14.1 C
Delhi
बुधवार, दिसम्बर 7, 2022

बढ़ रहें हैं युवाओं में हार्ट अटैक के मामले, इस तरह के लक्षण दिखें तो हो जाए सावधान!

नई दिल्ली: मात्र 40 साल की उम्र में मशहूर एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला की मौत के बाद अब हर किसी के मन में एक ही सवाल है कि इतने फिट और कम उम्र के होने के बावजूद कैसे सिद्धार्थ ने हार्ट अटैक से दम तोड़ दिया। आपको बता दें, सिद्धार्थ टीवी के जाने-माने चेहरे थे। वो खतरों के खिलाड़ी और बिग बॉस जैसे रिएलिटी शो के विनर रह चुके हैं।

गुरुवार को हार्ट अटैक की वजह से सिद्धार्थ ने दम तोड़ दिया। मिली जानकारी के मुताबिक सिद्धार्थ रात को कुछ दवाई लेकर सोए थे। इसके बाद वो सुबह बेहोशी की हालत में मिले। आनन-फानन में सिद्धार्थ को अस्पताल लेकर जाया गया, लेकिन यहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो चुकी थीं। जानकारी के मुताबिक, सिद्धार्थ को ऐसी कोई बीमारी भी नहीं थी, जो उनकी मौत की वजह बने। डॉक्टरों के मुताबिक सिद्धार्थ की मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई। उनकी जो उम्र थी, उसमें हार्ट अटैक आना एक बहुत बड़ी बात है।

युवाओं में बढ़े हैं हार्ट अटैक के मामले !

पहले के समय में लोग बढ़ती उम्र के साथ दिल से जुड़ी बीमारियों का शिकार होते थे। लेकिन आज ऐसा नहीं है। आजकल युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। कम उम्र में ही लोगों को इस तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके पीछे की वजह तनाव, खराब लाइफस्टाइल, खान-पान और गलत आदतों को माना जाता है। यही युवाओं में हार्ट से जुड़ी समस्याएं होने की वजह मानी जाती हैं।

आज हम आपको हार्ट अटैक के कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताएंगे, जिनके दिखने पर बिना देर करें अलर्ट हो जाएं।

आमतौर पर जब हम नर्वस या फिर एक्साइटेड होते हैं, तो हार्ट बीट ऊपर-नीचे होती है। इसे सामान्य माना जाता है। लेकिन अगर हार्ट बीट कुछ सेकेंड से ज्यादा देर के लिए अनियंत्रित हो, तो ये चिंता वाली बात होती है। ऐसे में तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
इसके अलावा हार्ट अटैक से पहले कुछ लोगों को हाथ, जबड़े, दांत या फिर सिर में दर्द की शिकायत होने लगती है। साथ ही कंधों या कमर में लगातार दर्द को भी इग्नोर नहीं करना चाहिए।

ये सभी हार्ट अटैक के लक्षणों में शामिल है। सीने में लगातार जलन या फिर बदजहमी की समस्या हो तो सावधान हो जाना चाहिए। सांस लेने में समस्या होना या फिर पूरी तरह से सांस लेने के बाद भी सांस की कमी महसूस होना भी हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।
अगर कोई व्यक्ति किसी हार्ट डिजीज से जूझ रहा है, तो उसे होने वाली लगातार खांसी को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। शरीर में बहुत ज्यादा पसीना आना भी, हार्ट अटैक के लक्षणों में शामिल होता है।

खासतौर पर तब जब किसी कम तापमान वाली या ठंडी जगह पर हो, तो भी पसीना तो समझ लीजिए ये आपके लिए खतरे की घंटी है।

कुछ इन तरीको से दिल को रखें फिट

जिस तरह का आजकल लाइफस्टाइल है, उसमें युवा इस समस्या से काफी जूझ रहे हैं। लेकिन इससे बचने के कुछ उपाय भी हैं, जिसे अपनाकर आप हार्ट अटैक से बच सकते हैं।
दिल को सेहतमंद रखने के लिए एक्सरसाइज बहुत जरूरी मानी जाती है। रोजाना कम से कम 15 मिनट एक्सरसाइड करने से दिल की बीमारी का खतरा दूर रहता है। वॉक करने से भी दिल स्वस्थ रहता है।

जंक फूड से जितना हो सके, बचना चाहिए। जंक फूड में काफी ज्यादा मात्रा में तेल होता है, जो हार्ट के लिए नुकसानदेही साबित होता है। दिल की बीमारी का खतरा अक्सर मोटे लोगों को ज्यादा होता है। इसलिए वजन को नियंत्रण में रखना बेहद जरूरी होता है। हमारी डाइट का असर हेल्थ पर पड़ता है। दिल को स्वस्थ रखने और हार्ट अटैक के खतरे से दूर रहने के लिए हेल्दी और बैलेंस डाइट लेने की कोशिश करें।

हार्ट अटैक की एक प्रमुख वजह डिप्रेशन को माना जाता है। आजकल कई युवा डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं। इससे बचने के लिए मेडिटेशन करें। मेडिटेशन दिमाग को शांति देता है और हार्ट अटैक का खतरा कम होता है। ज्यादा नमक का सेवन सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता। ज्यादा नमक खाने से बल्ड प्रेशर हाई हो जाता है, जो दिल के लिए काफी नुकसानदेही होता है। ऐसे में दिल की बीमारी से दूर रहन के लिए कम से कम नमक का सेवर करें। अपने ब्लड प्रेशर पर नजर बनाए रखें।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles