दर्द निवारक दवा है। यह बुखार को कम करने में भी मदद करता है पेरासिटामोल, जिसे एसिटामिनोफेन भी कहा जाता है, एक एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) और ज्वरनाशक (बुखार कम करने वाली) दवा है। पेरासिटामोल कुछ रासायनिक संदेशवाहकों के उत्पादन को अवरुद्ध करके काम करता है जो दर्द और बुखार का कारण बनते हैं। शरीर में कुछ ऐसे रसायन होते हैं जिन्हें प्रोस्टाग्लैंडीन के नाम से जाना जाता है। ये रसायन दर्द या किसी बीमारी की प्रतिक्रिया में उत्पन्न होते हैं। पेरासिटामोल इन प्रोस्टाग्लैंडीन के उत्पादन को रोकता है, इस प्रकार बुखार और दर्द को कम करता है। पेरासिटामोल मस्तिष्क के उस क्षेत्र पर भी कार्य करती है जो तापमान को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होता है और इसलिए शरीर की गर्मी को नियंत्रित करने में मदद करता है।

पैरासिटामोल उत्पादों के प्रकार

पैरासिटामोल बहुत से निर्माताओं द्वारा बहुत से अलग-अलग ब्रांड नामों से बेची जाती हैं। इसे अक्सर अन्य पदार्थों के साथ मिलाया भी जाता है। उदाहरण के लिए इसे एक सर्दी-खाँसी की दवा के साथ मिलाया जा सकता है और एक सर्दी और जुकाम की दवा के रूप में बेचा जा सकता है।

पैरासिटामोल के हिंदी में उपयोग | Paracetamol tablet uses in hindi

पैरासिटामोल का उपयोग उन लोगों को सावधानी से करना चाहिए जिन्हें लिवर या किडनी से संबंधित समस्याएँ हैं, या जिनकी शराब पर निर्भरता है।

इसके दुष्प्रभाव दुर्लभ हैं और इनमें चकते या रक्तचाप कम होना शामिल हैं। पैरासिटामोल कुछ अन्य दवाओं के साथ भी क्रिया कर सकती है, जिसमें कैंसर या मिर्गी का इलाज करने के लिए ली गयी दवाएं शामिल हो सकती हैं। पैरासिटामोल का उपयोग हम बुखार, माइग्रेन, पीरियड पेन, सिर दर्द, दांत दर्द, बदन दर्द जैसा दिक्कतों में कर सकते ह।

पैरासिटामोल का बच्चों में प्रयोग

आपको बता दें, शिशुओं और बच्चों को बुखार या दर्द का इलाज करने के लिए पैरासिटामोल दी जा सकती है, अगर उनकी आयु 2 महीने से अधिक हो। जो शिशु 2 या 3 महीने के हों, अगर उनमें टीकाकरण के बाद अधिक तापमान या बुखार हो तो उन्हें पैरासिटामोल की एक खुराक दी जा सकती है। इस खुराक को 6 घंटे के बाद एक बार दोहराया जा सकता है।

बच्चों को यह दवा देने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें इसके बाद भी पर्ची पर बताए गए सही खुराक का पता करके ही बच्चे को इसे दें। जब पैरासिटामोल शिशुओं या बच्चों को दी जाती है, तो उसकी सही खुराक इन चीज़ों पर निर्भर करती है:

  • बच्चे की उम्र
  • बच्चे का वजन
  • पैरासिटामोल की शक्ति – यह आमतौर पर मिलीग्राम (mg) में होती है
  • यदि आपके शिशु या बच्चे का बुखार ठीक नहीं होता है या उसे फिर भी दर्द रहता है, तो अपने डॉक्टर से बात कीजिए।

पैरासिटामोल के दुष्प्रभाव

अधिकांश लोग बिना किसी समस्या के पेरासिटामोल ले सकते हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह आपके लिए सही उपचार है, इसे लेने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें। पैरासिटामोल के दुष्प्रभाव बहुत कम होते हैं। हालाँकि दुष्प्रभावों में ये शामिल हो सकते हैं:-

  • खुजली और चकते
  • जब अस्पताल में इन्फ्यूज़न (आपकी बाजू की नस में लगातार दवा की ड्रिप) से पैरासिटामोल दी जाती है तो हाइपोटेंशन (कम रक्तचाप) होना।
  • जब अनुशंसित से ज्यादा खुराक ली जाए तो लीवर और किडनी को नुकसान पहुँचना।
  • बहुत अधिक गंभीर मामलों में पैरासिटामोल की अधिक मात्रा लेने से हुई लिवर की खराबी जानलेवा भी हो सकती है।

पेरासिटामोल टैबलेट मात्रा (paracetamol tablet Dosage)

सुनिश्चित करें कि आप पैरासिटामोल लेबल में दिए गए निर्देशों या स्वास्थ्यकर्मी के निर्देशों के अनुसार लें। जब तक कि आपको विशेष रूप से न कहा गया हो, 24 घंटे में पैरासिटामोल की 4 से अधिक खुराक न लें। यदि आपको लगे कि आपने बहुत अधिक पैरासिटामोल ले ली है, तो अपने डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्यकर्मी से तुरंत मिलें।

पेरासिटामोल की अनुशंसित खुराक इस प्रकार हैं:

  • वयस्कों और 16 वर्ष और उससे अधिक आयु के बच्चों के लिए: प्रत्येक 4-6 घंटे तक 500 मिलीग्राम-1 ग्राम, प्रतिदिन अधिकतम 4 ग्राम।
  • 12-15 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 480-750 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 10-11 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 480-500 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 8-9 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 360-375 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 6-7 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 240-250 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 4-5 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 240 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 2-3 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 180 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 6 महीने से 1 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 120 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • 3-5 महीने के बच्चों के लिए: प्रतिदिन प्रत्येक 4-6 घंटे पर 60 मिलीग्राम की अधिकतम चार खुराक।
  • टीकाकरण के बाद 2 महीने से अधिक आयु के बच्चों के लिए: 60 मिलीग्राम, यदि आवश्यक हो तो 4-6 घंटे बाद एक बार दोहराया जा सकता है।

पैरासिटामोल रक्त के अन्य विकारों जैसे thrombocytopenia (प्लेटलेट्स की कमी) और leucopenia (श्वेत रक्त कणिकाओं की कम संख्या) से भी संबंधित हो सकती है, हालाँकि यह बहुत दुर्लभ है।

पेरासिटामोल टैबलेट price

Templist-650 (Paracetamol-650mg)
₹ 190/ Box

Paracetamol Tablets
₹ 30/ Strip

Paracetamol Tablets 650 mg
₹ 200/ Box

ड्राइविंग क्षमता (Driving ability)

माना जाता है कि अनुशंसित खुराक में ली गयी पैरासिटामोल आपकी ड्राइव करने की क्षमता में हस्तक्षेप नहीं करती है।

पैरासिटामोल की अन्य दवाओं के साथ क्रिया- प्रतिक्रिया

जब एक ही समय में दो या अधिक दवाएं ली जाती हैं, तो एक दवा के प्रभाव में दूसरी से बदलाव आ सकता है। इसे दो दवाओं के बीच की क्रिया- प्रतिक्रिया के रूप में जाना जाता है। कुछ मामलों में, इसी क्रिया- प्रतिक्रिया की वजह से एक दवा को दूसरी के साथ लेना सुरक्षित नहीं हो सकता है।

पैरासिटामोल निम्नलिखित दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकती है:

  • बुसल्फान (busulfan) कुछ प्रकार के कैंसर का इलाज करती है।
  • कोलस्टिरमाइन (colestyramine) प्राथमिक बाइल सिरोसिस (एक प्रकार का यकृत रोग) के कारण होने वाली खुजली सहित कई स्थितियों का इलाज करती है।
  • कुमरिन्स (coumarins) ये तरल थक्कारोधी दवाओं (रक्त के थक्के को रोकने के लिए दवाएं) में मौजूद हैं, जैसे कि वार्फरिन (नीचे देखें)
  • डोमपरिडोन (domperidone) उलटी से राहत देती है और अपच सहित कई स्थितियों का इलाज करती है।
  • मेटोक्लोप्रमाइड (metoclopramide) बीमारी से राहत देती है और अपच सहित कई स्थितियों का इलाज करती है।

यह जाँचने के लिए कि आपकी दवाएं पैरासिटामोल के साथ लेने के लिए सुरक्षित हैं, आप ये कर सकते हैं:

  • अपने डॉक्टर या स्थानीय फार्मासिस्ट से पूछें
  • अपनी दवा के साथ निकलने वाली मरीज को दी जाने वाली सूचना की पर्ची को पढ़ें।

वारफरिन (Warfarin)

वारफरिन (Warfarin) एक थक्कारोधी (रक्त को पतला करने वाली) दवा है, जिसका उपयोग इस तरह की स्थितियों को रोकने और उनके उपचार के लिए किया जाता है:

  • deep vein thrombosis शरीर की गहरी नसों में से एक में एक रक्त का थक्का
  • strokes जहां मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति प्रतिबंधित है

यदि आप वारफारिन लेते हैं, तो पैरासिटामोल के लंबे समय तक नियमित उपयोग से इसका थक्कारोधी प्रभाव बढ़ सकता है, जिससे आपके रक्त का थक्का बनना मुश्किल हो जाता है। इससे रक्तस्राव का खतरा बढ़ सकता है। ऐसा माना जाता है कि पैरासिटामोल की कभी कभार ली जाने वाली खुराक से ऐसा नहीं होता ।

पैरासिटामोल युक्त दवाएं

जब तक आपको डॉक्टर या मेडिकल स्टोर से दवाई देना वाला व्यक्ति किसी अन्य उत्पाद के साथ पैरासिटामोल लेने के लिए नहीं बताता है तब तक आपको नहीं लेनी चाहिए, जिनमें पैरासिटामोल मिला हो, जैसे डायड्रामोल, को-कोडामोल और ट्रामासेट। यह पैरासिटामोल के अधिक खुराक ले लेने के जोखिम के कारण है।

पैरासिटामोल की छूटी हुई या अतिरिक्त खुराक

पैरासिटामोल को दवा के पैकेट या दवा के साथ निकलने वाली मरीज को दी जाने वाली सूचना की पर्ची के अनुसार या अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट के निर्देशानुसार लें।

पैरासिटामोल की खुराक आमतौर पर हर चार से छह घंटे में ली जाती है। सुनिश्चित करें कि आप खुराक के बीच इतने समय का अंतराल रखते हैं और 24 घंटे की अवधि के लिए अधिकतम खुराक से अधिक नहीं लेते हैं।

  • छूटी हुई खुराक

यदि आप पैरासिटामोल की अपनी खुराक लेना भूल जाते हैं, तो अपनी दवा के साथ निकलने वाली मरीज को दी जाने वाली सूचना की पर्ची देखें। याद आने पर आप छूटी हुई खुराक ले सकते हैं, या आप इसे पूरी तरह से छोड़ सकते हैं।

  • अतिरिक्त खुराक

यदि आप गलती से पैरासिटामोल की एक अतिरिक्त खुराक ले लेते हैं, तो आपको अगली खुराक को छोड़ देना चाहिए ताकि आप 24 घंटे की अवधि के लिए अनुशंसित अधिकतम खुराक से अधिक न लें। यदि आप चिंतित हैं या अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

  • यदि आपने पैरासिटामोल की अनुशंसित अधिकतम खुराक से अधिक ले ली है, तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए या दुर्घटना और आपातकालीन विभाग में तुरंत जाना चाहिए। बहुत अधिक पैरासिटामोल लेने से लीवर खराब हो सकता है। यह जी मचलना (बीमार महसूस करना) और उल्टी (बीमार होना) जैसे लक्षण पैदा कर सकता है जो लगभग 24 घंटे तक रहती है।

बहुत अधिक पैरासिटामोल लेने से ये हो सकते हैं दुशप्रभाब:

  1. एन्सेफैलोपैथी (मस्तिष्क की क्रियाओं के साथ समस्याएं)
  2. रक्तस्त्राव (रक्तस्राव)
  3. हाइपोग्लाइसिमिया (निम्न रक्त शर्करा)
  4. मस्तिष्क फूलना (मस्तिष्क पर द्रव)
  5. मौत

पैरासिटामोल के अलग-अलग नाम

पेरासिटामोल दर्द और दर्द के इलाज के लिए आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली दर्द निवारक दवा है। पैरासिटामोल कई अलग-अलग दवा निर्माताओं द्वारा बनाई जाती है, जिनमें से प्रत्येक अपने उत्पाद को एक अलग ब्रांड नाम देता है। कुछ देशों में, पैरासिटामोल को एसिटामिनोफेन के रूप में जाना जाता है।

पैकेजिंग में यह बताया जाना चाहिए कि किसी उत्पाद में पैरासिटामोल है या नहीं और कितनी है। यह आमतौर पर मिलीग्राम (मिलीग्राम) में होगी। उदाहरण के लिए, एक पैरासिटामोल टैबलेट में 500 मिलीग्राम पैरासिटामोल हो सकती है।

पैरासिटामोल इन रूपों में उपलब्ध है:

  • गोलियाँ
  • कैपलेट्स
  • कैप्सूल
  • घुलनशील गोलियाँ (ये पानी में घुल जाती हैं, जिसे आप पीते हैं)
  • एक oral suspension (तरल दवा)
  • सपोसिटरीज़, जो आपके गुदा में डाली जाती हैं (वह स्थान जहाँ से आपका शरीर बेकार चीज़ें बाहर निकालता है)
  • पैरासिटामोल के तरल रूप, विशेष रूप से बच्चों के लिए होते हैं।

• पैरासिटामोल अन्य दवाओं के साथ

कुछ उत्पादों में, पैरासिटामोल को अन्य अवयवों के साथ मिलाया जाता है। उदाहरण के लिए, इसे एक सर्दी-खाँसी वाली दवा (एक प्रकार की दवा जो एक बंद नाक के लिए अल्पकालिक राहत प्रदान करती है) के साथ मिलाया जा सकता है और ठंड और फ्लू के उपाय के रूप में बेचा जा सकता है। पैरासिटामोल को अन्य दर्द निवारक दवाओं के साथ भी मिलाया जा सकता है, जैसे:

  • को-कोडमोल (पैरासिटामोल और कोडीन)
  • को-डायड्रामोल (पैरासिटामोल और डायहाइड्रोकोडीन)
  • ट्रामासेट (पैरासिटामोल और ट्रामाडोल)

• विशेष ध्यान देने वाली बातें

जब आप पैरासिटामोल लें तो पैकेट या दवा के साथ निकलने वाली मरीज को दी जाने वाली सूचना की पर्ची पर लिखी अधिकतम खुराक से ज्यादा मात्रा न लें। पैरासिटामोल को किसी ऐसे अन्य उत्पाद के साथ न लें जिसमें पैरासिटामोल मिला हो।

पैरासिटामोल का प्रयोग उन लोगों में सावधानी से किया जाना चाहिए जिनमें ये समस्याएँ हों:

  • लीवर की समस्याएं
  • किडनी की समस्या
  • शराब पर निर्भरता

आमतौर पर किडनी की समस्या वाले लोगों के लिए पैरासिटामोल खाना सुरक्षित होता है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात कीजिए।

• गर्भावस्था (Pregnancy)

अधिक तापमान (बुखार) को कम करने और दर्द से राहत के लिए पैरासिटामोल का गर्भावस्था की हर स्टेज में नियमित रूप से प्रयोग होता है। इस बात के कोई स्पष्ट प्रमाण नहीं है कि पैरासिटामोल के शिशुओं पर नुकसानदायक प्रभाव होते हैं।

जैसा कि गर्भावस्था के दौरान प्रयोग की जाने वाली हर दवा के साथ किया जाता है, पैरासिटामोल की कम से कम संभव मात्रा न्यूनतम संभव समय के लिए लेनी चाहिए।

• स्तनपान (Breastfeeding)

स्तनपान के समय दर्द से राहत के लिए पैरासिटामोल को सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है। स्तन दुग्ध में जा सकने वाली पैरासिटामोल की मात्रा इतनी कम होती है कि शिशु को उससे कोई नुकसान नहीं पहुँचता।

ये भी पढ़े Lycopodium 200 uses in hindi | लाइकोपोडियम क्या है और इसे किस लिए उपयोग किया जाता है, जाने इस्तेमाल करने के दिशानिर्देश

paracetamol 500 tablet uses in hindi

aceclofenac paracetamol tablet uses in hindi

paracetamol tablet uses in hindi 650 mg

पेरासिटामोल खाने के फायदे और नुकसान

पेरासिटामोल खाने के नुकसान

पेरासिटामोल 650 dolo

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article