11.1 C
Delhi
बुधवार, दिसम्बर 7, 2022

मीन राशि वालों को कौन सा व्रत करना चाहिए, किसकी पूजा करनी चाहिए? और क्या दान देना चाहिए

मीन राशि वाले लोग ईमानदार होते हैं। ये देवगुरु बृहस्पति की राशि है। मीन राशि वाले लोग हमेशा अपनी मेहनत पर भरोसा करते हैं। मीन राशि वाले लोगों को खर्च की अधिकता होने पर कभी-कभी आर्थिक कष्ट का सामना करना पड़ता है। मीन राशि वाले लोगों को दिखावे से परहेज होता है। मीन राशि वालों के लिए ज्योतिष शास्त्र में कामयाबी और चुनौतियों से निबटने के लिए उपाय बताए गए हैं।

आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुल 12 राशियाँ होती हैं और इनके भगवान भी अलग-अलग होते हैं। व्यक्ति का नामकरण राशि के आधार पर किया जाता हैं। क्योंकि राशि के आधार पर व्यक्ति का भविष्य और उसका स्वभाव देखा जाता हैं।

सभी 12 राशियों की संख्या में बारहवीं और अंतिम राशि मीन है। मीन राशि के इष्टदेव विष्णु और स्वामी ग्रह गुरु हैं। इसका चिन्ह मछली है। ये चिन्ह मीन राशि के शांत, कोमल और दयालु स्वभाव को दर्शाता है।

Table of Contents

मीन राशि वालों को किसकी पूजा करनी चाहिए?

भगवान की अराधना व पूजा पाठ में इंसान के सभी दुखों का समाधान निहित है। ईश्वर अपने भक्तों पर जब प्रसन्न होते हैं तो वे उनके जीवन को खुशियों से भर देते हैं। आपको बता दें कि मीन राशि के जातकों को विष्णु जी और लक्ष्मी जी की पूजा करनी चाहिए, क्योंकि इन जातकों के इष्ट देव विष्णु जी और लक्ष्मी जी हैं।

विष्णु भगवान की पूजा विधि

मीन राशि वाले जातको को गुरुवार के दिन भगवान विष्णु जी की पूजा के लिए सुर्योदय से पहले उठकर स्नान करके साफ वस्त्र धारण करने चाहिए। एक चौकी पर साफ कपड़ा बिछाकर उस पर भगवान विष्णु की तस्वीर या मूर्ति रखें। सबसे पहले प्रथम पूज्य गणेश जी की जानी है, पहले उन्हें स्नान कराएं, वस्त्र, पुष्प, अक्षत आदि अर्पित करें। इसके बाद भगवान विष्णु का पूजन आरंभ किया जाएगा।

विष्णु पूजन के लिए पहले विष्णु जी का आवाहन करें, फिर विष्णु जी को स्नान कराएं। इसके बाद पंचामृत एवं जल से उनको शुद्ध करें। विष्णु जी को वस्त्र और आभूषण पहनाएं। विष्णु जी का दीप और धूप अर्पित करें। विष्णु जी को पीले फूलों की माला पहनाएं और पीले रंग के फलों का भोग लगाएं। भगवान विष्णु की पुजा में चावलों की जगह पर तिल का प्रयोग करें। इसके बाद माथे पर तिलक करें। फिर विष्णु जी की आरती करें। आरती के बाद ॐ नमः नारायणाय मंत्र का जाप करें।

मीन राशि वाले जातको को कौन सा व्रत करना चाहिए?

मीन राशि वाले जातको का स्वामी ग्रह गुरु हैं, इसलिए इन जातकों को बृहस्पतिवार की पूजा करनी चाहिए। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा होती है। भगवान विष्णु को ही बृहस्पति भगवान भी कहते हैं। इस दिन व्रत रखने से गुरु की स्थिति मजबूत होती है। जिससे जीवन में सफलता मिलती है और इस व्रत को रखने से वैवाहिक जीवन सुखद हो जाता है।

मीन राशि के लिए मंत्र

  1. बृ​ह​स्पति देव की कृपा पाने के लिए मंत्र- ॐ बृं बृहस्पतये नम:
    -धन प्राप्ति के लिए मंत्र- ॐ ह्रीं क्लीं सौं:
    -सुख समृद्धि के लिए मंत्र- ऊँ नमो नारायण

इन मंत्रो का जाप कैसे करें

इन मंत्रो का जाप करने के लिए आप घर के मंदिर में भगवान विष्णु जी की पूजा अराधना करें। पूजा में फूल, प्रसाद आदि सामग्री प्रतिमा को चढ़ाएं। इसके बाद आसन पर बैठकर 108 बार मंत्र का जाप करें।

क्या करें दान

मीन राशि वालों का गुरु बृहस्पति हैं। हिंदू धर्म में राशि के अनुसार दिए जाने वाले दान का काफी महत्व है। मीन राशि के जातको को गुरु ग्रह से संबंधित चीजें जैसे पीली चीज, पीले फल, पुस्तक, दूध देने वाली गाय, लाल वस्त्र, लाल चंदन, तांबा, केसर, मूंगा आदि का दान करना चाहिए।

ये भी पढ़े – जानें मेष राशि के जातक क्यों रहते है परेशान, क्या है इनके दुख के कारण और इसके उपाय !

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles