तेलुगु एक्टर महेश बाबू के सपोर्ट में आयी कंगना, वहीं राम गोपाल वर्मा ने दिया तीखा बयान

तेलुगु एक्टर महेश बाबू के सपोर्ट में आयी कंगना, वहीं राम गोपाल वर्मा ने दिया तीखा बयान

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

तेलुगु एक्टर महेश बाबू का कमेंट “बॉलीवुड मुझे अफोर्ड नहीं कर सकता” ने तुल पकड लिया है, आजकल लोग इस बारे में ही बात कर रहें है। हाल ही में राम गोपाल वर्मा ने भी इस पर एक तीखा बयान दिया है।

अब बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी इस बयान दिया है, दरअसल उन्होनें ये बयान तेलुगु स्टार महेश बाबू के समर्थन में दिया है। उन्होनें महेश बाबू का समर्थन करते हुए कहा है कि बॉलीवुड उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता, अभिनेता ने केवल अपने उद्योग के प्रति “सम्मान” दिखाया है उनकी इस कमेंट को विवाद में नहीं बदलना चाहिए।

अपनी फिल्म “धाकड़” के ट्रेलर लॉन्च पर बाबू के बयान पर टिप्पणी करने के लिए पूछे जाने पर, कंगना ने कहा, “वह (बाबू) सही थे कि बॉलीवुड उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता, मैं इससे सहमत हूं। मैं जानती हूं कि कई फिल्म निर्माताओं ने उनसे संपर्क किया है और उन्होंने और उनकी पीढ़ी ने तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री को अकेले ही भारत की नंबर 1 फिल्म इंडस्ट्री बना दिया है। तो अब, बॉलीवुड निश्चित रूप से उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता।”

हालांकि, बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि वह ‘दूसरे उद्योग’ के लिए काम नहीं करना चाहते हैं और केवल तेलुगु फिल्मों पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं।

छोटी-छोटी बातों पर विवाद क्यों पैदा करे? हम यह भी कह सकते हैं कि हॉलीवुड हमें अफोर्ड नहीं कर सकता, मुझे लगता है कि उन्होंने अपने काम और उद्योग के लिए सम्मान दिखाया है, यही वजह है कि वह आज जिस मुकाम पर हैं, उस स्तर तक पहुंचे हैं और हम इससे इनकार नहीं कर सकते। उन्होंने हाल के वर्षों में सभी को पीछे छोड़ दिया है, यहां तक ​​कि तमिल उद्योग को भी। हमें उनसे बहुत कुछ सीखना है।

इस पर राम गोपाल वर्मा का भी बयान आया है उन्होनें कहा है कि, “एक अभिनेता के रूप में यह उनकी पसंद है। लेकिन मुझे ईमानदारी से समझ में नहीं आया कि बॉलीवुड से उनका क्या मतलब है, “बॉलीवुड मुझे अफोर्ड नहीं कर सकता”। मैं अभी भी यह पता लगाने में असमर्थ हूं कि उनका क्या मतलब था। इसके द्वारा क्योंकि बात यह है कि, यदि आप हाल ही में दक्षिण भारतीय फिल्मों को देखते हैं, तो उन्हें डब किया गया और रिलीज़ किया गया और उन्होंने जो भी पैसा कमाया। साथ ही, सबसे पहले, बॉलीवुड एक कंपनी नहीं है। यह मीडिया द्वारा दिया गया एक लेबल है। एक व्यक्तिगत फिल्म कंपनी या एक प्रोडक्शन हाउस आपको एक विशेष कीमत पर एक फिल्म करने के लिए कहेगा, मुझे यह समझ में नहीं आता है। बॉलीवुड एक कंपनी नहीं है, इसलिए उसका संदर्भ नहीं समझा जाता है।”

महेश बाबू ने आदिवी शेष की मेजर के ट्रेलर लॉन्च में एक बड़ा बयान दिया है। जब एक पत्रकार ने उनसे हिंदी डेब्यू के बारे में पुछा तब उन्होनें कहा कि “मैं अहंकारी लग सकता हूं, मुझे हिंदी में बहुत सारे प्रस्ताव मिले है। लेकिन मुझे लगता है कि वे मुझे अफोर्ड नहीं कर सकते है। मैं अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहता। तेलुगू सिनेमा में मुझे यहां जो स्टारडम और प्यार मिला है, इस कारण मैंने कभी दूसरी इंडस्ट्री में जाने के बारे में नहीं सोचा था।

ये भी पढ़े हिंदी फिल्में नहीं करने पर खुलकर बोले महेश बाबू, रिपोर्टर को दिया करारा जवाब; कहा- ‘बॉलीवुड मुझे अफोर्ड नहीं कर सकता’

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article