34.1 C
Delhi
शुक्रवार, जून 14, 2024
Recommended By- BEdigitech

काली मिर्च का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल दे सकता है आपको यह नुकसान, जानने के लिए पढ़े यह खबर ?

काली मिर्च का सेवन हमारे शरीर के लिए काफी अच्छा माना जाता है क्योंकि काली मिर्च के सेवन से हमारे शरीर से कई बीमारियां दूर रहती है और इसी के लिए हमारी रसोई में यह आसानी से मिल भी जाती है।
जो लोग जीम करते है वो भी इसका इस्तेमाल बहुत अधिक करते है क्योंकि जीम के दौरान की जाने वाली डाइटिंग के दौरान यह हमारे पेट की सेहत को खराब नहीं होने देती लेकिन क्या आप जानते है कि यह छोटी सी दिखने वाली काली मिर्च आपकी सेहत को कितना नुकसान पहुंचा सकती है।
नहीं हो रहा ना यकीन ? तो आइए आज आपको काली मिर्च से होने वाली परेशानियों की जानकारी देते है। जिसे जानने के बाद आप भी काली मिर्च के अधिक सेवन से बचेंगे।
त्वचा की समस्या
हम सभी जानते है कि हमारी त्वचा कितनी नाजुक होती है और इसे लंबे समय तक स्वस्थ बना के रखने के लिए हमें नमी से भरपूर खाने का सेवन करना चाहिए। नमी से हमारा मतलब है कि ऐसा खाना जिसकी तासीर ठंडी हों और जो आपके शरीर को ठंडक पहुंचाए लेकिन अगर काली मिर्च की बात की जाए।
तो काली मिर्च की तासीर में बहुत ही अधिक गर्म होती है और अगर इसका इस्तेमाल अधिक मात्रा में किया जाए तो यह आपको पेट से जुड़ी कई समस्या भी दे सकती है। इसके अलावा काली मिर्च के सेवन से आपकी त्वचा पर जलन और खुजली जैसी समस्या भी हो सकती है।
अल्सर की समस्या
जैसा कि हम सभी जानते है कि काली मिर्च की तासीर काफी गर्म होती है और अगर काली मिर्च का सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो यह आपके पेट की सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती है और आगे चलकर आपके पेट में अल्सर (पेट के घाव) भी बना सकती है। ऐसे में आपको काली मिर्च के अधिक सेवन से बचना चाहिए।
पेट में गर्मी
वैसे तो अधिकतर लोग काली मिर्च का सेवन सर्दियों में करते है लेकिन कुछ लोग इसका सेवन गर्मियों में भी करते है ऐसे में काली मिर्च अधिक समस्या दे सकती है। इससे पेट में जलन और पेट फूलने जैसी कई समस्याएं हो सकती है। इसके अलावा काली मिर्च के अधिक सेवन से कब्ज, डायरिया, गैस जैसी समस्या भी हो सकती है।
साँस की समस्या
काली मिर्च के अधिक सेवन से यह हमारे रेस्पिरेट्री सिस्टम में समस्या पैदा कर सकती है जिसकी वजह से आगे चलकर हमें साँस से जुड़ी कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।
नोट- अस्थमा या साँस से जुड़े मरीजों को तो इसके इस्तेमाल से बचना ही चाहिए।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles