आखिर किस काम आती है नोरेथिस्टेरोन (Norethisterone) दवा और क्या है इसके लाभ और नुकसान, यहां जाने ?

आखिर किस काम आती है नोरेथिस्टेरोन (Norethisterone) दवा और क्या है इसके लाभ और नुकसान, यहां जाने ?

Must read

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

जब से इंटरनेट आया है लोग खुद ही डॉक्टर बन गए है और इसी के चलते बिना किसी की सलाह लिए ही लोग अलग-अलग दवाओं का सेवन करना शुरू कर देते है। इसी में से एक दवा है नोरेथिस्टेरोन (Norethisterone) दवा।

जिसका मुख्य रूप से इस्तेमाल पीरियड के दौरान ब्लीडिंग को नियंत्रित करने में किया जाता है। इसका इस्तेमाल तब किया जाता है जब हार्मोन के असंतुलन के कारण महिलाओं के पीरियड में बदलाव आने लगते है या फिर ब्लीडिंग काफी तेजी से होने लगती है।

इसके अलावा इसका उपयोग प्रेगनेंसी की रोकथाम के लिए भी किया जाता है लेकिन यह प्रेगनेंसी की रोकथाम तब तक ही करता है जब गर्भ आठ सप्ताह तक का ही हो। इससे उपर होने पर इस दवा का सेवन आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। लेकिन फिर भी इस दवा का बिना डॉक्टर से सलाह लिए उपयोग नहीं करना चाहिए।

Table of Contents

इन बीमारियों में ना करें नोरेथिस्टेरोन का इस्तेमाल ?

अगर आपको लिवर की समस्याएं, आर्टरीज में समस्या, ओवेरियन सिस्ट, योनि से किसी भी तरह का असामान्य रक्तस्राव, सिस्टेमिक लूपस एरिथेमेटस, पोरफाइरिया और स्तन कैंसर हो या फिर पहले हो चुका हो तो इस दवा के सेवन से परहेज करना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

नोरेथिस्टेरोन कैसे करती है काम ?

अगर आप नोरेथिस्टेरोन का इस्तेमाल कर रहे है तो इसे पीरियड के 1 से 5 दिनों के अंदर ही लेना चाहिए। इस दवा का असर अलग-अलग लोगों पर अलग-अलग तरीके से होता है। कई बार इसका असर जल्दी देखने को मिल जाता है तो कभी इसका असर धीरे-धीरे होता है।

किन बीमारियों में काम आती है नोरेथिस्टेरोन ?

वैसे तो इस दवा का इस्तेमाल अलग-अलग बीमारियों में किया जाता है लेकिन अगर आपको असामान्य यूटेरिन ब्लीडिंग, स्तन कैंसर (ब्रेस्ट कैंसर), प्रीमेंसट्रूअल सिंड्रोम या फिर एंडोमेट्रियल कैंसर की समस्या है तो इसके इलाज में भी नोरेथिस्टेरोन का इस्तेमाल किया जाता है।

नोरेथिस्टेरोन के गंभीर साइड इफेक्ट्स क्या होते है ?

जैसा कि हम सभी जानते है कि कोई भी चीज कभी परफेक्ट नहीं हो सकती उसके साइड इफेक्ट्स तो होते ही है तो इसमें नोरेथिस्टेरोन कैसे पीछे रह सकती है। अगर बात करें नोरेथिस्टेरोन दवा की तो इसके गंभीर साइड इफेक्ट्स इस प्रकार से है। आपको एलर्जी, लिवर रोग, असामान्य योनि से ब्लीडिंग या फिर स्तन/गर्भाशय का कैंसर हो सकता है। इसी लिए हम बार-बार कह रहे है कि आपको इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से सलाह तो लेनी ही चाहिए।

नोरेथिस्टेरोन के सामान्य साइड इफेक्ट्स क्या होते है ?

अगर बात करें नोरेथिस्टेरोन के सामान्य साइड इफेक्ट्स की तो इससे आपको अनियमित मासिक धर्म, वजन का कम होना, नींद में परेशानी आना, मुंहासे का फटना, चेहरे पर बालों का विकास या फिर दृष्टि की हानि या धुंधली दृष्टि की समस्या हो सकती है।

नोरेथिस्टेरोन को लेकर अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल ?

नोरेथिस्टेरोन का प्रभाव कितने समय के लिए रहता है ?

अगर बात करें नोरेथिस्टेरोन दवा की तो इसका प्रभाव मरीज के शरीर पर निर्भर करता है इसके प्रभाव की कोई समय अवधि नहीं है।

नोरेथिस्टेरोन का असर कितनी देर में शुरू होता है ?

अगर बात करें नोरेथिस्टेरोन के असर दिखाने के समय की तो यह मरीज के सेक्स हार्मोन पर निर्भर करता है। इसके अलावा आपने कितनी डोज ली है यह भी दवा के असर के समय को प्रभावित कर सकता है। अगर अंदाजन बात करें तो दवा लेने से 4 घंटों के भीतर यह अपना असर दिखाना शुरू कर देती है।

क्या गर्भवती महिलाएं कर सकती है नोरेथिस्टेरोन दवा का उपयोग ?

नोरेथिस्टेरोन दवा एक गर्भनिरोधक दवा भी है इसीलिए गर्भवती महिलाओं को इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह दवा आपकी गर्भावस्था को परेशानी में डाल सकती है। लेकिन अगर आप गर्भवती है और फिर भी आपने इस दवा का सेवन कर लिया तो आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

क्या नोरेथिस्टेरोन की लत लग सकती है ?

इसका जवाब है नहीं नोरेथिस्टेरोन दवा एक सामान्य दवा है और इसकी प्रवृति अपना आदि बनाने वाली नहीं है।

क्या शराब के उपर ले सकते है नोरेथिस्टेरोन दवा को ?

देखिए दवाई चाहे कोई भी हो अगर आप शराब का सेवन करते है तो इसे भूलकर भी इस्तेमाल में नहीं लाएं। क्योंकि हर एक दवा का अपना-अपना शराब के साथ इंटरैक्शन होता है। लेकिन अगर हालात में सुधार ना आ रहा हो तो एक बार डॉक्टर से बात करें और तभी इस दवा को सेवन में लाएं।

नोरेथिस्टेरोन को लेकर वाहन चलाया जा सकता है ?

वैसे इस दवा का आपकी नींद पर कोई असर नहीं पड़ता। इसलिए आप इस दवा को लेकर गाड़ी चला सकते है। लेकिन अगर आपके दवा लेने के बाद आपको उनींदापन या तीव्र सिरदर्द होने लगे तो आप कार चलाने से बचे।

क्या नोरेथिस्टेरोन किडनी पर असर डालती है ?

अगर आप पहले से किडनी के मरीज है तो आप इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें क्योंकि किडनी के मरीजों के लिए यह दवा खतरनाक साबित हो सकती है।

क्या नोरेथिस्टेरोन लीवर फंक्शन को प्रभावित कर सकती है ?

वैसे तो अभी तक ऐसा कुछ सामने नहीं आया कि नोरेथिस्टेरोन से लीवर के फंक्शन में कोई परेशानी आती है लेकिन अगर आपको पहले से ही लिवर से जुड़ी कोई परेशानी हो तो आपको इस दवा के उपयोग से बचना चाहिए या फिर डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

ये भी पढ़े Ultracet Tablet uses in Hindi | अल्ट्रासेट टैबलेट का उपयोग, सावधानी और परहेज ?

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article