38.1 C
Delhi
गुरूवार, जून 20, 2024
Recommended By- BEdigitech

राहुल गांधी ने वीडियो के माध्यम से साझा किया कोरोना में मरने वाले लोगों का दर्द, राज्य सरकार पर डाला 4 लाख मुआवजा देने का दबाव, गुजरात मॉडल पर भी उठाए सवाल

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अक्सर गुजरात मॉडल पर बात करते हुए सुना जाता है लेकिन अब इसी गुजरात मॉडल को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है।

दरअसल राहुल गांधी ने भाजपा शासित राज्य गुजरात में कोरोना वायरस से हुई मौतों के आंकड़ों को लेकर कई सवाल खड़े किए हैं। इतना ही नहीं राहुल गांधी ने कोरोना से मारे गए परिवारों को राज्य सरकार से मुआवजा देने की भी मांग की है।

बता दें कि, राहुल गांधी ने गुजरात मॉडल पर सवाल खड़े करते हुए अपने ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया है, जिसमें गुजरात के रहने वाले उन लोगों का दर्द बयां किया गया है, जिन्होंने कोरोना के समय किसी अपने को खोया है।

राहुल गांधी द्वारा साझा किए गए वीडियो में राहुल गांधी कहते नजर आ रहे है कि गुजरात मॉडल की बात तो होती रहती है। हमने जिन परिवारों से बात की सबने ये कहा कि कोविड के समय ना उनको ऑक्सीजन मिला, ना बेड मिला और ना ही वेंटिलेटर मिला।

Advertisement

राहुल गांधी इस वीडियो में कहते हैं कि जब सरकार को लोगों की मदद करनी थी तब सरकार नहीं थी। जब लोगों को मुआवजे की जरूरत थी तब भी वो वहां नहीं थी। राज्य सरकार झूठा आंकड़ा देती है, राज्य में 10 हजार नहीं बल्कि तीन लाख लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

राहुल गांधी ने वीडियो में आगे कहा कि मुआवजा तीन लाख लोगों को मिलना चाहिए। लेकिन आज के गुजरात में 10 हजार लोगों को 50 हजार रुपये दिए जाते हैं।

पीएम मोदी पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री के पास हवाई जहाज खरीदने के लिए तो करोड़ों रुपये है लेकिन गुजरात में मारे गए लोगों के परिवार को देने के लिए नहीं है।

कोरोना में मारे गए लोगों की आवाज को उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी की मांग है कि हर परिवार को 4 लाख रुपये दिया जाए। कोरोना के दौरान बड़े उद्योगपतियों का टैक्स माफ किया गया लेकिन कोरोना से मारे गए लोगों की मदद नहीं की। राहुल गाांधी ने कहा कि जो लोग कोरोना से मरे हैं वो वापस नहीं आएंगे, लेकिन कांग्रेस पार्टी सरकार पर दबाव बनाएगी कि वो 4 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर पीड़ित परिवारों को दे।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles