29.1 C
Delhi
रविवार, जुलाई 14, 2024
Recommended By- BEdigitech

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के समर्थन में आए अखिलेश यादव कहा “जनता सब देख रही है, चुनाव में जवाब देगी”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी की खबर आने के बाद से सोशल मीडिया पर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला छिड़ गया है।
विपक्ष द्वारा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर आलोचना की जा रही है और अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी को निंदनीय बताया जा रहा है।
बता दें कि, सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह करने वाली महिला को आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर मामला दर्ज किया गया था, जिसके बाद लखनऊ पुलिस द्वारा शुक्रवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
इस दौरान अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी से जुड़ा एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस उन्हें घर से निकालकर गाड़ी में बैठाती नजर आ रही है।
इसी बीच अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी को निंदनीय बताते हुए अखिलेश यादव और पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह सोशल मीडिया के माध्यम से भाजपा सरकार पर निशाना साधा है।
बता दें कि, पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी का वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से साझा करते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लिखा कि, “भूतपूर्व पुलिस के विरुद्ध भाजपा सरकार की पुलिस का अभूतपूर्व कार्य! भाजपाई राजनीति लोगों के बीच दरार पैदा करके ही जिंदा है। अब भाजपा सरकार के दबाव के कारण पुलिस ही पुलिस के ख़िलाफ़ काम करने पर मजबूर है। एक सेनानिवृत आईपीएस के साथ ऐसा व्यवहार अक्षम्य है।”

इस दौरान अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर आपत्ति जताते हुए पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने भी एक ट्वीट किया, उन्होंने लिखा कि, “पहले एक IPS अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर किया जाता है, फिर उसे इस तरह बेइज्जत कर गिरफ्तार किया जाता है। ये न केवल नितांत अमानवीय व अलोकतांत्रिक हैं बल्कि इस सरकार का ये रवैया है, तानाशाहीपूर्ण भी है। जनता सब देख रही है, 2022 के चुनाव में जवाब देगी।”

गौरतलब है कि, दिल्ली के सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वाली महिला ने अपने साथी के साथ फेसबुक पर लाइव वीडियो शेयर की थी, जिसमें महिला ने बसपा के सांसद अतुल राय पर आरोप लगाते हुए यह भी कहा था कि पुलिस के कुछ वरिष्ठ अधिकारी भी आरोपी का समर्थन कर रहे हैं।
बता दें कि आत्मदाह का प्रयास करने वाली कथित बलात्कार पीड़िता ने इस सप्ताह की शुरूआत में अस्पताल में अपना दम तोड़ दिया था। इस दौरान उसके एक साथी ने भी अपने आप को आग लगाई थी, उसकी भी मौत हो चुकी है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles