38.1 C
Delhi
गुरूवार, जून 20, 2024
Recommended By- BEdigitech

अपनी 10 साल पुरानी डीजल कार को इस तरह से बनाए इलेक्ट्रॉनिक, जाने कितना आने वाला है खर्च, पढ़ें पूरी जानकारी!

नई दिल्ली: 10 साल पुराने डीजल वाहनों को दिल्ली सरकार ने चलाने की अनुमति दे दी है। लेकिन आपको बता दें इसके लिए आपको अपने वाहन को इलेक्ट्रिक वाहन में बदलवाना होगा और आपके वाहन में लगी इलेक्ट्रिक किट टेस्टिंग एजेंसियों द्वारा अप्रूव्ड होनी चाहिए।

अब सभी के मन में केवल एक ही सवाल है कि अगर भविष्य में डीजल या पेट्रोल वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदला जाता है, इन्हें बदलवाने में एक आम व्यक्ति को कितना खर्च आएगा? डीजल इंजन की जगह कैसे इलेक्ट्रिक इंजन लगेगा?

आपको बता दें, किसी भी डीजल कार को इलेक्ट्रिक में बदलना एक जटिल काम है। कोई भी पुरानी डीजल कार, इलेक्ट्रिक कार में बदलने के हिसाब से नहीं बनाई गई थी। इसलिए डीजल कार को इलेक्ट्रिक में बदलने के लिए जबरदस्त इंटेंस लेवल रिसर्च और डेवलपमेंट की जरूरत है।

सबसे पहले डीजल इंजन को कार से हटाया जाएगा। उसके बाद खाली हुई जगह में इलेक्ट्रिक मोटर, हाई वोल्टेज वॉर्निंग सर्किट और ईवी सिस्टम के लिए जरूरी कंट्रोल यूनिट को फिट किया जाएगा। इसके अलावा इलेक्ट्रिक कार में बदलने के लिए टेक्निशियन्स को हाई-वोल्टेज और लो-वोल्टेज सर्किट को लगाना होगा, कंट्रोल और पॉवर ट्रांसमिशन इकाइयों को कॉन्फ़िगर करना होगा। इलेक्ट्रिक मोटर के फिटमेंट में प्रमुख फैक्टर कार के इलेक्ट्रिकल्स को फिर से स्थापित करना होगा।

Advertisement

इलेक्ट्रिक कार के लिए बैट्री को कहां फिट किया जाएगा
तो ऐसा कयास लगाया जा सकता है कि बैट्री को फिट करने के लिए उसे डीजल टैंक वाली जगह पर लगाया जा सकता है। इसके अलावा बोनट के अंदर अगर कोई जगह बचती है या पीछे वाली सीट के नीचे भी लगाया जा सकता है। ज्यादा रेंज कवर के लिए कार को पॉवरफुल और बड़े आकार की बैट्री की जरूरत पड़ती है।

भारत में वर्तमान में ऐसी एजेंसियां काम कर रही हैं जो आम वाहन को इलेक्ट्रिक वाहन में बदलती हैं। इसके लिए किसी कार मालिक को 4 लाख रुपए से 6 लाख रुपए तक खर्च करने होंगे। पेट्रोल कार को सीएनजी में तब्दील करने की तुलना में डीजल को इलेक्ट्रिक कार में बदलना काफी जटिल प्रक्रिया हो सकती है। इसके लिए आपको अपने घर पर या पार्किंग की जगह पर ईवी चार्जिंग सेटअप की जरूरत पड़ेगी।

पुरानी कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलना, नई कार खरीदने की तुलना में कहीं ज्यादा सस्ता है। लेकिन दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक वाहन को खरीदने पर अच्छा खासा डिस्काउंट ऑफर कर रही है। जो पुरानी कार बदलने वालों को नहीं मिलेगा। इसके अलावा पुरानी कार को इलेक्ट्रिक में बदलने के बाद उसकी सर्विस और कस्टमर सपोर्ट मिलना भी एक बड़ी चिंता का विषय है। नई कार मिलने पर ग्राहक को 8 साल तक की वारंटी दी जा रही है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles