11.1 C
Delhi
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

सूर्य को जल चढ़ाते हुए कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलती, हो जाएं सावधान ?

हम सभी को कहा जाता है कि अगर जीवन में सफलता हासिल करनी हो तो हमें प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए। क्योंकि अगर कुंडली में सूर्य कमजोर हो तो इसके कई नुकसान होते हैं।

इससे निजात पाने के लिए ज्योतिषी अक्सर सूर्य को सही स्थिति में लाने के उपाय बताते हैं। इन सभी उपायों में सबसे ज्यादा बताए जाने वाला उपाय है सूर्य को जल चढ़ाना।

लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर आप गलत तरीके से जल चढ़ाते है तो आपको फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। इसका दुष्प्रभाव इतना घातक होता है कि गलत तरीके से जल चढ़ाने से आप करोड़पति से कंगाल भी हो सकते है।

तो आइए अब आपको बताते है कि आपको सूर्य को जल चढ़ाते हुए क्या गलतियां नहीं करनी चाहिए और आपको क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

surya arghya

Table of Contents

सूर्य को ऐसे अर्पित करें जल ?

अगर बात करें सूर्य को जल अर्पित करने के सही तरीके की तो आपको सबसे पहले उठकर स्नान करना चाहिए। इसके बाद साफ धुले कपड़े पहनकर आपको सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए।

इस दौरान आपके मन में अच्छे विचार होने चाहिए। इसके अलावा जब आप सूर्य को जल अर्पित करें तो 11 से 21 बार गायत्री मंत्र का पाठ करें। साथ ही जल चढ़ाने के उपरांत सूर्य को नमस्कार भी करें।

ऐसा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है और जीवन में सफलता, सौभाग्य और समृद्धि प्राप्त होती है। अब अगर आप सूर्य के उपाय करने जा रहे है तो सबसे शुभ दिन माना जाता है रविवार का दिन। इसलिए आप इसी दिन से सूर्य उपाय की शुरुआत करें।

ये गलतियां भूलकर भी ना करें ?

अगर आप सूर्य को जल चढ़ाने जा रहे है तो कुछ गलतियां आपको भूलकर भी नहीं करनी चाहिए। इनमें से कुछ गलतियां हम आपके लिए लेकर आए है। तो आइए वह गलतियां जान लेते है।

बिना धुले कपड़ें ना पहने

जब भी आप जल चढ़ाने जाएं तो ध्यान रखें कि आपके कपड़े साफ हो। क्योंकि गंदे कपड़े पहनकर सूर्य को जल चढ़ाने से इसके नुकसान होते हैं।

साफ जगह चढ़ाएं जल

जब भी आप जल चढ़ाने जाएं तो ध्यान रखें कि सूर्य को अर्पित किया गया जल किसी गलत स्थान पर ना जाएं ऐसा होने पर फल मिलने से अधिक उसका दुष्प्रभाव पड़ता है और सूर्य का दोष भी लगता है।

जल के छीटें पैरों पर ना लगे

इसके अलावा ध्यान रखें कि जब आप जल चढ़ाने जाएं तो उसके छीटें आपके पैरों पर ना गिरे ऐसा होने पर इससे भी दोष लगता है।

ब्रह्म मुहूर्त में अर्पित करें जल

अगर आप सूर्य को जल अर्पित करते है तो आप यह कार्य ब्रह्म मुहूर्त में ही कर लें। 12 बजे के बाद सूर्य को जल चढ़ाने से फायदे की जगह नुकसान होते हैं।

जल में ना डाले ये वस्तु

अगर आप जल चढ़ने जा रहे है और जल में पुष्प, सिंदूर या दूसरी वस्तुएं मिला कर सूर्य को जल चढ़ा रहे हैं तो आपको ये गलती नहीं करनी चाहिए। आपको सूर्य को सामान्य जल ही अर्पित करना चाहिए। वरना आपको फायदे की जगह नुकसान होगा।

ये भी पढ़े घर से दरिद्रता और बुरी शक्तियों को दूर करती है एरोवाना मछली, जानें इसे रखने से होने वाले लाभ और इसके लिए सही दिशा!

ये भी पढ़े  आपके भी जीवन को खुशहाल बना सकता है पिरामिड, जानें इसे घर में रखने की सही दिशा और स्थान!

शुभम सिंह
शुभम सिंह
शुभम सिंह शेखावत हिंदी कंटेंट राइटर है। वह कई टॉपिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करते है जैसे कि हेल्थ, एंटरटेनमेंट, वास्तु, एस्ट्रोलॉजी एवं राजनीति। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। वह कई समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम कर चुके है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles