fbpx

बॉम्बे हाई कोर्ट ने आर्यन खान गिरफ्तारी मामले पर किया NCB अधिकारी समीर वानखेड़े को एक्सपोज, कहा “आर्यन खान के व्हाट्सएप चैट में ऐसा कुछ भी नहीं मिला जिससे साबित किए जा सके आरोप”

Must read

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के मामले ने एक नया मोड़ ले लिया है और इस मामले पर बॉम्बे हाई कोर्ट ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के विवादास्पद अधिकारी समीर वानखेड़े को एक बड़ा झटका देते हुए ड्रग रैकेट मामले में आर्यन खान के खिलाफ रची गई साजिश पर NCB के सभी दावों को खारिज कर दिया है।

आर्यन खान और उनके दोस्तों अरबाज मर्चेंट पर एक विस्तृत जमानत आदेश में बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि उन्होंने नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) एक्ट के तहत अपराध किया है।

बेल ऑर्डर के साथ बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा कि, कोर्ट के सामने ये साबित करने के लिए कोई ऑन-रिकॉर्ड पॉजिटिव सबूत नहीं मिले हैं कि सभी आरोपी व्यक्ति सामान्य इरादे से गैरकानूनी कार्य करने के लिए सहमत हुए। इस अदालत को इस बात के प्रति सेंसेटिव होने की जरुरत है कि सबूत के रूप में बुनियादी सामग्री होनी चाहिए जिससे आवेदकों के खिलाफ साजिश के मामले को साबित किया जा सके।

इस मामले पर हाई कोर्ट ने आगे कहा कि अभियोजन की ओर से कहा गया है कि आरोपियों ने NDPS अधिनियम के तहत अपराध करना स्वीकार किया है। अगर यह मान भी लिया जाए इस मामले में अधिकतम एक साल की सजा होती है। आरोपी पहले ही लगभग 25 दिनों तक जेल में बंद रहा था। उनका मेडिकल परीक्षण भी नहीं किया गया था ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि क्या उन्होंने संबंधित समय पर नशीली दवाओं का सेवन किया था।

Advertisement

इसी क्रम में अदालत ने अपने आदेश में कहा कि, आवेदक/आरोपी नंबर से निकाले गए व्हाट्सएप चैट को देखने के बाद उसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं देखा जा सकता है।

बता दें कि, आर्यन खान समेत सात अन्य लोगों को पिछले महिने की 3 अक्टूबर को गोवा जाने वाले एक क्रूज जहाज से गिरफ्तार किया गया था। NCB द्वारा ड्रग्स के सेवन का आरोप लगाने के बाद से उन्हें मुंबई की आर्थर रोड जेल में कई दिन बिताने पड़े थे। इस दौरान आर्यन खान के वकीलों ने तर्क दिया था कि आर्यन खान के पास से कुछ भी नहीं मिला है लेकिन NCB ने व्हाट्सएप चैट का हवाला देते हुए उसके खिलाफ मामला बनाने की मांग की थी।

इतना ही नहीं इस मामले को लेकर समीर वानखेड़े को जबरन वसूली के गंभीर आरोपों का सामना भी करना पड़ा था क्योंकि महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने उन पर कई खुलासे किए थे। जिसके बाद में महाराष्ट्र पुलिस ने NCB के स्वतंत्र गवाह के.पी गोसावी को गिरफ्तार कर लिया था। बता दें कि, गिरफ्तार किए जाने वाला शख्स के.पी गोसावी वही है जिसकी आर्यन खान के साथ एक सेल्फी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article