fbpx

शरीर को इन सभी पौष्टिक तत्वों से भरपूर रखती है सहजन की सब्जी, मिलते हैं बेहद हैरान कर देने वाले फायदे!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

नई दिल्ली: बच्चपन से ही हमें हमारे परिवार के लोग हरी सब्जियों का सेवन करने के लिए कहते आए हैं। यहां तक कि जब कभी किसी डॉक्टर से मिलना भी होता था तो सबसे पहले जरूरी विटामिंस और पौष्टिक तत्वों के लिए हरी सब्जी का सेवन करने की सलाह दी जाती थी। उन्हीं सब्जियों में से एक है सहजन। सहजन को कुछ लोग ड्रमस्टिक या मोरिंगा के नाम से भी जानते हैं। आपको बता दें भारत को मोरिंगा का सबसे बड़ा उत्पादक कहा जाता है। कुछ लोग केवल इसकी फलियां ही नहीं बल्कि पत्ते और फूल का भी इस्तेमाल करते हैं।

वहीं सहजन के पौष्टिक तत्वों की बात करें तो इसमें पानी, ऊर्जा, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, विटामिन सी, विटामिन बी6, विटामिन ए आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं जो सेहत को कई समस्याओं से दूर रख सकते हैं। वही शादी के बाद कुछ महिलाओं और पुरुषों के शरीर में शारीरिक कमजोरी आ जाती है, जिसे दूर करने में भी सहजन बेहद काम आ सकता है। आइए जानें सहजन से होने वाले फायदों के बारे में-

सहजन के फायदे

  • सहजन न केवल मोटापे को कम कर सकता है बल्कि इसके अंदर anti-obesity गुण पाए जाते हैं जो वजन को बढ़ने से भी रोकते हैं।
  • सहजन मधुमेह रोगियों के लिए बेहद उपयोगी है। इसके अंदर पाए जाने वाले anti-diabetic गुण मधुमेह के स्तर को कम करने में आपके काम आ सकते हैं।
  • हड्डियों की देखभाल के लिए आप सहजन का इस्तेमाल कर सकते हैं। सहजन के अंदर फास्फोरस, मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक है‌।
  • किसी व्यक्ति को एनीमिया की समस्या हो जाए यानी कि खून की कमी हो जाएं तो सहजन के सेवन से खून की कमी यानी एनीमिया से लड़ा जा सकता है।
  • यदि आपको मस्तिष्क से संबंधित कोई समस्या है तो ऐसे में बता दें कि सहजन के सेवन से मस्तिष्क को ना केवल तंदुरुस्त बनाया जा सकता है बल्कि याददाश्त में भी सुधार लाया जा सकता है।
  • कमजोर इम्यूनिटी को मजबूत करने में सहजन बेहद उपयोगी है। इसके सेवन से व्यक्ति कई खतरनाक संक्रमण से अपना बचाव कर सकता है।
  • शादी के बाद महिलाओं या पुरुषों के शरीर में किसी भी शारीरिक कमजोरी को दूर करने में सहजन बेहद उपयोगी साबित हो सकता है।
  • सहजन के सेवन से पेट की समस्याएं जैसे- पेट में दर्द, अल्सर आदि को दूर किया जा सकता है।

इस तरह करें सहजन का इस्तेमाल

कई जगहों पर लोग सहजन की सब्जी का सेवन करते हैं। वही अगर आप चाहें तो सहजन की पत्तियों का सूप भी बना सकते हैं। इससे अलग आप सहजन की पत्ती और फूल को सुखाएं और उनका पाउडर तैयार करें। अब बने पाउडर को सलाद, सूप या सब्जी में छिड़ककर सेवन करें। पाउडर का सीमित मात्रा में इस्तेमाल करे, इसे ज्यादा मात्रा में छिड़कने से सब्जियां सलाद का स्वाद भी बिगड़ सकता है।

Advertisement

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article