Multiple Bank Account के फायदे और नुकसान

Multiple Bank Account के फायदे और नुकसान

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

केंद्र सरकार का लक्ष्य रहा है कि देश के हर कोने में लोगों को बैंकिंग सेवाओं का लाभ मिल सके। जिसके लिए हर व्यक्ति के पास बैंक खातें का होना बेहद जरूरी है। सरकार ने प्रधानमंत्री जनधन खाते के द्वारा देश के हर नागरिक तक बैंकिंग सुविधाओं का लाभ पहुंचाने का प्रयास किया है। आजकल बिना सेविंग अकाउंट के आप अपना काम नहीं चला सकते है। देश में ज्यादातर लोगों के पास सेविंग अकाउंट हैं। वहीं बहुत से लोगों के पास एक से ज्यादा सेविंग अकाउंट होता है। अब एक से ज्यादा बैंक खाते रखने के क्या फायदे और नुकसान हैं। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि एक से ज्यादा बैंक खाते होने के फायदे और नुकसान क्या हैं-

Table of Contents

मल्टी बैंक अकाउंट के फायदे-

  • जरूरत के अनुसार करें निवेश

अगर आपके पास एक से ज्यादा बैंक अकाउंट है तो इसके कुछ बड़े फायदे भी होते है। एक से ज्यादा बैंक अकाउंट होने पर आप अपनी जरूरत के अनुसार अपने खर्चों के लिए निवेश कर सकते है। जैसे कि घर, बच्चें की पढ़ाई, शादी आदि। अलग-अलग बैंक खातों में निवेश करके अपने फ्यूचर को सिक्योर कर सकतें है।

  • लिक्विडिटी की नहीं होती कमी

एक से ज्यादा बैंक अकाउंट रखने वाले शख्स को बड़ा फायदा यह है कि आपके पास लिक्विडिटी की कमी नहीं होती है। आप एटीएम (ATM) के जरिए अपनी जरूरत के अनुसार पैसें निकाल सकते हैं।

एक से ज्यादा बैंक अकाउंट के ये होते हैं नुकसान-

अकाउंट बंद हो जाता है

कई सारे बैंक अकाउंट होने का बड़ा नुकसान यह है कि इन्हें मेंटेन रखना आसान नहीं है। इनमें न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना जरूरी हो जाता है। जब आपके खाते में बैलेंस न्यूनतम बैलेंस से कम हो जताा है और आप उस खाते से कोई लेनदेन नहीं करते हैं, तो खाता बंद हो जाता है।

सिबिल स्कोर पर असर पड़ता है

जब आप लंबे वक्त तक अपने बैंक खाते से कोई लेन देन नहीं करते है अर्थात इसका इस्तेमाल नहीं करते हैं तो आपका खाता बंद हो जाता है। आपके खाते में मिनिमम बैलेंस न होने पर खातों पर जुर्माना लगने लगता है। जिससे ग्राहक के सिबिल स्कोर पर असर पड़ता है।

लगता है जुर्माना

आजकल लोग एक से ज्यादा अकाउंट पर SMS Alert, डेबिट कार्ड आदि की सुविधा ले लेते हैं। इन सभी सुविधा के बदले बैंक, ग्राहकों से कई तरह के सर्विस चार्ज लेता है। ज्यादा बैंक खाते होने पर बैंकों के सर्विस चार्ज देना तय है। आपको ज्यादा पैसे खर्ज करने पड़ते है।

आपका निवेश प्रभावित हो सकता है-

आज के समय में कई निजी बैंक में 20,000 रुपए तक न्यूनतम बैलेंस रखना अनिवार्य है। आपके पास अगर ऐसे चार बचत खाते हैं, तो आपके 80,000 रुपए न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना होगा। ऐसे करनें मे ही आपकी हालत खराब हो जाएंगे। जो आपके निवेश को प्रभावित करेगा।

आपके साथ हो सकता है फ्रॉड

एक से ज्यादा बैंक खाते होने सभी बैंक खातों की सही जानकारी रखना कठिन है। ऐसे में आपके साथ फ्रॉड हो सकता है। फ्रॉड करने वाले लोग आपके पैन कार्ड और आधार कार्ड की जानकारी चुराकर आपके बैंक खाते से पैसा निकाल सकते है। एक से ज्यादा बैंक अकाउंट होने पर आप फ्रॉड के जल्दी शिकार बन सकते है।

इनकम टैक्स फ्रॉड

सेविंग अकाउंट में 10,000 रुपए तक के ब्याज पर टैक्स में छूट मिलती है। जिसके बाद टीडीएस कटता है। अपने बचत बैंक खाते में जब तक आप 10,000 रुपए तक का ब्याज पा रहे हैं, आपका बैंक तब तक टीडीएस नहीं काटेगा। ज्यादा बचत खाते इस तरह इनकम टैक्स फ्रॉड की वजह भी बन सकते हैं।

ये भी पढ़े मनी लांड्रिंग केस में बंद सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा जमानत देने का कोई आधार नहीं!

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article