11.1 C
Delhi
बुधवार, फ़रवरी 8, 2023

उद्धव ठाकरे को लगा तगड़ा झटका, शिंदे गुट में शामिल हुए शिवसेना के सांसद गजानन कीर्तिकर

महाराष्ट्र में शिवसेना के उद्धव ठाकरे गुट को गजानन कीर्तिकर ने बड़ा झटका दिया है। दरअसल गजानन कीर्तिकर शुक्रवार (11 नवंबर) को शिंदे गुट में शामिल हो गए हैं। उनकी एकनाथ शिंदे के साथ एक तस्वीर सामने आई हैं। जिसमें गजानन को एकनाथ शिंदे गुलदस्ता भेंट कर रहे हैं।

आपको बता दें कि एकनाथ शिंदे से मिलने के लिए गजानन कीर्तिकर वर्षा बंगले में गए थे। मुंबई में नगर निगम चुनाव होने वालाा हैय़ जिसको देखते हुए उद्धव ठाकरे के लिए ये एक बड़ा झटका है।

2022 में बमें शिवसेना में हुए बंटवारे के बाद एकनाथ शिंदे के गुट में करीब 12 सांसद शामिल हुए थे। अब सांसद गजानन कीर्तिकार13वें सांसद बन गए हैं, जो एकनाथ शिंदे के गुट में शामिल हुए है।

शिवसेना के पास पहले से ही पार्टी के 56 विधायकों में से 40 का समर्थन है। जून महीने में एकनाथ शिंदे ने बीजेपी के साथ हाथ मिलाया था। जिसके बाद एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के सीएम बन गए और उद्धव के हाथ से महाराष्ट्र की सत्ता तली गई थी।

Uddhav Thackeray

इसके कयास पहले ही लगाए जा रहे थे-

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और गजानन कीर्तिकर मुलाकात करने वाले है, इसकी खबर 6 सितंबर को आईं थीं। उस वक्त कहा गया था कि वो मुख्यमंत्री के आवास पर भगवान गणपति के दर्शन करने के लिए गए थे। वहीं कीर्तिकर को लेकर खबरें आ रही थीं कि वो ठाकरे गुट से विभिन्न कारणों से नाराज चल रहे थे।

इससे पहले एकनाथ शिंदे और कीर्तिकर की पहली मुलाकात शिंदे के सत्ता में आने के बाद आई थी। उस वक्त इस मुलाकात को लोकर कहा गया था कि कीर्तिकर से शिंदे उनकी बीमार के कारण मिले थे। आपको बता दें कि उत्तर पश्चिमी मुंबई निर्वाचन क्षेत्र से  79 वर्षीय गजानन कीर्तिकर लोकसभा सांसद हैं।

ये भी पढ़े AAP Candidate List: आप ने एमसीडी चुनाव के लिए 134 उम्मीदवारों की लिस्ट की जारी

ये भी पढ़े EWS आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मुहर, यहां जानिए क्या है EWS।

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles