गणेश चतुर्थी: जानें भगवान गणेश की प्रतिमा रखनी की शुभ दिशा, साथ ही ध्यान रखें ये विशेष बातें!

गणेश चतुर्थी: जानें भगवान गणेश की प्रतिमा रखनी की शुभ दिशा, साथ ही ध्यान रखें ये विशेष बातें!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

हमारे भारत में विघ्नहर्ता भगवान गणपति जी को प्रथम पूज्य देव स्थान दिया जाता है। जिसका मतलब है किसी भी शुभ काम से पहले गणेश जी की पूजा ही कि जाती है। हक वर्ष की तरह इस वर्ष भी गणेश चतुर्थी का लोग बेहद बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। आपको बता दें कि इस वर्ष 23 अगस्त को गणेश चतुर्थी बनाई जाएगी। इस दिन भगवान गणपति की पुजा की जाती है और उन्हें लड्डुओं और मोदकों का भोग लगाया जाता है।

गणेश चतुर्थी के दिन हिंदू धर्म में सभी लोग अपने घर भगवान गणेश जी की प्रतिमा लेकर आते हैं। परंतु या यदि आप हमेशा ही अपने घर में भगवान गणेश की प्रतिमा रखते हैं तो इससे आपके घर में धन की देवी मां लक्ष्मी की भी कृपया होने लगती है, साथ ही आपकी किस्मत में आने वाले सभी अटकने दूर हो जाती हैं।

वास्तु शास्त्र में भगवान गणपति जी की प्रतिमा रखने का उचित स्थान व दिशा के बारे में बताया गया है। यदि हम इन्हें उचित स्थान पर रखते हैं तो इससे हमारे घर में सुख-शांति और समृद्धि सदैव ही बनी रहती है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भगवान गणेश जी की मूर्ति वास्तु के मुताबिक किस दिशा में किस स्थान पर रखनी चाहिए इस बारे में जानकारी देंगे।

1. भगवान गणेश की प्रतिमा रखने की शुभ दिशा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक हमें भगवान गणेश जी की मूर्ति घर के ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्वी कोने में रखना सबसे ज्यादा उत्तम माना जाता है। इसके अलावा हमें भगवान की मूर्ति रखने के साथ-साथ वास्तु में बताएं गए कुछ नियमों का पालन भी करना चाहिए यदि हम इन सभी नियमों का पालन करते हैं तो इससे भगवान गणेश जी की कृपया हम पर सदैव बनी रहती है।

2. इस दिशा में ना रखें भगवान गणेश की प्रतिमा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक अभी भी दक्षिण दिशा में भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित नहीं करनी चाहिए। साथ ही ज्ञात रहे आप जिस जगह भगवान की मूर्ति स्थापित कर रहे हैं वहां कूड़ा-कचरा या फिर टॉयलेट नहीं बना होना चाहिए।

3. प्रकार के रखे भगवान गणेश की प्रतिमा

अक्सर बाजार में बिकने वाली भगवान गणेश की प्रतिमा प्लास्टर ऑफ पेरिस की होती है। परंतु यदि हम इसके अलावा प्रतिमा मिट्टी, गोबर या किसी धातु की बनी मूर्ति घर में स्थापित कर सकते हैं। साथ ही मूर्ति लेते समय ध्यान रहे गणेश जी प्रतिमा में बैठे हुए होने चाहिए।

रखें इन विशेष बातों का ध्यान

  • घर में भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करते वक्त ध्यान रहे कि गणपति जी की सुंड़ दाईं तरह हो।
  • ज्यादा बड़ी भगवान गणेश की प्रतिमा ना हो।
  • ज्ञात रहे भगवान गणेश की प्रतिमा के साथ में उनकी सवारी मूषक और लड्डू का भोग जरूर साथ हो।

ये भी पढ़े भूले से भी सोते समय अपने आसपास ना रखे ये चीजें, अन्यथा आपको करना पड़ सकता है बड़ी मुसीबतों का सामना!

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article