fbpx

तुलसी के पौधे पर जानिए जल के अलावा क्या क्या चढ़ाना होता है शुभ, और किस वजह से मां लक्ष्मी हो जाती है नाराज!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को बहुत शुभ माना जाता है और इसका अलग ही महत्व होता है। माना जाता हैं कि तुलसी का पौधा मां लक्ष्मी का रूप है यदि आपके जीवन में धन से जुड़ी कोई समस्या है तो आप तुलसी की पूजा औऱ इसके उपाय करके इनको दूर भी कर सकते है। आज हम आपको वास्तु शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र में तुलसी को लेकर बताए गए कुछ जरूरी नियमों के बारे में बताने जा रहें है और साथ ही हम आपको तुलसी से जुड़े कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण टिप्स के बारे में भी जानकारी देगें।

Table of Contents

कब लगाए तुलसी का पौधा

यदि आप भी अपने घर में तुलसी का पौधा लगाना चाहते है तो वास्तु शास्त्र में इसके के लिए सबसे अच्छा समय कार्तिक माह का माना जाता हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कार्तिक माह में घर में तुलसी का पौधा लगाने से मां लक्ष्मी का वास होता है जिसके बाद आप कभी आर्थिक परेशानी नहीं होती।

वास्तु शास्त्र में तुलसी के नियम

  1. वास्तु शास्त्र में तुलसी का पौधा लगाने के लिए उत्तर दिशा या फिर उत्तर-पूर्व दिशा बताई जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें इन दिशाओं में हिंदू देवी- देवताओं का वास होता है।
  2. वास्तु के मुताबिक तुलसी का पौधा खिड़की, छत या बालकानी में भी लगा सकते है।
  3. यदि आपने भी तुलसी का पौधा दक्षिण दिशा में लगा रखा हैं तो आप इसे यहां से हटा दो। वास्तु के अनुसार दक्षिण दिशा पितरों के लिए मानी जाती है यहां पौधा लगाने से आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है।
  4. वास्तु के मुताबिक तुलसी के पौधे को हम ईशान कोण (जमीन के उत्तर-पूर्व कोना) में भी लगा सकते हैं।
  5. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के प्रवेश द्वार कभी तुलसी का पौधा नहीं लगाना चाहिए।
  6. वास्तु के अनुसार तुलसी के पौधें को लगाने के लिए कभी भी प्लास्टिक से बर्तनों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसको लगाने के लिए हमेशा मिट्टी के बने बर्तन में ही रखना चाहिए।

वास्तु शास्त्र द्वारा तुलसी पूजा नियम

  1. हमें तुलसी की पुजा रोज ही करनी चाहिए लेकिन शाम के समय के भूले से भी तुलसी को छुना नहीं चाहिए। साथ ही हमें रविवार के दिन तुलसी को जल नहीं चढ़ाना चाहिए।
  2. हम में से अक्सर कई लोगों का सवाल रहता हैं कि हम तुलसी के पौधे पर जल के अलावा क्या क्या चढ़ा सकते है। तो आपको बता दें आप तुलसी के पौधे पर दूध भी चढ़ा सकते है, माना जाता हैं कि कच्चा दूध चढ़ाने से घर परिवार में से दुर्भाग्य दूर भागता हैं।
  3. वहीं आपकी जानकारी के लिए बता दें तुलसी के पौधे को कभी भी हमें घर के किचन या फिर बाथरूम के आस पास नहीं लगाना चाहिए। बल्कि इसके अलावा आप पूजा कक्ष के साथ वाली खिड़की के पास में इसका पौधा रख सकते है।
  4. रोजाना तुलसी के पौधे की परिक्रमा करनी चाहिए साथ ही ज्ञात रहें जल चढ़ाते समय आपको पहले सूर्य को जल चढ़ाना हैं और फिर तुलसी जी के पौधे पर जढ़ाना होता है।
  5. ज्ञात रहें तुलसी के पौधें का जल अभिषेक करते समय आपको इस मंत्र का जाप करना चाहिए- ‘महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी अधिक व्याधि हर नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते!!’
  6. यदि आप चाहें तो तुलसी जी के पत्तों को श्री कृष्ण जी के पास रख के कुछ दिनों बाद प्रसाद के रूप में ग्रहण कर सकते है।
  7. वास्तु के अनुसार आपको तुलसी जी के पौधे पर तीन तरह की चुन्नी चढ़ानी चाहिए- सफेद, चमकिली और नीली।
  8. सबसे विषेश बात हमें कभी भूले से भी गंदे या अशुद्ध हाथों से कभी तुलसी के पौधे को नहीं छुना चाहिए, इससे लक्ष्मी मां नराज हो सकती है औऱ आपको आर्थिक हानी होने की भी हो सकती है।

ये भी पढ़े अगर पाना चाहते है संकटों से मुक्ति और बजरंगबली का आशीर्वोद तो इस मंगलवार को कर लें ये खास उपाय ?

Advertisement

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article