fbpx

CM केजरीवाल के घर के बाहर सासंद मनोज तिवारी हुए घायल, छठ पूजा पर रोक लगाए जाने पर कर रहे थे विरोध प्रदर्शन!

Must read

नई दिल्ली: दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथार्टी (डीडीएमए) के आदेश पर दिल्ली सरकार द्वारा छठ पूजा पर लगाए प्रतिबंध के विरोध में प्रदेश भाजपा पार्टी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के अगुआई में कई भाजपा नेताओं के साथ मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी घायल हो गए।

दोपहर के समय भाजपा कार्यकर्ता चंदगी राम अखाड़े पर एकत्र हुए और वहां से नारेबाजी करते हुए मुख्यमंत्री आवास की तरफ बढ़ने लगे। तिवारी भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मुख्यमंत्री आवास के तरफ जाने के लिए पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेट पर चढ़ गए।

प्रदर्शन के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के आक्रोश को देखते हुए किसी अनहोनी के डर से कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेड पार करने की कोशिश कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर वाटर कैनन से पानी की बौछार शुरू कर दिया।
अचानक छाती पर पानी की तेज बौछार के कारण बैरिकेट पर चढ़े मनोज के बौछार के साथ कई कार्यकर्ताओं के साथ जमीन पर गिर गए जिससे उनके कान और सर चोट लगी। इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन्हें पास के ट्रामा सेंटर और वहां से सफदरजंग ले गए। वहां पर तिवारी का एमआरआई, सीटी स्कैन करने के बाद उपचार देकर डिस्चार्ज कर दिया।

वहीं आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण का हवाला देकर दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा के आयोजन पर रोक लगा दी गई है। भाजपा और छठ पूजा आयोजन समितियां इस फैसले का विरोध कर रही हैं। तिवारी इसे लेकर पूरी दिल्ली में छठ रथयात्रा निकाल रहे हैं।

Advertisement

प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल सरकार की छठ मनाने पर रोक लगाने वाले फैसले को मुर्खतापूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार हिंदू विरोधी सरकार है और आज जब पूरी दिल्ली खुली हुई है, दुकाने, बाजार, सिनेमाहॉल यहां तक कि स्विमिंग पुल भी खुल चुके हैं तो छठ मनाने पर रोक लगाने का क्या मतलब है। इस बार धूम-धाम से छठ पूजा मनाएगी।

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article