11.1 C
Delhi
बुधवार, दिसम्बर 7, 2022

Saridon Tablet Uses In Hindi | सेरिडॉन टेबलेट से जुड़ी जानें ये खास बातें, इसके उपयोग, लाभ (Benefits), साइड इफेक्ट (Side Effects) और सावधानियां!

Saridon Tablet Uses in Hindi – हेलो दोस्तों, आपका हमारी वेबसाइट Duniyakamood पर बहुत बहुत स्वागत हैं ! हम आपको इस लेख में बताने जा रहे हैं की saridon tablet uses in hindi , Saridon Side effects in Hindi, Saridon Tablet ke fayde, How to take Saridon tablet और सारी जानकारी जानने के लिए हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

अक्सर सिर दर्द, सर्दी, दर्द या बुखार में डाक्टरों द्वारा दी जाने वाली सेरिडॉन टेबलेट को लेकर कई सवाल लोगों के जहन में आते हैं। सेरिडॉन टेबलेट आपको आसानी से आपके किसी भी पास के मेडिकल स्टोर से मिल जाती है। आज हम आपको इस आर्टिकल में इस दर्द निवारक दवा के बारे में जानकारी देने जा रहे है। आपको बता दें, मरीज की उम्र, लिंग व स्वास्थ्य संबंधी पिछली जानकारी के आधार पर ही Saridon की खुराक निर्धारित की जाती है। यह खुराक मरीज की परेशानी और दवा देने के तरीके पर निर्भर करती है।

कुछ मामलों में Saridon के कुछ अन्य साइड इफेक्ट भी देखे जा सकते हैं। Saridon के दुष्प्रभाव जल्दी ही खत्म हो जाते हैं और इलाज के बाद जारी नहीं रहते। गर्भवती महिलाओं पर Saridon का प्रभाव मध्यम होता है और स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर इस दवा का प्रभाव अज्ञात है। Saridon से जुड़ी चेतावनी कि इसका लिवर, हार्ट और किडनी पर क्या असर होता है, इसके बारे में भी हम इस आर्टिकल पर बात करेंगे।

यदि किसी व्यक्ति को गुर्दे की बीमारी, लिवर रोग, Drug Allergies जैसी कोई समस्या है, तो उसे Saridon दवा नहीं लेनी चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। ऐसी कुछ अन्य समस्याएं भी हैं, जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे। साथ ही, Saridon को कुछ दवाओं के साथ लेने से गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

आइये इस टैबलेट के बारे में और अधिक विस्तार से जानते हैं कि यह कहाँ इस्तेमाल होती है, कैसे काम करती है और इसके क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं।इस आर्टिकल में आप जानेंगे Saridon Tablet के लाभ, उपयोग करने के तरीके, खुराक और साइड इफेक्ट्स, नुकसान के बारें में।

सेरिडॉन क्या है? What is Saridon

Saridon Tablet Uses HindiSaridon tablet एक एनाल्जेसिक है जो आमतौर पर सिरदर्द, सामान्य सर्दी और मासिक धर्म में ऐंठन के लिए उपयोग किया जाता है। यह एक ओवर-द-काउंटर दवा है जो बुखार, दांत दर्द और गठिया से संबंधित दर्द से संबंधित दर्द की शिकायत करने वाले रोगियों को तत्काल राहत प्रदान करती है। सेरिडोन तीन अणुओं, पैरासिटामोल, प्रोपीफेनाज़ोन और कैफीन से बना है। इन अणुओं के कुछ अलग कार्य होते हैं और साथ में, दर्द को कम करने में उत्कृष्ट प्रभाव दिखाते हैं।

सेरिडोन आमतौर पर 10-टैबलेट ब्लिस्टर पैक में 50 मिलीग्राम की खुराक में उपलब्ध है।

सेरिडॉन टेबलेट के प्रयोग हिंदी में saridon tablet prayog in hindi

सेरिडोन एनएसएआईडी अणुओं का एक वर्ग है जो शरीर में रासायनिक संदेशवाहकों को अवरुद्ध करके शरीर के तापमान और सूजन को कम करने में मदद करता है जो इस सूजन का कारण बनते हैं।

पेरासिटामोल, प्रोपीफेनाज़ोन और कैफीन तीन आवश्यक अणु विभिन्न बीमारियों में दर्द को कम करने में मदद करते हैं।

  • पैरासिटामोल (250 एमजी) – इस साल्ट को अधिकतर दर्द निवारक दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है। इसके एनाल्जेसिक और एंटीपायरेटिक प्रभाव हल्के से कम गंभीर दर्द व बुखार को ठीक करने में मदद करते हैं।
  • प्रोपाइफेनाजोन (150 एमजी) – इस साल्ट में एंटी-इंफ्लमेटरी, एंटीपायरेटिक और एनाल्जेसिक गुण होते हैं जो सूजन, बुखार और दर्द को दूर करते हैं।
  • कैफीन (50 एमजी) – यह एक प्राकृतिक पदार्थ है जिसे चाय पत्ती, कॉफी के बीज और कोकोआ से निकाला (एक्सट्रेक्ट) जाता है। यह मस्तिष्क को उत्तेजित कर हमें ऊर्जा प्रदान करती है जिससे हम अलर्ट हो जाते हैं।

सेरिडॉन टेबलेट के उपयोग हिंदी में saridon tablet uses in hindi

  • सिर दर्द।
  • साइनसाइटिस।
  • बुखार से जुड़ी कमजोरी और मांसपेशियों में दर्द।
  • कष्टार्तव और मासिक धर्म में ऐंठन के कारण होने वाला दर्द।
    -गठिया के कारण जोड़ों में दर्द।
    -दांत का दर्द।
    -क्रोनिक माइग्रेन।

सेरिडॉन कैसे काम करती है?

सेरिडॉन टैबलेट एक हल्की दर्द निवारक दवा है जिसे आमतौर पर मासिक धर्म में ऐंठन और सिरदर्द और दांत दर्द को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। सेरिडॉन में सक्रिय घटक यानी मुख्य साल्ट पैरासिटामोल, कैफीन और प्रोपाइफेनाजोन होते हैं जो बुखार के कारण होने वाली असुविधा को कम करने में मदद करते हैं।

इन सभी का कॉम्बिनेशन मस्तिष्क के मैसेंजर तंत्रिकाओं को संकेत भेजने से रोकता है। जिससे व्यक्ति को दर्द महसूस नहीं होता है। यह दवा शरीर पर 4 से 6 घंटों तक प्रभाव दिखाती है। इसकी समय सीमा व्यक्ति दर व्यक्ति विभिन्न भी हो सकती है।

सेरिडॉन का सामान्य डोज क्या है? Saridon Dosage

सेरिडॉन टैबलेट को डॉक्टर द्वारा निर्धारित किए गए समय पर लेना चाहिए। हालांकि, अधिकतर मामलों में वयस्कों को इस दवा के लिए डॉक्टरी सलाह की आवश्यकता नहीं होती है।

  • वयस्कों के लिए खुराक – एक दिन में एक गोली लेने की सलाह दी जाती है, लेकिन जरूरत पड़ने पर युवा दिन में 3 गोलियों का भी सेवन कर सकते हैं।
  • बच्चों के लिए डोज – 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को इसका सेवन न करवाएं। यह किशोरावस्था में हानिकारक माना जाता है। इसका मस्तिष्क पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है। जिससे तबियत अधिक खराब हो सकती है।
  • दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करें। इसके अलावा खुराक लेने का तरीका लेबल पर लिखा होता है उसे ध्यान से पढ़ना चाहिए।

सेरिडॉन के साइड इफेक्ट्स Saridon Side Effects

सेरिडॉन के तीन अणुओं पैरासिटामोल, कैफीन या प्रोपाइफेनाजोन के अधिक या गलत इस्तेमाल के कारण शरीर पर इसका बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है। इस दवा के दुष्प्रभाव व्यक्ति की उम्र, बीमारी की वजह और गंभीरता पर निर्भर करते हैं। निम्न कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स हैं जिनके लक्षण दिखाई देने पर चिकित्सक परामर्श की जरूरत पड़ सकती है।

  • एंजायटी
  • जलन
  • पेट में दर्द
  • दस्त या कब्ज
  • एलर्जी
  • भूख न लगना
  • घबराहट
  • एनीमिया
  • हृदय की अनियमित धड़कन
  • एडिमा
  • लिवर की क्षति
  • मतली या उल्टी
  • त्वचा पर चकत्ते
  • अपच
  • अनिद्रा
  • हाइपोग्लाइसीमिया
  • चरम रोग (स्किन रैश या त्वचा पर खुजली)

सेरिडॉन टेबलेट द्वारा होने वाले सभी दुष्प्रभाव से जुड़ी किसी भी प्रकार की मानसिक व शारीरिक असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

सावधानियां और चेतावनी

कई लोगों का मानना है कि सोरिडॉन टेबलेट एक सुरक्षित दवा है, लेकिन आपको बता दें ये गलत धारणा है क्योंकि गलत व अत्यधिक इस्तेमाल के कारण इसके कई हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं। सेरिडॉन को लेने से पहले आपको निम्न बातों व सावधानियों के बारे में पता होना चाहिए

  • अगर आप दवा में मौजूद सक्रिय घटक से एलर्जिक हैं तो इसका सेवन बिलकुल न करें और अन्य विकल्पों का चयन करें। इसके लिए आप डॉक्टर से सलाह भी ले सकते हैं।
  • गिल्बर्ट सिंड्रोम व हेमाटोपोईएटिक डिसफंक्शन से पीड़ित मरीजों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। इससे गंभीर दुष्प्रभाव जैसे सांस फूलना, पुराना सिरदर्द या अस्थमा भी हो सकते हैं।
  • अगर आपको लिवर संबंधित रोग है तो सेरिडॉन का सेवन अधिक सावधानी के साथ करें। लंबे समय तक इसका सेवन करने से लिवर की समस्या बढ़ सकती है। बेहतर रहेगा कि आप इसका सेवन केवल डॉक्टर के निर्देश अनुसार ही करें।
  • दवा को तीन दिन खाने के बाद भी यदि लक्षण और बीमारी कम न हो तो डॉक्टर से संपर्क करें। सेरिडॉन में पहले से ही कैफीन की कुछ मात्रा मौजूद होती है। ऐसे में अन्य कैफीन युक्त पदार्थ जैसे कॉफी, चाय और कोल्डड्रिंक का सेवन कम कर दें।

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सेरिडॉन का सेवन?

गर्भावस्था के दौरान सेरिडॉन का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ सकता है। इसके अलावा जन्म से होने वाले विकारों की आशंका भी बढ़ जाती है। विपरीत प्रभाव से बचने के लिए डॉक्टर से परामर्श करें।

अगर आप स्तनपान करवाती हैं तो भी आपको इस दवा से परहेज करने की जरूरत है। इसके आप पर व आपके शिशु पर अच्छे व बुरे दोनों प्रभाव पड़ सकते हैं। स्तनपान अधिकतर मामलों में किसी भी प्रकार की दवा का सेवन करने पर शिशु को स्तनपान नहीं करवाना चाहिए। इससे बच्चे में भी साइड इफेक्ट्स देखे जा सकते हैं।

ये भी पढ़े – Paracetamol tablet uses in hindi | पेरासिटामोल लेने से पहले जाने ये जरूरी बातें, इन दवाओं के साथ भूले से ना करें इसका सेवन!

इन दवाइयों के साथ ना लें सेरिडॉन

यह बात तओ‌हम सभी जानते हैं एक से अधिक दवाओं का सेवन करने से ड्रग रिएक्शन का जोखिम बढ़ जाता है। ऐसी कई दवाएं हैं जिन्हें सेरिडॉन के साथ लेने से जानलेवा खतरा हो सकता है। स्थिति को अधिक गंभीर होने से बचाने के लिए सेरिडॉन का इन दवाओं के साथ सेवन न करें-

  • इथेनॉल (Ethanol)
  • एफेड्राइन (Ephedrine)
  • टाइजैन (Tizan)
  • एसिक्लोफेनाक (Aceclofenac)
  • एस्पिरिन (Aspirin)
  • लेफ्लूनोमाइड (Leflunomide)
  • कार्बामाजेपाइन (Carbamazepine)
  • परिलोकैन (Prilocaine)

ये भी पढ़े – क्या है डेक्सोना टेबलेट, कब और किस तरह लेने चाहिए इसकी खुराक, पढ़ें पूरी जानकारी! Dexona Tablet uses in hindi

ये भी पढ़े – Lycopodium 200 uses in hindi | लाइकोपोडियम क्या है और इसे किस लिए उपयोग किया जाता है, जाने इस्तेमाल करने के दिशानिर्देश

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles