32.1 C
Delhi
रविवार, जुलाई 14, 2024
Recommended By- BEdigitech

यदि आपके घर में भी उगने लगा है पीपल तो हो जाएं सावधान, नाराज है आपके मृत पूर्वज, करें ये उपाय!

हमारे हिंदू धर्म में वास्तु शास्त्र को एक विशेष दर्जा दिया जाता है। यहां तक की वास्तु के बताए गए नियमों के अनुसार घर का निर्माण और घर की हर एक वस्तु उसके अनुसार ही रखी होती है तो सुख, शांति-समृद्धि बनी रहती है। परंतु यदि घर का निर्माण या कोई भी वस्तु वास्तु के मुताबिक नहीं होती तो आपको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का संचालन बना रहता है।

अक्सर आपने बहुत से घरों में ऐसी घटनाएं होती हुई देखी होगी जहां एक के बाद एक लोगों की मृत्यु होती रहती है या फिर परिवार के लोग हमेशा ही परेशानीयों से घिरे रहते हैं। वास्तु शास्त्र के मुताबिक यदि आपके घर में इस तरहसकी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसे में समझ लीजिए की आपके मृत पूर्वज आपसे किसी ना किसी वजह से नाराज है। इस प्रकार की हेने वाली घटनाओं को आम समझने के गलती ना करें ये एक तरह से हमें पूर्वजो से मिलने वाले संकेत भी हो सकते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएगें की किन किन वजहों से आपको इन घटनाओं का सामना करना पड़ता है।

Table of Contents

घर के अंदर या छत पर पीपल का उगना

घर में पेड़ पौधे लगाना अच्छी बात है इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचालन होता है। परंतु जिन घरों में पीपल खुद बा खुद उगाना शुरु हो जाता हैं वहां नकारात्मक ऊर्जा आने लगती है और ये शुभ संकेत नहीं होते हैं। यदि किसी घर में बार-बार पीपल का पेड़ उग रहा है तो यह पितृदोष की निशानी हो सकती है। माना जाता है कि आपके मृतक पूर्वज आप से नाराज है और यह उनकी ही कोप दर्शा होती है।

Advertisement

बहुत ज्यादा सोचने की समस्या

यदि आप भी एक चीज को लेकर हमेशा ही सोच में डूबे रहते है तो इसे आप हल्के में ना लें। अक्सर बहुत से लोग सोच में खोए रहते है और महसूस करते है कि वह किसी चीज में फस गए है। इस तरह की समस्या से जितना जल्दी हो सकें आपको बहार आ जाना चाहिए अन्यथा आप ज्यादा सोचने केी वजह से पागल भी हो सकते हैं।

चंद्र दोष के कारण और उपाय

वास्तु के मुताबिक आपके चंद्रमा बिगड़ने के पीछे बहुत से कारण हो सकते है़। इसमें ज्यादा हमारी अनियमित जीवन शैली ही कारण बनती है। गलत रूटीन के चलते अक्सर हमारे साथ इस तरह की समस्याएं खड़ी होती है। वास्तु के अनुसार कुड़ली में चंद्र दोष होने पर आपको अपने दाएं हाथ में चांदी का कड़ा पहनना चाहिए और जितना हो सकें सफेद रंग को अपने शरीर पर वस्त्र के रूपलमें रखें। इसके अलावा हर सोमवार को भगवान शिव जी के शिवलिंग पर जल चढ़ाएं और अपने दिनचार्य को ठीक करने की कोशिश करें।

गरीब लोगों को जितना हो सकें दान करें

जिन घरों में अक्सर घटनाएं होती है या मृत पूर्वज नाराज होते है वहां के लोगों को जितना हो सकें गरीबों को दान करना चाहिए। इसके अलावा घर में उगने वाले पीपल को जड़ से उखाड़कर सोमवार के दिन किसी नदी में बहा दें। साथ ही अमावस्या के दिन गरीब लोगों को खाना खिलाए और उन्हें कुछ ना कुछ दान में अवश्य दें। ऐसा करने से मृत पूर्वजों की नाराजगी कम होना शुरू हो जाती है।

ये भी पढ़े – अगर आप भी जन्माष्टमी की तिथि को लेकर है कन्फ्यूज, तो यहां जाने व्रत और पूजा की सही तिथि और मुहुर्त ?

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles