fbpx

एशिया के सबसे अमीर अरबपति कारोबारी गौतम अडानी अब टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री करने की तैयारी कर रहे हैं, आइए यहां इस बारे में विस्तार से जानें

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

एशिया के सबसे अमीर अरबपति कारोबारी गौतम अडानी अब टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री करने की तैयारी कर रहे हैं.टेलीकॉम सेक्टर में अपना दबदबा बनाने के लिए अडानी कंपनी नई योजना बना रही है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि गौतम अडानी ग्रुप इस महीने के अंत में होने वाली 5G स्पेक्ट्रम नीलामी में हिस्सा लेंगे. ग्रुप ने इसके लिए आवेदन किया है. अडानी ग्रुप का मुकाबला सीधे इस सेक्टर में बादशाहत रखने वाले मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो और इस सेक्टर के दिग्गज सुनील भारती मित्तल के एयरटेल से होगा.

5G टेलीकॉम सर्विसेज जैसे अधिक हाई स्पीड इंटरनेट देने में सक्षम इन एयरवेव की नीलामी में भाग लेने के लिए 8 जुलाई शुक्रवार को कम से कम चार आवेदकों ने आवेदन किया अडानी ग्रुप ने भी इसके लिए आवेदन किया है .स्पेक्ट्रम की नीलामी 26 जुलाई को होनी है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि दूरसंचार क्षेत्र की तीन निजी कंपनियों जियो, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने आवेदन किया है.

उम्मीद की जा रही है कि इस नीलामी में कम से कम 4.3 लाख करोड़ रुपये की कुल 72,097.85 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की पेशकश की जाएगी।

हांलांकि इस खबर की पुष्टि अडानी ग्रुप की तरफ से नहीं की गई है लेकिन विश्वस्त सूत्रों के हवाले से खबर है कि आडनी ग्रुप ने इसके लिए तैयारिया भी कर रखी है.

Advertisement

आडानी ग्रुप ने हाल ही में अडानी ग्रुप ने नैशनल लॉन्ग डिस्टेन्स (NLG) और इन्टरनैशनल लॉन्ग डिस्टेन्स (ILD) लाइसेन्स भी लिए हैं.खबरों के मुताबिक अडानी ग्रुप ने अंतर्राष्ट्रीय कंपनी EdgeConnex के साथ एक 50-50 वेन्चर के लिए हाथ मिलाया है,जिसके तहत वो चेन्नई, नवी मुंबई, नोएडा, वाइजैग और हैदराबाद में बड़े डेटा सेंटर को बना सकें और चला सकें.

अब देखना होगा कि ट्रांसमिशन,ग्रीन एनर्जी, पोर्ट , पावर, गैस , इडेबल्स जैसे बिजनेस में बादशाहत कायम करने के बाद अडानी समूह के लिए इस सेक्टर मे पहले से बादशाहत जमी चुकी रिलायंस और एयरटेल जैसी कंपनियों को कैसे टक्कट देती है . यानी आने वाले समय में उम्मीद की जा सकती है कि 5 G जैसी तेज रप्तार इंटरनेट सर्विस के लिए लोगों के पास कई विकल्प मौजूद होंगे.

ये भी पढ़े 8 अरब तक पहुंच चुकी है दुनिया की आबादी, जानें सबसे ज्यादा आबादी वाले दुनिया के टॉप-10 देशों के बारे में

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article