स्कूली बच्चों ने Puneeth Rajkumar के नाम पर बनाई सेटेलाइट, पिछले साल अक्टूबर में हुआ था निधन

स्कूली बच्चों ने Puneeth Rajkumar के नाम पर बनाई सेटेलाइट, पिछले साल अक्टूबर में हुआ था निधन

Must read

राजन चौहान
राजन चौहानhttps://www.duniyakamood.com/
मेरा नाम राजन चौहान हैं। मैं एक कंटेंट राइटर/एडिटर दुनिया का मूड न्यूज़ पोर्टल के साथ काम कर रहा हूँ। मेरे अनुभव में कुछ समाचार चैनलों, वेब पोर्टलों, विज्ञापन एजेंसियों और अन्य के लिए लेखन शामिल है। मेरी एजुकेशन बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सीएसई) हैं। कंटेंट राइटर के अलावा, मुझे फिल्म मेकिंग और फिक्शन लेखन में गहरी दिलचस्पी है।

पुनीत राजकुमार का पिछले साल 29 अक्टूबर 2021 को निधन हो गया था। उनका निधन दिल का दौरान पड़ने की वजह से हुआ था। एक्टर के अचानक निधन से उनके फैंस सदमे में आ गए थे. उनके फैंस लगातार उनके लिए श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।

आपको बता दें कि पुनीत राजकुमार को लोग अप्पू कहकर बुलाते है। पुनित एक भारतीय अभिनेता, गायक, टेलीविजन प्रस्तोता और निर्माता थे, जिन्होंने कन्नड़ सिनेमा में काम किया है। वह कन्नड़ सिनेमा के सबसे लोकप्रिय अभिनेताओं में से एक थे। पुनित ने 29 फिल्मों में मुख्य भूमिका में काम किया था।

पावर स्टार पुनीत राजकुमार को श्रद्धांजलि देने के लिए स्कूली बच्चों ने पुनीत नाम एक सेटेलाइट बनाया है, जिसे श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया जाएगा। विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री सीएन असवंत नारायण ने इस बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए कहा, “बेंगलुरू के एक सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों ने 1.90 करोड़ रुपये की लागत से एक KGS3 सेटेलाइट तैयार किया है। हमने सेटेलाइट का नाम दिवंगत अभिनेता की याद में पुनीत रखा है। सैटेलाइट को 15 नवंबर से 31 दिसंबर के बीच लॉन्च किया जाना है।

आजादी का अमृत महोत्सव पहल के तहत इस का निर्माण किया गया है। डॉ. नारायण ने आगे इस बारे में बताया कि सरकार की इस पहल के तहत राज्य के सभी स्कूलों और कॉलेजों के विभिन्न छात्र और आयोजित की गई राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए शामिल होने वाले है. उनमें से चयनित छात्रों के समूह में से 1000 छात्रों को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। चुने गए छात्रों को श्रीहरिकोटा जाने का मौका मिलेगा। जिन्हें सैटेलाइट पुनीत के लॉन्च का गवाह बनने का मौका मिलेगा। कर्नाटक के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ने बताया है कि यह अन्य सेटेलाइट से अलग है, इसका वजन लगभग डेढ़ किलो होगा।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी का अमृत महोत्सव को शुरु करते हुए छात्रों की तरफ से तैयार किए गए 75 सेटेलाइट को लॉन्च करने का आग्रह किया है. राज्य पुनीत नाम से अपनी पहली सेटेलाइट प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है। प्रोजेक्ट का मूख्य उद्देश्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी, गणित और इंजीनियरिंग में छात्रों को समृद्ध करना है।

ये भी पढ़े Asia Cup 2022 : दुबई में इंडिया को सपोर्ट करने पहुंचे विजय देवरकोंडा, भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article