fbpx

श्रीलंका के खिलाफ अपना 100 वां टेस्ट खेलेंगे Virat Kohli, जानें इनसे पहले किस खिलाड़ी ने खेले हैं 100 से ज्यादा मैच, जानिए हर खिलाड़ी का कैसा रहा रिकॉर्ड

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

श्रीलंका को टी-20 सीरीज में मात देने के बाद अब भारतीय टीम दो मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए तैयार है। आपको बता दें कि भारत और श्रीलंका के बीच चार मार्च से मोहाली में पहला टेस्ट मैच शुरू होने वाला है। यह मैच विराट कोहली के लिए बेहद अहम होने वाला है। विराट कोहली ने साल 2011 में अपना टेस्ट डेब्यू किया था। उन्होंने अपने करियर में 99 टेस्ट मैच खेलें हैं। जिनमें उनका खेल काफी रोमांचक रहा है। मोहली भारत और श्रीलंका के बीच होने वाला टेस्ट विराट का 100वां टेस्ट होगा। पिछले काफी समय से उनकी फॉर्म काफी खराब चल रही है। ऐसे में अपने 100वें टेस्ट में वो कमाल दिखाना चाहेंगे। कोहली के लिए इस मैच से वापसी करने का बेहतरीन मौका है। विराट कोहली ने 99 टेस्ट मैच में अब तक 7962 रन बनाए हैं। ऐसे में वो अपने इस 100वें मैच को यादगार बनाना चाहेंगे। आपको बता दें कि मोहली टेस्ट में भारत के लिए मैदान में उतरते ही विराट कोहली 100 टेस्ट मैच खेलने वाले 12वें भारतीय खिलाड़ी बन जाएंगे। ऐसे में आइए जानें उनके रिकॉर्ड के बारे में।

उनसे पहले सचिन, द्रविड़ और सहवाग सहित 11 भारतीय खिलाड़ी यह कारनामा कर चुके हैं। हालांकि सबसे ज्यादा 200 टेस्ट खेलने का रिकॉर्ड सिर्फ सचिन के ही नाम है। वहीं 164 टेस्ट खेलने वाले द्रविड़ इस मामले में दूसरे स्थान पर हैं। भारत के लिए 100 से ज्यादा टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ियों में ईशांत अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अब तक संन्यास का एलान नहीं किया है।

यहां हम उन 11 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जानें, जिन्होंने 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेले हैं।

सचिन तेंदुलकर (200 मैच)

Advertisement

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर भारत के लिए 200 टेस्ट खेलकर दुनिया में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं। इस लिस्ट में उनके बाद इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन का नाम शामिल है। जेम्स एंडरसन ने कुल 169 टेस्ट खेले हैं। खैर बात सचिन तेंदुलकर की हो रही है, तो उन्होंने 1989 में टेस्ट डेब्यू किया था। 1989 से लेकर 2013 के बीच 200 मैचों में 53.8 के औसत से कुल 15921 रन बनाए हैं। उनका सबसे ज्यादा स्कोर 248 रनों का रहा है। उन्होंने 200 मैचों में 51 शतक और 68 अर्धशतक बनाएं हैं। ऐसे ही उनके नाम कई सारे रिकॉर्ड है, कोई शक वाली बात नहीं कि उन्हें क्रिकेट की दुनिया का भगवान क्यों कहा जाता है। इसके अलावा सचिन ने टेस्ट में 46 विकेट भी अपने नाम किए हैं। वो टेस्ट में सबसे ज्यादा रन और सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

राहुल द्रविड़ (164 मैच)

क्रिकेट की दुनिया में Wall Of Cricket के नाम से अपनी पहचान बनाने वाले राहुल द्रविड़ भारत के मौजूदा कोच हैं। उन्होंने 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की थी और 2012 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी मैच खेला था। उन्होंने 164 टेस्ट खेले और 52.31 के औसत से 13288 रन बनाए हैं। इस दौरान टेस्ट में उन्होंने 36 शतक और 63 अर्धशतक बनाए हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 270 रन रहा है।

वीवीएस लक्ष्मण (134 मैच)

वीवीएस लक्ष्मण ने 1996 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की थी और 2012 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी मैच खेला था। उन्होंने 134 मैच खेले हैं, जिनमें लक्ष्मण ने 45.97 के औसत से 8781 रन बनाए हैं। टेस्ट में उनके नाम 17 शतक और 56 अर्धशतक हैं। अपने करियर में लक्ष्मण 34 बार नॉट आउट रहे हैं। उनका सबसे बड़ा स्कोर 281 रन का है।

अनिल कुंबले (132 मैच)

अनिल कुंबले ने 1990 में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला था और 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुंबले ने आखिरी मैच खेला था। भारत के लिए उन्होंने 132 टेस्ट मैच खेलते हुए 619 विकेट अपने नाम किए हैं। वे एकमात्र भारतीय गेंदबाज हैं, जिन्होंने एक पारी में सभी विकेट लिए हैं। कुंबले ने टेस्ट क्रिकेट में 35 बार पांच विकेट और आठ बार 10 विकेट लिए हैं।

कपिल देव (131 मैच)

भारत को पहली बार विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान कपिल देव इस लिस्ट में पांचवें नंबर पर हैं। उन्होंने 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की और 1994 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था। इस दौरान कपिल ने गेंद और बल्ले दोनों से कमाल किया। कपिल ने बल्ले के साथ 131 मैचों में 31.05 के औसत से 5248 रन बनाए। इसमें आठ शतक और 27 अर्धशतक शामिल हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 163 रन रहा है।

वहीं गेंदबाजी करते हुए कपिल ने 227 पारियों में गेंदबाजी की है और 434 विकेट लिए हैं। उन्होंने 23 बार पांच विकेट और दो बार 10 विकेट लेने का कारनामा भी किया है। वे एक पारी में नौ विकेट भी ले चुके हैं।

सुनील गावस्कर (125 मैच)

सुनील गावस्कर ने 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला मैच खेला था और वहीं 1987 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने करियर का आखिरी मैच खेला। इस दौरान उन्होंने 125 मैच खेलते हुए 10122 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका औसत 51.12 का रहा। गावस्कर ने 34 शतक और 45 अर्धशतक लगाए हैं। उनके नाम भारत के लिए लगातार 106 मैच खेलने का रिकॉर्ड है। वहीं एक सीरीज में कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में गावस्कर चौथे नंबर पर हैं। उन्होंने भारत की कप्तानी करते हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ 732 रन बनाए थे।

दिलीप वेंगसरकर (116 मैच)

दिलीप वेंगसरकर ने 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरूआत की थी। उन्होंने भारत के लिए 116 मैच खेले हैं। उनका आखिरी मैच 1992 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ था। 42.13 के औसत से 6868 रन बनाए हैं। उनके नाम 17 शतक और 35 अर्धशतक हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 166 रन है।

सौरव गांगुली (113 मैच)

दादा के नाम से मशहूर सौरव गांगुली ने भी भारत के लिए 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट खेला। इस दौरान उन्होंने 113 मैच खेलते हुए 42.17 के औसत से 7212 रन बनाए हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 16 शतक और 35 अर्धशतक लगाए हैं। वहीं गेंद के साथ उन्होंने 99 पारियों में 32 विकेट लिए हैं।

इशांत शर्मा (105 मैच)

इशांत शर्मा ने भारत के लिए 105 टेस्ट खेले हैं। उन्होंने साल 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की थी। वहीं उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। अभी उन्होंने अपने करियर से संन्यास नहीं लिया है। इस बार श्रीलंका के खिलाफ हो रही टेस्ट सीरीज में वे भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं। इशांत ने भारत के लिए 105 टेस्ट में 311 विकेट लिए हैं। वे 11 बार पांच विकेट एक बार 10 विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं।

वीरेन्द्र सहवाग (104 मैच)

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग ने कुल 104 टेस्ट मैच खेले हैं। उन्होंने अपना पहला मैच 2001 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ और आखिरी मैच 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। इस दौरान उन्होंने 49.34 के औसत से 8586 रन बनाए हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 319 रन रहा है। उनके नाम 23 शतक 50 अर्धशतक हैं। सहवाग टेस्ट में तिहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। उन्होंने भारत के लिए गेंद के साथ भी 40 विकेट लिए हैं।

हरभजन सिंह (103 मैच)

हरभजन सिंह ने भारत के लिए 103 टेस्ट मैच खेले हैं। हरभजन सिंह ने साल 1998 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना करियर शुरू किया था और साल 2015 में भज्जी ने श्रीलंका के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट खेला था। इस दौरान उन्होंने 190 पारियों में 417 विकेट अपने नाम किए। वे 25 बार पांच विकेट और पांच बार 10 विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article