20.1 C
Delhi
मंगलवार, फ़रवरी 7, 2023

जाने पिंपल्स के प्रकार और इसके कारण, पढ़े पूरी जानकारी!

पिंपल्स की समस्या अक्सर सभी के साथ कभी ना कभी तो होती ही है। पिंपल्स केवल हमारे चेहरे तक ही नहीं बल्कि कंधे, चेस्ट और कमर में ऊपर की तरफ भी इसकी समस्या देखने को मिलती है। इसकी समस्या अधिकतर चेहरे पर ही देखने को मिलती है। वहीं इसके अलावा जिन लोगों की सेंसेटिव स्किन और ऑइली स्किन होती है उनके साथ चेस्ट, ब्रेस्ट, कंधे और कम के ऊपरी हिस्से में भी पिंपल्ल से समस्या देखने को मिलती है।

Table of Contents

6 प्रकार के होते है पिंपल्स

  1. सिस्ट
  2. ब्लैकहेड्स
  3. वाइटहेड्स
  4. पैपुल्स
  5. पस्टुल
  6. नोड्यूल्स

जानें इन सभी पिंपल्स में अंतर

  • हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक सिस्ट जिन्हें गांठ के नाम से भी जाना जाता है, ये पिंपल्स पक जाते हैं लेकिन फूटते नहीं हैं और इन में दर्द भी काफी होता है। शरीर में जिस जगह होते है वही सुख भी जाते है और अपना निशान छोड़ जाते हैं। ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स यह दोनों की पिंपल्स के प्रकार है और दोनों ही चेहरे की सॉफ्टनेस और सुंदरता को खराब करने का काम करती है। जैसा इनका नाम होता है वैसा ही इनका कलर भी होता है ये सख्त और लंबे रेशे होते हैं। ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स चेहरे की त्वचा के रोमछिद्रों में जमा हो जाते है और पोर्स को ब्लॉक करने का काम करते हैं।
  • पैपुल्स पिंपल्स होने के पीछे का कारण कोई स्किनकी समस्या नहीं है, बल्कि ये पिंपल कोई कट लगने से या कीड़े के काटने से हो सकता है। इस पिंपल का रंग डार्क रेड या लाइट पिंक होता है।
  • शरीर में दाना या फुंसी के रूप में होने वाले पिंपल को पस्टुल्स कहा जाता है। ये पिंपस मुलायम व उभरी गांठ के होते है और इनका रंग लाल होता है। पस्टुल्स की समस्या होने पर दर्द, दुखन और खुजली होती है।
  • नोड्यूल्स सभी पिंपल की तरह स्किन में बहार की तरफ नहीं होते, बल्कि ये तो त्वाचा में अंदर की ओर बढ़ते है। इनका आकार भी सबसे बड़ा होता है और ये सख्त होने के साथ साथ तेज दर्द भी देते है।

पिंपल्स होने के कारण

  • ऑइली स्किन में अत्यधिक सीबम होने के कारण
  • स्किन की साफ सफाई ना रहने के कारण
  • दवाई का रिऐक्शन होने पर
  • किसी भी पुरानी बिमारी के कारण
  • कॉस्मेटिक चिजों का रिऐक्शन होने के कारण
  • स्किन पर एलर्जी होने के कारण
  • त्वचा में बैक्टीरिया के कारण
  • पेट खराब या कब्ज होने पर

ये भी पढ़े – इम्यूनिटी बुस्ट करने के लिए अपनी डाइट में शामिल करें ये चीज है, दूर रहेगी बड़ी से बड़ी बीमारी!

Disclaimer

हमारा प्रयास रहता है कि हम आपके लिए एक दम सटीक जानकारी लेकर आए और इसलिए हम तथ्यों और विशेषज्ञों के द्वारा बताई गई ही जानकारी आपके लिए लेकर आते है। हम सभी का शरीर अलग-अलग तरीके का है। इसलिए इसे भी नकारा नहीं जा सकता कि हर टिप्स आपके शरीर पर एक ही तरह से काम करेगी। इसलिए किसी भी टिप को अपनाने से पहले आप अपने डॉक्टर या फिर किसी विशेषज्ञ की राय जरूर लें। हमारा काम आपके लिए होम रेमेडी और फिटनेस टिप लेकर आना है लेकिन उन्हें ट्राई करने से पहले आपको भी उसकी पूरी पड़ताल करनी चाहिए और तभी इन टिप्स को इस्तेमाल में लाना चाहिए।

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles